Hindi News »Haryana »Panipat» Body Builder Parveen Nandal Win Silver In Mr Olympia Body Building Championship

डेंगू को हरा बॉडी बिल्डिंग करने गया था इटली, भारत का नाम किया रोशन

डेंगू को हरा बॉडी बिल्डिंग करने गया था इटली, भारत का नाम किया रोशन

Manoj Kaushik | Last Modified - Nov 21, 2017, 01:15 PM IST

पानीपत। हरियाणा के पानीपत के बॉडी बिल्डर प्रवीन नांदल ने इटली में 18 से 19 नवंबर को हुई मिस्टर ओलंपिया बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीत लिया है। 85 किलोग्राम भार वर्ग में उन्होंने यह मेडल जीता है। इस प्रतियोगिता में 27 देशों के 250 बॉडी बिल्डर ने हिस्सा लिया था। भारत से प्रवीन नांदल ने प्रतिनिधित्व किया। अक्टूबर में डेंगू हो जाने के बाद भी चैंपियनशिप में जीता मेडल...

 

 

 

- नवंबर महीने में चैंपियनशिप में जाने से पहले प्रवीन को अक्टूबर के अंत में डेंगू हो गया था। इस वजह से उसकी प्रैक्टिस छूट गई थी। 
- डेंगू को हराकर प्रवीन नांदल ने अब इटली में हुई इस प्रतियोगिता में मेडल जीता है। 
 

 

हरियाणा के पहले बॉडी बिल्डर जिसने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया
- वे हरियाणा से एकमात्र खिलाड़ी हैं जिन्होंने इस स्पर्धा में भाग लिया। 
- बता दें कि प्रवीन 17 साल की उम्र से इस तरह के कॉम्पीटीशन में हिस्सा लेने लगा था।
 

 

40 हजार महीने खुराक पर खर्च कर देते हैं प्रवीन नांदल
- प्रवीण नांदल ने बताया कि वह हर रोज पांच घंटे अभ्यास करता है। 
- हररोज 30 अंडे खाते हैं। इसके अलावा 600 ग्राम चिकन, एक किलो सेब, 300 ग्राम मछली, एक कटोरा दलिया, एक कटोरी दाल, 100 ग्राम पनीर, 2 लीटर दूध और दो चपाती का सेवन करते हैं।
- उसकी खुराक पर महीने में 40 हजार रुपये खर्च हो जाते हैं। यह कमाई वह जिम चलाकर करता है। प्रवीण ने कहा कि प्रतियोगिता के लिए उसकी तैयारी पूरी है।
 

 

20 इंच के बाइसेप्स और 30 इंच की कमर
- प्रवीण के बाइसेप्स 20 इंच के हैं। उनकी कमर मात्र 30 इंच है और चेस्ट 51 इंच की है।
- अपना खर्च चलाने के लिए वे खुद का हेल्थ क्लब चलाते हैं।
 

 

नौकरी की दरकार
- प्रवीण कुमार से 30 से ज्यादा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीत रखे हैं, लेकिन सरकार ने अभी उसकी सुध नहीं ली है। सरकार ने अभी तक उसे न तो नौकरी दी है और म ही आर्थिक सहयोग किया है।
 

 

ये प्रतियोगिता जीत चुके हैं प्रवीन
- प्रवीन ने 2004 में 17 साल की उम्र में बॉडी बिल्डिंग की शुरूआत की थी। 
- वर्ष 2006 में 80 किलो भार वर्ग में इंटर कॉलेज चैंपियनशिप में गोल्ड लिया। 
- 2006-07 में 85 किलो भार वर्ग में स्टेट चैंपियनशिप में गोल्ड।
- 2006-07 में 85 किलो भार वर्ग में अॉल इंडिया यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में दूसरा स्थान हासिल किया। 
- 2008 में इंटर कॉलेज चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता। 
- 2009 में नार्थ इंडिया में गोल्ड जीता। 
- 2012 में 85 से 90 किलो भार वर्ग में ओपन रसिया कप में गोल्ड जीता। 
- 2013 में यूक्रेन में यूरोप चैंपियनशिप में गोल्ड जीता। 
- 2014 में मुंबई में वर्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप में 5वां स्थान हासिल किया। 
- 2015 में हांगकांग में मिस्टर ओलंपिया चैंपियनशिप में 7वां रैंक।
- 2016 में एटलस वर्ल्ड चैंपियनशिप जीते थे।
 

 

आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो.....

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Haryana News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: dengau ko haraa bodi bildinga karne gaya thaa itli, bharat ka naam kiyaa roshn
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×