Hindi News »Haryana »Panipat» Pradyuman Murder Case Knife Shopkeeper Denied To Identify Accused Student

चाकू बेचने वाले दुकानदार तक पहुंची सीबीआई

चाकू बेचने वाले दुकानदार तक पहुंची सीबीआई

Manoj Kaushik | Last Modified - Nov 10, 2017, 03:45 PM IST

गुड़गांव। प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई द्वारा पकड़े गए 11वीं के स्टूडेंट का रिमांड कल खत्म हो जाएगी। रिमांड खत्म होने से पहले सीबीआई सभी सबूत जुटाने की पूरी कोशिश कर रही है। गुरुवार को सीबीआई की एक टीम देर रात स्टूडेंट को उस दुकान पर लेकर पहुंची जहां से उसने चाकू खरीदा था। दुकानदार से पूछताछ हुई लेकिन उसने स्टूडेंट को पहचानने से इनकार कर दिया। इसके बाद सीबीआई ने दुकानदार से 8 वैसे ही चाकू खरीदे, जैसा चाकू आरोपी स्टूडेंट ने खरीदा था।ढाई महीने पहले खरीदा था चाकू...
- चाकू बेचने वाले दुकानदार पवन ने बताया कि सीबीआई की टीम देर शाम उससे पूछताछ करने के लिए आई थी।
- उनके मोबाइल में एक चाकू की फोटो दिखाते हुए कहा कि यह चाकू तुम्हारी दुकान से खरीदा गया था। इसके बाद पवन ने पहचानने से मना कर दिया।
- उसका कहना था कि ढाई महीने पहले यदि किसी ने चाकू खरीदा था तो वह खरीदने वाले की शक्ल कैसे याद रख सकता है। हररोज उसकी दुकान पर काफी ग्राहक आते हैं।
दुकानदार से लिया उसका मोबाइल नंबर
- सीबीआई ने दुकानदार से उसका मोबाइल नंबर लिया और कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है। यह पूछताछ का हिस्सा है।
- बता दें कि आरोपी स्टूडेंट ने ढाई महीने पहले इसी दुकान से चाकू खरीदने की बात कबूल की थी। इसके बाद ही सीबीआई उस दुकानदार के पास पूछताछ करने के लिए आई थी।
आरोपी ने पिता के सामने कबूल की हत्या
- आरोपी स्टूडेंट ने पिता के सामने गुनाह कबूल कर लिया था। सीबीआई ने यह बात आरोपी स्टूडेंट की रिमांड के लिए जुवेनाइल कोर्ट में सौंपी कॉपी में कही है।
- नोट के मुताबिक, ''मर्डर में किसी और के शामिल होने की जांच के लिए आरोपी की रिमांड जरूरी है। स्टूडेंट ने पिता और सीबीआई के वेलफेयर अफसर (इंडिपेंडेंट विटनस) के सामने वारदात में शामिल होने की बात मानी है।''

इस मामले में कितने लोग अरेस्ट हुए थे

- इस केस में स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार के अलावा रेयान ग्रुप के दो अफसर रेयान ग्रुप के नॉर्थ जोन हेड फ्रांसिस थॉमस और भोंडसी स्थित स्कूल कोऑर्डिनेटर अरेस्ट हुए थे। इन अफसरों को जमानत मिल गई थी, लेकिन अशोक अभी भी ज्यूडिशियल कस्टडी में है। सोहना रोड स्थित सदर पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी को भी सस्पेंड किया गया था।
- उधर, रेयान ग्रुप के सीईओ रेयान पिंटो, उनके पिता ऑगस्टीन पिंटो और मां ग्रेस पिंटो ने बॉम्बे हाईकोर्ट, फिर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में पिटीशन दायर करके एंटीसिपेटरी बेल (अग्रिम जमानत) देने की अपील थी। बाद में उन्हें पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने बेल दे दी थी।
कब हुआ था रेयान स्कूल में मर्डर?
- गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे का मर्डर कर दिया गया था। बॉडी टॉयलेट में मिली थी। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को अरेस्ट किया था। आरोपी अशोक 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था।
- अशोक ने मीडिया को बताया, ''मेरी बुद्धि भ्रष्ट हो गई थी। मैं बच्चों के टॉयलेट में था। वहां गलत काम कर रहा था। तभी वह बच्चा आ गया। उसने मुझे देख लिया। मैंने उसे पहले देखा धक्का दिया। फिर खींच लिया। वह शोर मचाने लगा तो मैं डर गया। फिर मैंने उसे दो बार चाकू से मारा। उसका गला रेत दिया।''
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×