Hindi News »Haryana »Panipat» Jail Minister Denied Any VIP Treatment Given To Gurmeet Ram Rahim In Jail

जेल में राम रहीम के ङ्कढ्ढक्क ट्रीटमेंट पर मंत्री ने दी सफाई, बोले- नहीं आता बाहर से खाना

जेल में राम रहीम के ङ्कढ्ढक्क ट्रीटमेंट पर मंत्री ने दी सफाई, बोले- नहीं आता बाहर से खाना

Manoj Kaushik | Last Modified - Nov 14, 2017, 04:16 PM IST

पानीपत. हरियाणा के जेल मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि राम रहीम और हनीप्रीत को जेल में कोई वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं दिया जा रहा है। पंवार ने कहा, "उन लोगों को जेल मेनुअल के हिसाब से खाना दिया जाता है, जो खाना दूसरे कैदियों को मिलता है, वही उन्हें दिया जा रहा है।' बता दें कि रोहतक जेल से जमानत पर बाहर आए युवक राहुल जैन ने राम रहीम को वीआईपी ट्रीटमेंट दिए जाने की बात कही थी।

VIP ट्रीटमेंट पर हरियाणा के मंत्री ने क्या सफाई दी?

- मंत्री पंवार ने कहा, "20 मिनट से ज्यादा कोई वक्त मिलने के लिए नहीं दिया जा रहा है। राम रहीम को दूसरे कैदियों से अलग ट्रीट नहीं किया जा रहा है। ये सब निराधार बातें हैं।'

जेल से बाहर आए युवक ने क्या दावे किए?

बाहर का खाना:राहुल जैन ने दावा किया- "बाबा को जेल में स्पेशल ट्रीटमेंट मिल रहा है। बाबा को जेल की गाड़ी में बाहर से खाना आता है। खाना खिलाने से पहले जेल के अफसर पहले खुद खाते हैं, फिर गुरमीत राम रहीम को खिलाया जाता है। इसकी वीडियोग्राफी की जाती है।"
काम नहीं करता राम रहीम: "जिस दिन से बाबा जेल में गया है, वहां रह रहे कैदी परेशान हैं। राम रहीम कोई काम नहीं कर रहा है, जबकि जेल प्रशासन कह रहा है कि उसे मेहनताना दिया जा रहा है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। गुरमीत के जेल में आने के बाद एक कैदी को दूसरे कैदी से भी मिलने नहीं दिया जाता।"

मुलाकात के लिए एक घंटे का वक्त: राहुल ने कहा, "जेल एडमिनिस्ट्रेशन का बिहेवियर दूसरे कैदियों के लिए अच्छा नहीं है। जब इनके कोई परिजन मिलने आते हैं तो उन्हें 20 मिनट से ज्यादा का वक्त नहीं दिया जाता। उधर, बाबा के लोगों को एक-एक घंटे से ज्यादा का वक्त दिया जाता है।"
अखबार से राम रहीम की खबरें काटीं: "जब राम रहीम को सुनारिया जेल में लाया गया था, तो सबको अंदर बंद कर दिया गया था। कैदियों के हर रोज मिलने का वक्त भी खत्म कर दिया गया था। शुरुआत में कई दिन तो टंकी का पानी पीना पड़ा। कैदियों को जो अखबार पढ़ने के लिए मिलते थे, उनमें राम रहीम की खबरें पहले ही काट दी जाती थी।"

क्या है मामला, राम रहीम को सजा कब सुनाई गई?
- अप्रैल 2002 में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और तब के पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को एक साध्वी ने चिट्ठी के जरिए बाबा के खिलाफ रेप की शिकायत की थी। लेटर के फैक्ट्स की जांच का जिम्मा सिरसा के सेशन जज को सौंपा गया। सीबीआई को जांच के निर्देश दिए गए। 2005-2006 के बीच में सतीश डागर ने इन्वेस्टिगेशन की और उस साध्वी को ढूंढा, जिसका यौन शोषण हुआ था।
- जुलाई 2007 में सीबीआई ने अंबाला सीबीआई कोर्ट में चार्जशीट फाइल की। यहां से केस पंचकूला शिफ्ट हो गया। बताया गया कि डेरे में 1999 और 2001 में कुछ और साध्वियों का भी यौन शोषण हुआ, लेकिन वे मिल नहीं सकीं।
- दिसंबर 2002 में सीबीआई ब्रांच ने राम रहीम पर धारा 376, 506 और 509 के तहत केस दर्ज किया।
- 25 अगस्त 2017 को इस मामले में फैसला आया और बाबा को कोर्ट ने दोषी माना। 28 अगस्त को कोर्ट ने बाबा को 20 साल कैद की सजा सुनाई।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×