--Advertisement--

कैबिनेट में उठ सकती है पद्मावती पर बैन की मांग, बीजेपी नेता अम्मू गर्दन भी कटवाने को तैयार

कैबिनेट में उठ सकती है पद्मावती पर बैन की मांग, बीजेपी नेता अम्मू गर्दन भी कटवाने को तैयार

Dainik Bhaskar

Nov 22, 2017, 11:43 AM IST
हरियाणा में फिल्म पद्मावती को हरियाणा में फिल्म पद्मावती को

पानीपत। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को लेकर गहराया विवाद कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। भाजपा के प्रदेश मीडिया चीफ को-ऑर्डिनेटर सूरज पाल अम्मू अभी भी भंसाली और दीपिका पादुकोण के सिर कलम करने पर 10 करोड़ के इनाम के बयान पर कायम हैं। वहीं बुधवार को हरियाणा कैबिनेट की बैठक में भी यह मुद्दा चर्चा का विषय रहा। प्रदेश में इस फिल्म के बैन को लेकर उठ रही मांग के बीच कैबिनेट का फैसला है कि जब तक सेंसर बोर्ड इस फिल्म पर अपना रुख साफ नहीं करता, तब तक हरियाणा सरकार भी कुछ नहीं कर सकती। सीएम बोले-किसी की भावना आहत नहीं होने दी जाएगी...

- मीटिंग के बाद मुख्यमंत्री ने फिल्‍म पद्मावती को लेकर जारी विवाद पर प्रदेश सरकार का रुख साफ किया।

- उन्‍होंने कहा कि फिल्‍म को सेंसर बोर्ड की मंजूरी के बाद ही हरियाणा सरकार राज्‍य में इस फिल्‍म के प्रदर्शन के बारे में कोई फैसला लेगी।

- उन्‍होंने कहा कि किसी की भावना आहत नहीं होने दी जाएगी। वहीं सीएम ने कहा कि अम्मू की टिप्पणी व्यक्तिगत है। बीजेपी सरकार इसे मान्यता नहीं देती।

और किस-किसने क्या कहा इस मसले पर

- बताते चलें कि संजय लीला संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म पद्मावती को लेकर हरियाणा का राजपूत समाज भी काफी रोषित है। रोज प्रदेश के विभिन्न जिलों में फिल्म पर रोक को लेकर धरना-प्रदर्शन हो रहे हैं।
- राजपूत समाज की मांग को लेकर चल रहे इस रोष को कई मंत्री-विधायक भी समर्थन कर रहे हैं, वहीं अब हरियाणा सरकार भी फ्रंटफुट पर आ गई है। सरकार के मंत्रियों की ओर से फिल्म के हरियाणा में प्रसारित नहीं होने की मांग उठनी शुरू हो गई है।
- हालांकि पद्मावती आज हुई कैबिनेट की मीटिंग का एजेंडा नहीं था, लेकिन यह मीटिंग में चर्चा के लिए रखे जाने वाले अहम मसलों में शामिल रहा।
- मीटिंग से पहले इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि फिल्म पद्मावती में इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है और ऐसी विवादित फिल्म को किसी भी तरह से दिखाया नहीं जाना चाहिए। वह मुख्यमंत्री और कैबिनेट के साथियों को फिल्म पर रोक लगाने को लेकर चर्चा करेंगे।
- इसके अलावा हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि वह इस मामले में केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र भेजकर फिल्म पर रोक लगाने की मांग कर चुके हैं। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि यदि फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ हुई है तो किसी भी तरह से फिल्म को रिलीज नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी जैसे किरदार का महिमामंडन किया गया है।

- करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी इसके खिलाफ आंदोलन छेडे हुए हैं, वहीं इंडियन नेशनल लोकदल के नेता अभय चौटाला इस फिल्म के ट्रेलर पर भी रोक लगाए जाने की मांग कर चुके हैं।

क्या कहा था सूरज पाल अम्मू ने

- उधर इसी मसले पर भारतीय जनता पार्टी के चीफ मीडिया को-ऑर्डिनेटर सूरज पाल अम्मू ने दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उस ऐलान का समर्थन किया था, जो बीते दिनों मेरठ में भंसाली और दीपिका की गर्दन काटने पर इनाम देने के संबंध किया गया था। इतना ही नहीं अम्मू ने मेरठ के युवा नेता सोम द्वारा घोषित 5 करोड़ की रकम को 10 करोड़ कर देने की बात कही थी।
- इस बयान को लेकर हरियाणा के नेता सूरज पाल अम्मू के खिलाफ महिला आयोग ने डीजीपी को कार्रवाई की मां के लिए चिट्ठी लिख।
- भारतीय जनता पार्टी ने कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया और साथ ही पवन कुमार नाम के व्यक्ति की शिकायत पर गुड़गांव के सेक्टर-29 थाने में धारा-506 के तहत भाजपा नेता सूरज पाल अम्मू के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

केस दर्ज होने के बावजूद तल्ख हैं अम्मू के तेवर
- बावजूद इसके सूरजपाल अम्मू के तेवर अभी भी तल्ख नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी की ओर से उन्हें कारण बताओ नोटिस मिल गया है और वह सही समय पर सही जवाब देंगे।
- अम्मू ने कहा कि उन्होंने सोम की घोषणा का समर्थन करते हुए 10 करोड़ देने की बात कही थी। उनके बयान में ऐसी कोई गलत बात नहीं है। पद्मावती फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ करते हुए राजपूत समाज को नीचा दिखाने का प्रयास किया गया है। कौम के सम्मान के लिए वह समाज के लिए सब कुछ न्यौछावर करने को तैयार हैं। जेल जाना हो गर्दन कटवानी पड़े, वह कभी भी पीछे नहीं हटेंगे।

आजम खान व जावेद अख्तर को लिया लपेटे में

- उन्‍होंने धमकी भरे अंदाज में चुनौती दी कि अपनी मां का दूध पिया है तो भंसाली हरियाणा आकर दिखाएं। साथ ही पूर्व मंत्री आजम खान और गीतकार जावेद अख्तर पर भी तल्ख टिप्पणियां की। उन्‍होंने कहा कि आजम खान का इलाज चंडीगढ़ पीजीआई कराएंगे।
- अम्मू ने कहा कि अगर संजय लीला भंसाली और आजम खान को अभिव्यक्ति की आजादी है तो राजपूत समाज के लोगों को भी आजादी है। राजपूत समाज के बारे में अनर्गल टिप्पणी करने वाले सपा नेता आजम खान के खिलाफ जल्द ही केस दर्ज करवाया जाएगा।

X
हरियाणा में फिल्म पद्मावती को हरियाणा में फिल्म पद्मावती को
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..