--Advertisement--

सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने बाग में उगाए १-१ किलो के अमरूद, ऑनलाइन करते हैं सेल

Dainik Bhaskar

Nov 19, 2017, 05:54 PM IST

सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने बाग में उगाए १-१ किलो के अमरूद, ऑनलाइन करते हैं सेल

अमरूद दिखाते हुए नीरज। अमरूद दिखाते हुए नीरज।

जींद। अमरूद आपने बहुत खाए होंगे लेकिन नीरज ढांडा के बाग के अमरूद की अपनी एक खासियत है। दरअसल इनके बाग के अमरूद का वजन 1 से डेढ़ किलो होता है। थाई किस्म के इस एक अमरूद से ही आपका पेट भर सकता है। यह अमरूद हरियाणा के जींद जिले के संगतपुरा गांव में उगाए जा रहे हैं। सब्जी मंडी में नहीं ऑनलाइन सेल होते हैं इनके अमरूद...

- पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर नीरज ढांडा बताते हैं कि वे अपने बाग में लगे इन अमरूद को किसी सब्जी मंडी या दुकान पर नहीं बेचते बल्कि सिर्फ ऑनलाइन ही देश भर में बेच रहे हैं।
- इससे उन्हें भाव भी अच्छा खासा मिल रहा है। जहां से भी आर्डर मिलता है तुरंत उसकी सप्लाई कर देते हैं। इस सीजन में दिल्ली, चंडीगढ़, पंचकूला, नोएडा, गुरूग्राम, गाजियाबाद समेत कई शहरों में लोगों के आर्डर पर इसे ऑनलाइन बेचा गया।

सात एकड़ में लगाया है अमरूद का बाग
- नीरज बताते हैं कि तीन साल पहले वे रायपुर गए हुए थे। इस दौरान उन्होंने एक फार्म में अमरूद की इस किस्म को देखा था। इसके बाद उनके मन में भी विचार आया कि क्यों न खेती से अच्छी आय लेने के लिए कुछ किया जाए।
- इस पर वे वहां से अमरूद की थाई किस्म के पौधों को खरीद कर लाए थे। हालांकि यह काफी खर्चीला था लेकिन उन्होंने मन बना लिया था कि वे इनका बाग जरूर लगाएंगे। इसके बाद उन्होंने अपनी पैतृक जमीन पर सात एकड़ में अमरूद का बाग लगाया जिसमें 1800 पौधे थाई किस्म के और बाकी सफेदा किस्म के थे।
- अभी पौधे मुश्किल से 6 से 7 फीट तक के हुए हैं कि उन्होंने फल देना शुरू कर दिया है।

इस साल एक पौधे से मिला 50 किलो फल
- नीरज ने बताया कि इस साल थाई किस्म से फल मिलना शुरू हो गया। एक पौधे से करीब 50 किलो फल मिला है।
- उन्होंने बताया कि जब नींबू आकार के अमरूद पौधे को लगे थे तभी से उनका सेलेक्शन करना शुरू कर दिया था और उसके बाद अत्याधुनिक तकनीक से उसके उसके ऊपर बारिश, आंधी, ओले आदि किसी प्राकृतिक आपदा व बीमारी का नुकसान न हो इसके लिए फोम लगाया गया।
- जब थोड़ा बड़ा हुआ तो फिर तापमान संतुलित रखने के लिए पॉलीथीन और अखबार का कागज बांधा गया।

कंपनी बना कर बेच रहे ऑनलाइन

- अच्छा भाव मिले और अत्याधुनिक तरीके से इसे बेचा जा इसके लिए फिलहाल देशभर में इसे ऑनलाइन बेचा जा रहा है। इसके लिए डोर नेक्स्ट फार्म नाम से कंपनी बनाई गई है। जहां से भी आर्डर आता है वहीं पर माल भेज दिया जाता है।
- उनके पास इस सीजन में एंडवास में आर्डर रहे। उन्हें उम्मीद है कि अब सर्दी के सीजन में और ज्यादा फल लगेगा और देश-विदेश में इसे बेचा जाएगा।

सभी फोटोः विजेंद्र मराठा, जींद

आगे की स्लाइड्स में देखें अन्य फोटो......

X
अमरूद दिखाते हुए नीरज।अमरूद दिखाते हुए नीरज।
Astrology

Recommended

Click to listen..