--Advertisement--

१ लाख की रिश्वत लेते गांव का नंबरदार अरेस्ट, गवाही की एवज में मांग रहा था पैसे

१ लाख की रिश्वत लेते गांव का नंबरदार अरेस्ट, गवाही की एवज में मांग रहा था पैसे

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 06:35 PM IST
विजिलेंस टीम की गिरफ्त में आरो विजिलेंस टीम की गिरफ्त में आरो

जींद (सफीदों)। सफीदों में करनाल विजिलेंस की टीम ने एक नंबरदार को 1 लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। आरोपी नंबरदार राजेंद्र वसीयत के एक केस में गवाही देने की एवज में 1 लाख रुपये मांग रहा था। करनाल विजिलेंस ने कार्रवाई करते हुए उसे पकड़ लिया और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी को कल कोर्ट में पेश किया जाएगा। पढ़िए पूरा मामला..

- विजिलेंस इंस्पेक्टर धर्मबीर सिंह ने बताया कि सफीदों के वार्ड नंबर 3 के तीर्थ सिंह की बेटी राखी ने स्टेट विजिलेंस ब्यूरो को शिकायत दी थी कि वसीयत को लेकर उनका मामला सफीदों की सिविल कोर्ट में विचाराधीन है।
- इसकी तारीख 30 जनवरी को निर्धारित है। वसीयत की गवाही के एवज में उनके इलाके का नंबरदार राजेंद्र एक लाख रुपए रिश्वत मांग कर रहा है।
- रिश्वत राशि नहीं देने पर गवाही देने से भी मना कर रहा है। राखी की शिकायत पर स्टेट विजिलेंस ब्यूरो ने टीम गठित की।
- इस टीम की कमान इंस्पेक्टर धर्मबीर सिंह को सौंपी गई। डयूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर जींद के तहसीलदार प्रवीन कुमार को नियुक्त किया गया।
- टीम में सब-इंस्पेक्टर कृष्ण, एएसआई अनिल कुमार, एचसी सुनील कुमार को शामिल किया गया।
- शिकायतकर्ता को 2-2 हजार रुपए के 50 नोट डयूटी मजिस्ट्रेट के हस्ताक्षर करवाकर सौंप दिए गए। राखी ने नंबरदार राजेंद्र से संपर्क साधा तो उसने सफीदों के सिंडीकेट बैंक के सामने बुला लिया।
- जब राखी से एक लाख रुपए रिश्वत लेकर नंबरदार राजेंद्र बैंक में जमा करवाने जा रहा था तो इशारा मिलते ही टीम ने राजेंद्र को पकड़ लिया। उसकी तलाशी ली गई तो उसके बाद से रिश्वत के नोट मिले।