Hindi News »Haryana »Panipat» WWE Wrestler Kavita Dalal To Be Honoured As First Lady Award On 20 January

WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी

कविता दलाल ने जब वेट लिफ्टिंग की शुरुआत की तो उनके परिवार ने आर्थिक और सामाजिक रूप से बहुत स्ट्रगल किया।

Surendra Bharadwaj | Last Modified - Jan 08, 2018, 07:22 PM IST

  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    डब्ल्यूडब्ल्यूई में जाने से पहले कविता दलाल (बाएं) और अब रेसलर बनने के बाद की तस्वीर (दाएं)।

    जींद। बीते दिनों अमेरिका के फ्लोरिडा में डब्ल्यूडब्ल्यूई चैंपियनशिप का हिस्सा रही जींद जिले के गांव मालवी की रेसलर कविता दलाल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 जनवरी को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से सम्मानित करेंगे। प्रोग्राम महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली के अशोका होटल में आयोजित किया जाएगा। कविता दलाल के भाई संजय दलाल ने बताया कि रविवार को उनकी बहन को इस प्रोग्राम का निमंत्रण मिला है। इससे पूरे परिवार में खुशी का माहौल है।

    DainikBhaskar.com बता रहा है उस एक छोटी-सी बात के बारे में, जिसकी वजह कविता को डब्ल्यूडब्ल्यूई रेसलर बना दिया।कविता दलाल ने जब वेट लिफ्टिंग की शुरुआत की तो उनके परिवार ने आर्थिक और सामाजिक रूप से बहुत स्ट्रगल किया।

    शादी के बाद ऐसे पहुंची रिंग तक...

    - कविता दलाल शादी से पहले खेलों से जुड़ी रही, लेकिन 2009 में कविता की यूपी के बड़ौत में रहने वाले गौरव से शादी हो गई।
    - पति व फैमिली मेंबर की सोच पुरुष प्रधान होने के कारण कविता खेलों से दूर हो गई। कविता का कहना है कि उसके पति भी नहीं चाहते थे कि वह खेले।
    - इससे वह कुछ दिन डिप्रेशन में भी रही। इसके बाद उसने खुद इस डिप्रेशन से निकलने की सोची और धीरे-धीरे अपने पति व परिवार के सदस्यों को मनाया। तब वह रेसलिंग में आ सकी।

    एसएसबी में कॉन्स्टेबल की नौकरी छोड़ चुकी है कविता
    - जींद के मालवी गांव की रहने वाली कविता जुलाना के सीनियर सेकंडरी स्कूल से 12 तक पढ़ी हैं। इसके बाद 2004 उन्होंने लखनऊ में अपनी रेसलिंग की ट्रेनिंग शुरू की। ट्रेनिंग के दौरान उन्होंने पढ़ाई भी जारी रखी और साल 2005 में बीए की पढ़ाई पूरी कर ली।
    - पढ़ाई और ट्रेनिंग के बाद 2008 में कविता ने बतौर कॉन्स्टेबल एसएसबी में नौकरी ज्वाइन की। नौकरी लगने के बाद साल 2009 में उसकी शादी हो गई। गौरव भी एसएसबी में कॉन्स्टेबल हैं और वॉलीबॉल के खिलाड़ी हैं।

    पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी है कविता
    - कविता की 60 साल की मां ज्ञानमती देवी कहती हैं कि उसकी बेटी बचपन से ही तगड़ी थी। जब वह महज पांच साल की थी तब वह हर रोज एक बार में आधा किलो दूध पी जाती थी। उसे हलवा, चूरमा, पूड़े खाने का बड़ा शौक था।
    - पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी कविता सबसे ताकतवर है। अब भी वह खाने में देसी घी, दूध और दही ही ज्यादा खाती है।

    राजनीति का भी शिकार हुई कविता
    - कविता बताती हैं कि उन्होंने वेट लिफ्टिंग में अच्छी तैयारी की, उनकी परफॉर्मेंस भी बहुत अच्छी थी, लेकिन उनके साथ राजनीति हुई।
    - आरोप है कि पटियाला स्पोर्ट्स सेंटर में तैयारी के दौरान वह जापान में आयोजित एक प्रतियोगिता में शामिल होने जा रही थी। उसी दौरान उन्हें एक दवाई खिला दी गई और बाद में डोप टेस्ट में फंसाकर चार साल के लिए बैन लगवा दिया गया।

    बैन लगा तो दोगुनी ताकत से लौटी कविता
    - कविता का कहना है कि बैन लगने के बाद वह दोगुनी ताकत से खेल में लौटी। कड़ी मेहनत की और फिर कई प्रतियोगिताओं में मेडल जीते, लेकिन इन मेडल का कोई फायदा नहीं हुआ।
    - उन्हें नौकरी के लिए बहुत दर-दर घूमना पड़ा। एक दफा सीएम से मिलने पहुंची। उनकी बात सुनी गई, लेकिन नौकरी में उम्र आड़े आ गई। उनके मेडल देखकर भी उम्र को दरकिनार नहीं किया गया। अंत में वह बहुत परेशान हो गई।

    खली की नजर पड़ी तो पहुंचा दिया डब्ल्यूडब्ल्यूई

    - इसके बाद ग्रेट खली ने उन्हें रेसलिंग के लिए न्योता दिया। कविता ने एक साल तक जालंधर में रहकर ट्रेनिंग ली।
    - जालंधर स्थित खली की एकेडमी में नेशनल रेसलर बुलबुल को ठेठ ग्रामीण सूट पहनकर चित कर दिया और रातोंरात फेमस हो गई।
    - इसके बाद उसने डब्ल्यूडब्ल्यूई में ट्रायल दिया। ट्रायल में सिलेक्ट होने के बाद उसका कॉन्ट्रैक्ट हुआ। यह कॉन्ट्रैक्ट करोड़ों में है। यह खुद कविता मानती हैं। हालांकि, उन्होंने पूरी राशि बताने से मना कर दिया।
    - कविता ने कहा कि वेट लिफ्टिंग में पैसा न मिलने और सरकार द्वारा प्रोत्साहन न करने के बाद ही डब्ल्यूडब्ल्यूई में जाने का निर्णय लिया।
    - इस तरह कविता दलाल की लाइफ बदली और वेट लिफ्टिंग से रेसलिंग तक पहुंच गई। कविता रोजाना 8 घंटे मेहनत करती है।

    इसलिए लड़ती हैं सूट पहनकर

    - सूट पहनकर फाइट करने के पीछे कविता अपना मकसद बताती हैं, वह समाज में लड़कियों को यह संदेश देना चाहती हैं कि लड़कियां जरूरी नहीं ऐसे रेसलिंग काॅस्टयूम डालकर ही फाइट कर सकती हैं। गांव-देहात की लड़कियां भी सूट पहनकर फाइट कर सकती हैं।

  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    पहले वेट लिफ्टिंग में चमकी थी कविता, लेकिन राजनीति का शिकार होना पड़ा और फिर से दोगुनी ताकत के साथ रेसलिंग में एंट्री की।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    खली की एकेडमी में नेशनल रेसलर बुलबुल को दी थी पटखनी।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    सलवार-सूट में फाइट करती हैं, ताकि संदेश जाए कि छोटे कपड़े पहनना जरूरी नहीं। शरीर में दम हो तो ऐसे भी लड़ा जा सकता है।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    फ्लाइट में पति गौरव के साथ सेल्फी लेते हुए कविता।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    अपनी बहन की फोटो दिखाते हुए कविता का भाई। अब 20 जनवरी को मल रहे अवॉर्ड के निमंत्रण संबंधी जानकारी भी भाई ने साझा की है।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    कविता दलाल के पिता-मां, भाई और भाभी।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    पशुओं को चारा डालती कविता दलाल की मां ज्ञानती देवी।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    अपने पति गौरव और बेटे के साथ कविता दलाल।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    कविता जालंधर में पीजी में रहकर कर रही है रेसलिंग की तैयारी। बेटा पति के पास रहता है।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली के साथ कविता दलाल। कविता ने उन्हीं की एकेडमी में ट्रेनिंग ली है।
  • WWE रेसलर को फर्स्ट लेडीज अवॉर्ड से नवाजेंगे राष्ट्रपति, ये है इनकी कहानी
    +11और स्लाइड देखें
    बेटी की उपलब्धियों का बखान करते हुए गर्व से तन जाता है हर किसी का सीना।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: WWE Wrestler Kavita Dalal To Be Honoured As First Lady Award On 20 January
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×