Hindi News »Haryana »Panipat» WWE Wrestler Satendra Dagar Can Cook Everything

रिंग ही नहीं किचन में भी हाथ आजमा लेते हैं ये ङ्खङ्खश्व रेसलर, पत्नी से ली थी ट्रेनिंग

रिंग ही नहीं किचन में भी हाथ आजमा लेते हैं ये ङ्खङ्खश्व रेसलर, पत्नी से ली थी ट्रेनिंग

Balraj Singh | Last Modified - Dec 14, 2017, 12:42 PM IST

पानीपत। आपने पहलवानों को अक्सर रिंग में जोर-अाजमाइश करते देखा होगा। ऐसा भी हो सकता है कि कभी-कभार कोई पहलवान बादाम घोटते भी नजर आ जाए, लेकिन अगर डब्ल्यूडब्ल्यूई का जेंट रेसलर किचन में रोटियां पकाते शायद कभी नहीं देखा होगा। खैर कोई बात नहीं। हम आपको बताते हैं डब्ल्यूडब्ल्यूई रेसलर सतेंदर डागर की पाक-कला के बारे में। वह न सिर्फ अच्छी सब्जी-रोटी, बल्कि मीठा-नमकीन लगभग हर चीज बना लेते हैं। देसी घी का चीला है सबसे ज्यादा पसंद...

- बताते चलें कि डब्ल्यूडब्ल्यूई तक का सफर तय कर चुके सतेंदर डागर एकदम शाकहारी हैं। उन्होंने नॉनवेज को आज तक छुआ भी नहीं है।

- रेसलर सतेंदर डागर की हाइट 6 फीट 4 इंच है। सतेंदर का बाइसेप्स 19 इंच का है और उसकी छाती 47 इंच की है। वह घंटों तक अभ्यास करते हैं। जिम के अंदर मैं सभी प्रकार की एक्सरसाइज भी करते हैं।
- इसके लिए उन्हें काफी एनर्जी की जरूरत पड़ती है और ज्यादा एनर्जी के लिए स्वाभाविक सी बात है कि डाइट भी अच्छी-खासी होनी चाहिए।
- सतेंदर शुद्ध शाकाहारी हैं। हर रोज 5 लीटर दूध पीते हैं। इसके साथ-साथ 20 रोटियां खा जाते हैं। शाकाहारी होने की वजह से विदेश में काफी परेशानी हुई। बाद में अपनी पत्नी से खाना बनाना सीखा। अब शायद ही कोई चीज होगी, जो सतेंदर नहीं बनाकर खा सकते।

- हालांकि इस बारे में उन्होंने dainikbhaskar.com को बताया कि जब वह किचन में घुसते हैं तो देसी घी का चीला ही उनकी पहली पसंद होती है। बाकी सब्जी-रोटी समेत हर तरह का मीठा-नमकीन लजीज खाना बना लेते हैं।

ऐसे रहा सतेंदर का डब्ल्यूडब्ल्यूई तक का सफर

- दरअसल सोनीपत के गांव बाघडू खुर्द से अमेरिका तक पहुंचे सतेंदर ने 7 साल की उम्र में पहलवानी शुरू की थी। उन्होंने खुद का अखाड़ा बनाया और वहां प्रैक्टिस शुरू की। आज उनके इस अखाड़े में पूरे गांव के युवा पहलवानी सीखते हैं। उन्होंने इसे गांव को समर्पित कर रखा है।
- पहलवानी करते-करते सतेंदर चंडीगढ़ पहुंचे और वहां प्रैक्टिस शुरू की। चंडीगढ़ में वर्ष 2016 में डब्लूडब्लूई की टीम ट्रायल लेने आई हुई थी। सतेंदर के दोस्त ने उन्हें बताया तो वे भी वहां पहुंच गए।

- सतेंदर बताते हैं कि ट्रायल के दौरान स्पीड, पावर, स्ट्रैंथ और स्टेमिना की वजह से उनका सिलेक्शन हुआ। इसके बाद उन्हें अगले ट्रायल के लिए दुबई बुलाया गया। यहां पूरे वर्ल्ड से काफी रेसलर आए हुए थे।
- वहां फिर से ट्रायल होने के 10 दिन के बाद सलेक्शन की मेल आई। इसके बाद सतेंदर ने अमेरिका में रहकर ट्रेनिंग ली। इसी दौरान शाकाहारी होने की वजह से उन्हें खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: khaanaa banane ka shaukin hai ye WWE reslr, patni se isliye sikhaa khaanaa bananaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×