--Advertisement--

अब राजेश और नुपूर तलवाड़ के वकील लड़ेंगे प्रद्युम्न मर्डर के आरोपी स्टूडेंट का केस

अब राजेश और नुपूर तलवाड़ के वकील लड़ेंगे प्रद्युम्न मर्डर के आरोपी स्टूडेंट का केस

Dainik Bhaskar

Nov 25, 2017, 01:36 PM IST
वरिष्ठ वकील तनवीर अहमद मीर। (फ वरिष्ठ वकील तनवीर अहमद मीर। (फ

गुड़गांव। नोएडा के आरूषी मर्डर केस में बरी हुए डॉक्टर राजेश तलवार व नुपुर तलवार के वकील तनवीर अहमद मीर प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी नाबालिग स्टूडेंट का केस लड़ेंगे। इसकी पुष्टि खुद तनवीर अहमद मीर ने की है। दूसरी ओर लापरवाही के आरोपों में घिरी गुड़गांव पुलिस अब सीबीआई जांच के घेरे में है। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई अब पद्युमन ठाकुर मर्डर केस की जांच करने वाली एसआईटी के सदस्यों के कॉल रिकॉर्ड और बैंक डिटेल की जांच करने पर विचार कर रही है। आरोपी स्टूडेंट के पिता बोले-मेरे बेटे को फंसा रही है सीबीआई...

- आरोपी स्टूडेंट के पिता लगातार यह दावा कर रहे हैं कि सीबीआई उनके बेटे को फंसा रही है।
- न्याय के लिए वे अंत तक लड़ाई लड़ेंगे। इसके चलते ही उन्होंने इतने बड़े वकील को पैरवी के लिए तैयार किया है।

- शुक्रवार को स्टूडेंट के परिजनों ने वकील तनवीर अहमद से बात की थी। इसके बाद यह केस लेने की बात चली। आरोपी स्टूडेंट के पिता का मानना है कि तनवीर अहमद उन्हें न्याय दिलवा सकते हैं।

29 नवंबर को होगी डीएनए और फिंगर प्रिंट की रिपोर्ट पर बहस
- जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने इस मामले में डीएनए और फिंगर प्रिंट की रिपोर्टर्स पर बहस के लिए 29 नवंबर की तारीख तय की है।
- अब आगे यह देखना मुख्य रहेगा कि आरोपी स्टूडेंट के वकील तनवीर अहमद मीर क्या रणनीति अपनाते हैं।

6 दिसंबर तक जुवेनाइल होम भेजा गया है आरोपी
- नाबालिग आरोपी को बुधवार 22 नवंबर को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड में हुई सुनवाई के बाद 6 दिसंबर तक जुवेनाइल होम भेज दिया गया था। उसे पहले भी फरीदाबाद के बाल सुधार गृह में रखा गया था।
- बता दें कि स्कूल में 7 साल के मासूम की हत्या करने के आरोपी 11वीं कक्षा के छात्र को 22 नवंबर तक ज्यूडिशियल कस्टडी में बाल सुधार गृह भेज दिया गया था।

कौन है तनवीर अहमद मीर
- तनवीर अहमद मीर वरिष्ठ क्रिमिनल लॉयर हैं। वे 18 साल से ज्यादा समय से हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट में केस लड़ रहे हैं।
- वे अपनी एक लॉ फर्म चलाते हैं।
- उन्होंने 1996 में लॉ की पढ़ाई की। इसके बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी के फैकल्टी अॉफ लॉ से एलएलएम की।
- वे विवादित क्राइम केस लेते हैं।

कब हुआ था रेयान स्कूल में मर्डर
- गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे का मर्डर कर दिया गया था। बॉडी टॉयलेट में मिली थी। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को अरेस्ट किया था। आरोपी 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था।
- अशोक ने मीडिया को बताया था, ''मेरी बुद्धि भ्रष्ट हो गई थी। मैं बच्चों के टॉयलेट में था। वहां गलत काम कर रहा था। तभी वह बच्चा आ गया। उसने मुझे देख लिया। मैंने उसे पहले देखा धक्का दिया। फिर खींच लिया। वह शोर मचाने लगा तो मैं डर गया। फिर मैंने उसे दो बार चाकू से मारा। उसका गला रेत दिया।''
- बाद में सीबीआई ने जांच की। इसके बाद 11वीं के स्टूडेंट को इस मर्डर केस में आरोपी बनाया गया।

X
वरिष्ठ वकील तनवीर अहमद मीर। (फवरिष्ठ वकील तनवीर अहमद मीर। (फ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..