--Advertisement--

पौल्ट्री फार्म के मुंशी की हत्या कर २२ लाख लूटे, कार सवारों ने दिया वारदात को अंजाम

पौल्ट्री फार्म के मुंशी की हत्या कर २२ लाख लूटे, कार सवारों ने दिया वारदात को अंजाम

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 12:13 PM IST
जींद के अस्पताल में डेड बॉडी क जींद के अस्पताल में डेड बॉडी क

जींद। जींद में मंगलवार सुबह एक पौल्ट्री फार्म के मुंशी की हत्या कर बदमाशों ने 22 लाख रुपए लूट लिए। वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया, जब वह मालिक के घर से पैसा लेकर ऑफिस जा रहा था। ऑफिस के ठीक सामने पहुंचा ही था कि कार में सवार होकर आए बदमाशों ने उस पर फायरिंग कर दी। एक गोली कंधे पर तो दूसरी सिर पर लगने की वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। यह पूरी घटना पास की एक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है, जिसके बाद पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है। सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि वारदात को अंजाम देने में बदमाशों को सिर्फ 17 सेकंड का समय लगा। रात को मालिक के घर रख दी थी सारी रकम...

- मिली जानकारी के मुताबिक जींद के भिवानी रोड स्थित बूढ़ा बाबा बस्ती का रहने वाला 37 वर्षीय चंद्रपाल शहर में एक पौल्ट्री फार्म पर मुंशी के तौर पर काम करता था।

- सोमवार देर रात वह दिल्ली से पेमेंट लेकर आया और इसके बाद उसने सारी रकम मालिक कुलदीप के घर पर रख दी। सुबह यह पेमेंट फील्ड में की जानी थी।

काश! चंद सेकंड्स में ऑफिस में एंटर कर जाता चंद्रपाल

- चंद्रपाल मालिक कुलदीप के घर से पैसा उठाकर मोटरसाइकिल पर अपने ऑफिस जा रहा था। करीब 10 बजे जैसे ही वह नरवाना रोड स्थित विश्वकर्मा धर्मशाला के पास पहुंचा ऑफिस के ठीक सामने एक स्विफ्ट कार आकर रुकी।
- कार में हालांकि यह पता नहीं चल पाया कितने आदमी सवार थे, लेकिन उनमें से दो ने उतरते ही चंद्रपाल पर गोलियां चला दी। एक गोली कंधे पर लगते ही चंद्रपाल मोटरसाइकिल से नीचे गिर गया, वहीं बदमाशों की दूसरी गोली उसके सिर में लगी।
- इसके कार सवार बदमाश उस कट्टे (प्लास्टिक बैग) को लेकर चंपत हो गए, जिसमें चंद्रपाल 22 लाख रुपए लेकर कुछ ही सेकंड बाद ऑफिस में एंटर करने वाला था।

सीसीटीवी फुटेज में आप दे सकते हैं कि...
10:16:32 पर रोड की दूसरी साइड एक स्विफ्ट डिजायर कार खड़ी दिखाई दे रही है, जिसमें बदमाश पहले से ही रेकी करके चंद्रपाल के आने का इंतजार कर रहे थे।

10:18:20 पर चंद्रपाल बुलेट पर सवार होकर आता है, जो एक कट्टे को पकड़े हुए था।

10:18:33 पर ठीक 13 सेकंड बाद रोड के उस पार खड़ी कार उसके पास आकर रुकती है और खिड़की खुलते ही चंद्रपाल पर गोली चला दी जाती है।

10:18:49 पर स्विफ्ट कार की खड़की बंद हो जाती है। इससे पहले सिर्फ और सिर्फ 17 सेकंड्स में एक गोली लगने से गिर चुके चंद्रपाल पर गाड़ी से उतरकर बदमाश दूसरी गोली चलाते हैं और फिर छीना-झपटी होती है। कुल मिलाकर इन्हीं 17 सेकंड्स के भीतर चंद्रपाल को मौत के घाट उतारने और 22 लाख रुपए से भरा कट्टा गाड़ी में रख खिड़की बंद कर लेते हैं।

10:18:50 पर वारदात को अंजाम देने के आरोपी मौके से फरार हो जाते हैं और वहां लोग इकट्ठा होना शुरू हो जाते हैं।

नाकाबंदी कर आरोपियों की तलाश जारी

- सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। चंद्रपाल की डेड बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल स्थित मोर्चरी में भिजवा दिया है, वहीं शहर की नाकाबंदी करके आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। साथ ही पुलिस घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगालने में लगी है, ताकि लुटेरों की पहचान हो सके।

फोटोज: विजेंद्र मराठा