Hindi News »Haryana »Panipat» स्टेट ई-वे बिल और इनहांसमेंट को लेकर मिले व्यापारी, मुख्यमंत्री बोले- देखते हैं...

स्टेट ई-वे बिल और इनहांसमेंट को लेकर मिले व्यापारी, मुख्यमंत्री बोले- देखते हैं...

सिवाह में नए बस अड्‌डे की आधारशिला रखने के बाद सीएम मनोहर लाल सेक्टर-29 पार्ट-2 में व्यापारियों के कार्यक्रम में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:15 AM IST

स्टेट ई-वे बिल और इनहांसमेंट को लेकर मिले व्यापारी, मुख्यमंत्री बोले- देखते हैं...
सिवाह में नए बस अड्‌डे की आधारशिला रखने के बाद सीएम मनोहर लाल सेक्टर-29 पार्ट-2 में व्यापारियों के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। यहां शहर के व्यापारियों ने उनके सामने अपने मुद्दे रखे। व्यापारियों की मांगों पर सीएम ने कहा कि देखते हैं क्या हो सकता है। व्यापारियों की तरफ से एक्सपोर्ट एसोसिएशन के प्रधान ललित गोयल, भीम सिंह राणा और भाजपा जिला अध्यक्ष प्रमोद विज ने सीएम को मांग पत्र दिया। जिसमें व्यापरियों ने कहा कि पानीपत में टेक्सटाइल का सबसे ज्यादा काम होता है। प्रदेश सरकार 20 अप्रैल से स्टेट ई-वे बिल शुरू करने जा रहा है, जिससे हमारी परेशानी काफी बढ़ जाएगी।

टेक्सटाइल के काम में व्यापारियों को अलग-अलग काम अलग-अलग जगह से करवाने होते हैं। हम तो ई-वे बिल बना लेंगे, लेकिन छोटा-छोटा काम जहां से होगा, वहां दिक्कत ज्यादा आएगी। इसके लागू होने के बाद जांच होगी और उनमें खामियां मिलेंगी। इसलिए स्टेट के ई-वे बिल से हमें छूट दी जाए। दूसरे राज्यों में सामान भेजने के लिए हम ई-वे बिल का प्रयोग कर रहे हैं। इस मामले में व्यापारियों ने गुजरात का उदाहरण दिया, जहां इस तरह की छूट दी गई है। जिस पर सीएम ने कहा कि वो इस मुद्दे को काउंसिल के सामने रखेंगे और उम्मीद है कि कुछ छूट जरूर मिलेगी।

व्यापारियों के कार्यक्रम में लंच के दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष ने सीएम के सामने एक बार फिर निगम वार्डबंदी का मामला उठाया है। जिसमें उन्होंने कहा कि वार्डबंदी को लेकर काफी विरोध है। इसमें संशोधन होना चाहिए। जिस पर सीएम ने डीसी से पार्षदों की सलाह लेकर संशोधन करने के लिए कहा। हालांकि इस मामले में किसी की तरफ से कोई पुष्टि नहीं की गई।

व्यापारियों ने कहा- टेक्सटाइल वालों को स्टेट ई-वे बिल से मिले छूट, वार्डबंदी का मुद्दा भी उठा

पानीपत. सीएम मनोहर लाल के साथ मांगों पर चर्चा करते व्यापारी। फोटो | भास्कर

सरपंच का शक्ति प्रदर्शन, सीएम का धन्यवाद

सिवाह जिले के सबसे बड़ा गांव है। यहीं के वोट बैंक पर ग्रामीण विधानसभा का चुनाव में हार और जीत तय होती है। इसलिए सरकारी कार्यक्रम में राजनीतिक रंग भी देखने को मिला। सिवाह के सरपंच ने कार्यक्रम के लिए विशेष जनसभा रखी थी, जिसमें न केवल सिवाह गांव बल्कि आसपास के गांवों से भी लोगों को लाकर विधायकों, सांसद, मंत्री और सीएम के सामने शक्ति प्रदर्शन किया। वैसे भी सिवाह में प्रथा रही है जो सरपंच बन जाए तो वह विधायक चुनाव में जरूर कूदता है। इसलिए सरपंच खुशदिल ने जिले के विभिन्न सरपंचों के साथ सीएम का स्वागत करके भी अपनी ताकत दिखाई। वहीं सीएम ने मंच से यहां की महिलाओं का विशेष धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि जाट आंदोलन में हाईवे जाम के समय यहां की महिलाओं ने उपद्रवियों को भगाने में और शांति बनाए रखने में खास योगदान दिया था। उसे मैं कभी नहीं भूल सकता। कार्यक्रम में शहर विधायक रोहिता रेवड़ी अलग-अलग दिखाई दी और हर समय सभी से पीछे ही खड़ी रही। उनके पति और भाजपा नेता सुरेंद्र रेवड़ी ने तो कार्यक्रम से दूरी ही बनाए रखी।

इस मौके पर परिवहन मंत्री कृष्णलाल पंवार, सांसद अश्वनी चौपड़ा, विधायक महीपाल ढांडा, शहरी विधायक रोहिता रेवड़ी, समालखा विधायक रविन्द्र मच्छरौली, भाजपा जिला अध्यक्ष प्रमोद विज, पूर्व जिला अध्यक्ष गजेंद्र सलूजा, प्रदेश महासचिव सत्यवान शेरा, सरपंच खुशदिल कादियान, नवनीत खर्ब, अशोक कटारिया, डीसी सुमेधा कटारिया, एसपी राहुल शर्मा और जिले के विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे।

पानीपत. सीएम को सम्मानित करते सरपंच और अन्य।

सिवाह के बलिदान से बनेगा बस स्टैंड : कादियान

पानीपत| हरियाणा विधानसभा के पूर्व स्पीकर और इनेलो के वरिष्ठ नेता सतवीर कादियान का कहना है कि गांव सिवाह के लोगों के बलिदान से ही नए बस स्टैंड का निर्माण हो सकेगा। बस स्टैंड आने से गांव में वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण बढ़ जाएगा। बावजूद इसके ग्रामीण विरोध नहीं कर रहे। जीटी रोड को जाम से मुक्त करने के लिए वह बलिदान देने को तैयार हो गए हैं, लेकिन कुछ लोग राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हैं। कादियान ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अक्टूबर 2015 में शुगर मिल का शिलान्यास किया, लेकिन आज तक मिल का अता-पता तक नहीं है। इस बस स्टैंड का हश्र भी कहीं ऐसा न हो जाए। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सिवाह गांव के लोगों को बलिदान के बदले उन्हें रोजगार दिलाने और रोडवेज बसों में सफर फ्री किया जाए।

इनहांसमेंट पर फिर टाल गए मनोहर लाल

व्यापारियों ने सीएम के सामने इनहांसमेंट का मुद्दा भी रखा और कहा कि लगातार उनके पास इसके लिए नोटिस आ रहे हैं। इसमें उन्हें रियायत दी जाए तो वो इसे भर दें। सीएम ने कहा कि उन्होंने इसे 2850 रुपए प्रति वर्ग गज से कम करके 2200 पहले ही करवा दिया, लेकिन फिर भी कोई नहीं भर रहा। व्यापारियों ने कहा कि ब्याज आदि में छूट करके इसे 2 हजार तक ले आएं तो सही रहेगा। जिस पर सीएम ने कहा कि पहले व्यापारी इसे भरना शुरू करें अगर मुमकिन हुआ तो करेंगे नहीं तो भरना तो यही पड़ेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×