--Advertisement--

धान से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली नहर में गिरी तो जान पर खेल इस शख्स ने निकाला ड्राइवर को

धान से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली नहर में गिरी तो जान पर खेल इस शख्स ने निकाला ड्राइवर को

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 04:08 PM IST
पानीपत में गोहाना रोड पर रहने पानीपत में गोहाना रोड पर रहने

पानीपत। पानीपत में एक शख्स ऐसा भी है, जो जरा सा दूसरे की जिंदगी खतरे में देखते ही तुरंत नहर में छलांग लगा देता है। शुक्रवार को फिर इसी व्यक्ति ने उस वक्त बिना अपनी जान की परवाह किए पश्चिमी यमुना नहर में छलांग लगा दी, जब यहां एक ट्रैक्टर ड्राइवर धान से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली समेत नहर में गिर गया। इसने तुरंत अपने साथियों को आवाज लगाई और उनके आने से पहले नहर में कूदकर पीड़ित को निकालने की कोशिश शुरू कर दी। नहर के पास ही शिव मंदिर में सेवा करते हैं 65 वर्षीय अमीर सिंह...

- बतात दें कि पानीपत में गोहाना रोड पर पश्चिमी यमुना नहर समेत दो बड़ी नहरें दिल्ली को पानी की सप्लाई देने के लिए दिनरा-बहती रहती हैं। यहीं नहर के किनारे शिव मंदिर भी है।

- पास ही रहने वाले 65 वर्षीय अमीर सिंह इसी मंदिर में सेवा करते हैं। जब भी किसी के नहर में गिरने की वजह से जान खतरे में आती है, अमीर सिंह तुरंत कूद जाते हैं और गिरे हुए व्यक्तियों को निकालकर ले आते हैं।

- शुक्रवार को फिर से एक जान खतरे में आई तो अमीर सिंह ने नहर में कूदकर उसे निकाला। इस दौरान जब अमीर सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अब तक वह 5-6 बच्चों, कई जनानियों तो इतने ही मर्दों को नहर से निकाल चुके हैं।

ऐसे हुआ हादसा और ऐसे बचाई जान

- दरअसल सुबह पास के गांव नौल्था का नरेश धान बेचने के लिए पानीपत की अनाज मंंडी की तरफ आ रहा था।

- करीब साढ़े 7 बजे जब वह नहर के पुल पर पहुंचा तो अचानक साइड नहीं दिख पाने की वजह से ट्रॉली का बैलेंस बिगड़ा और वह ट्रैकटर समेत नहर में गिर गया।

मौके पर मौजूद लोगों की मानें तो यहां करीब 6 महीने पहले एक ट्रक पुल की रेलिंग को तोड़ते हुए नहर में गिर गया था। इसके बाद रेलिंग की तरफ प्रशासन की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया गया, इसी का नतीजा आज का हादसा रहा।

- साथ ही जानकारी मिली कि जब ट्रैक्टर-ट्रॉली नहर में गिरी तो उस वक्त मंदिर में सेवा करने वाले अमीर सिंह मंदिर से लौट रहे थे। जैसे ही अमीर सिंह की नजर पड़ी, उन्होंने अपने साथ वाले लोगों को आवाज लगाई और उनके आने से पहले ही नहर में छलांग लगा दी।

- इसी बीच घटनास्थल पर और भी लोग जमा हो गए थे, जिन्होंने अमीर सिंह की मदद की और आखिर नरेश को निकाल लिया गया।

जान बची, पर नहीं टाला जा सका यह नुकसान

- प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जैसे-तैसे ट्रैक्टर के ड्राइवर नरेश को तो निकाल लिया गया, लेकिन उसकी सालभर की मेहनत के बाद तैयार हुई धान की फसल पानी के तेज बहाव में बह गई।

- हालांकि नरेश को भी काफी चोटें आई हैं, जिसके चलते उसे शहर के एक नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दूसरी अोर मामले की सूचना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल में जुट गई थी।

फोटोज: नवीन कुमार मिश्रा

X
पानीपत में गोहाना रोड पर रहने पानीपत में गोहाना रोड पर रहने
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..