--Advertisement--

​सिविल अस्पतालों से अनावश्यक तौर पर रैफर नहीं होंगे मरीज, 1 डॉक्टर हुआ टर्मिनेट

गुरुग्राम के सिविल सर्जन को किया चार्जशीट, एक डॉक्टर को किया टर्मिनेट, अन्य निलंबित।

Danik Bhaskar | Apr 28, 2018, 07:25 PM IST

चंडीगढ़। नागरिक अस्पतालों में मरीजों को अनावश्यक तौर पर रैफर करने की प्रथा को रोकने के लिए विभाग द्वारा सख्त कदम उठाए गए हैं। इसके लिए गुरुग्राम के सिविल सर्जन को चार्जशीट किया जा रहा है और एक चिकित्सक को टर्मिनेट करने के साथ-साथ अन्य चिकित्सकों को निलंबित किया गया है। इस तरह की शिकायतें मिलने पर अन्य जिलों में भी सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सिविल अस्पतालों में सभी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करवाने के बावजूद यदि चिकित्सक प्रसूति जैसे मामलों में भी मरीजों को रैफर करते हैं तो यह उनकी डयूटी के प्रति लापरवाही को साबित करता है।
- नागरिक अस्पताल, अम्बाला छावनी में सभी आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है, जिनमें कैथ लैब, डायलिसिस, सिटी स्केन, आपातकालीन सेवाएं सहित अन्य सभी जरुरी सेवाएं शामिल हैं। यह एबूलेंस आपात स्थिति में घायलों और मरीजों की जान बचाने में सहायक सिद्ध होगी और इसमें सभी जीवन रक्षक उपकरण व दवाईयां उपलब्ध रहेगी।

डीसी या कमेटी को कर सकते हैं शिकायत

- यदि किसी के मरीज को बेवजह रैफर किया जाता है तो मरीज या सहयोगी संबंधित जिला के डीसी को शिकायत कर सकता है। यही नहीं जांच के लिए हर जिले में कमेटी भी गठित की गई है। कमेटी के माध्यम से भी शिकायत की जा सकती है।