पानीपत

--Advertisement--

ट्रायल कोर्ट में पहुंचा प्रद्युम्न मर्डर केस, जमानत याचिका पर ६ जनवरी को होगी सुनवाई

ट्रायल कोर्ट में पहुंचा प्रद्युम्न मर्डर केस, जमानत याचिका पर ६ जनवरी को होगी सुनवाई

Danik Bhaskar

Dec 22, 2017, 01:32 PM IST
रेयान इंटरनेशनल स्कूल। (फाइल) रेयान इंटरनेशनल स्कूल। (फाइल)

गुड़गांव। रेयान इंटरनेशनल स्कूल तीन महीने बाद फिर मैनेजमेंट के अंडर आ गया है। गुरुवार रात को जिला प्रशासन ने इसकी बागडोर मैनेजमेंट को सौंप दी। बता दें कि 15 सितंबर को प्रद्युम्न के परिवार से मिले पहुंचे हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने तीन महीने के लिए स्कूल को जिला प्रशासन के अंडर कर दिया था। इसके बाद से स्कूल को जिला उपायुक्त की देखरेख में चलाया जा रहा था। अब तीन महीने से ज्यादा दिन बीत जाने के बाद स्कूल की कमान मैनेजमेंट को सौंपी गई है। चाइल्ड ट्रायल कोर्ट में पहुंचा प्रद्युम्न मर्डर केस...

- वहीं शुक्रवार को प्रद्युम्न मर्डर केस गुड़गांव चाइल्ड ट्रायल कोर्ट में पहुंच गया। यहां केस की सुनवाई हुई और अगली तारीख 6 जनवरी निर्धारित की गई।
- 11 साल के आरोपी स्टूडेंट के वकील की तरफ से बेल अप्लीकेशन भी दी गई है। वहीं प्रद्युम्न के पिता की तरफ से पैरवी कर रहे वकील का कहना है कि सीबीआई का वकील बेल अप्लीकेशन का विरोध करेंगे।
- क्योंकि अभी तक सीबीआई ने चार्जशीट दायर नहीं की है।
- बता दें कि बीती 20 दिसंबर को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने सुनवाई करते हुए आरोपी 11वीं के स्टूडेंट को एडल्ट मानकर ट्रायल कोर्ट में केस चलाने की अनुमति दी थी। कोर्ट में ट्रायल के दौरान अगर 16 साल का आरोपी दोषी साबित हुआ तो उसे बालिग के तौर पर ही सजा मिलेगी।

ऑगस्टाइन पिंटो को विदेश जाने की नहीं मिली अनुमति
- वहीं रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिक ऑगस्टाइन पिंटो ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में 25 दिसंबर से 5 जनवरी तक दुबई जाने की अनुमति देने के लिए अर्जी लगाई थी।
- हाईकोर्ट ने उन्हें यह अनुमति देन से मना कर दिया है।

रेयान स्कूल में कब हुई थी प्रद्युम्न हत्या?
- बता दें कि 8 सितंबर को रेयान स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या हुई थी। हरियाणा पुलिस ने उसी दिन स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया था।
- बाद में मामला सीबीआई को सौंपा गया, जिसके बाद इस सनसनीखेज हत्याकांड में बड़ा मोड़ आया। सीबीआई ने जांच के बाद स्कूल के ही 11वीं के एक स्टूडेंट को गिरफ्तार किया।
- सीबीआई का दावा है कि आरोपी छात्र ने पीटीएम और परीक्षा को टालने के लिए इस मर्डर को अंजाम दिया था। सीबीआई जांच से हरियाणा पुलिस की भूमिका पर गंभीर सवाल खड़े हुए। आरोपी कंडक्टर को भी जमानत मिल चुकी है।

Click to listen..