Hindi News »Haryana »Panipat» बिना हेलमेट और लाइसेंस के स्कूल में एंटी बंद करने के आदेश के दिए तो स्टूडेंट्स 100 मीटर दूर टू व्हीलर खड़ा रहे

बिना हेलमेट और लाइसेंस के स्कूल में एंटी बंद करने के आदेश के दिए तो स्टूडेंट्स 100 मीटर दूर टू व्हीलर खड़ा रहे

जिला शिक्षा अधिकारी के आदेशों के बाद भी स्कूल प्रबंधन दो पहिया वाहनाें से स्कूल आने वाले छात्रों को लेकर गंभीर...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:25 AM IST

  • बिना हेलमेट और लाइसेंस के स्कूल में एंटी बंद करने के आदेश के दिए तो स्टूडेंट्स 100 मीटर दूर टू व्हीलर खड़ा रहे
    +2और स्लाइड देखें
    जिला शिक्षा अधिकारी के आदेशों के बाद भी स्कूल प्रबंधन दो पहिया वाहनाें से स्कूल आने वाले छात्रों को लेकर गंभीर नहीं है। डीसी ने इस नियम को पालन कराने की जिम्मेदारी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को सौंपी थी। इसके तहत बिना हेलमेट और ड्राइविंग लाइसेंस के स्कूल आने वाले विद्यार्थियों की स्कूल में नो एंट्री थी, लेकिन स्कूल प्रबंधन और प्रशासन इस आदेश को लेकर गंभीर नहीं लग रहे। स्कूली विद्यार्थियों ने बिना हेलमेट जाने का नया तरीका निकाल लिया है। अब वह स्कूल से 100 मीटर पहले ही या स्कूल गेट के बाहर ही अपना वाहन खड़ा कर स्कूल में प्रवेश कर रहे हैं। ऐसा करने से इन्हें न तो स्कूल प्रशासन रोक रहा है और न ही स्कूल गेट पर मौजूद सिक्योरिटी गार्ड बच्चों के डीएल और हेलमेट चेक करते हैं। सोमवार को दैनिक भास्कर ने शहर तीन स्कूलों में शिक्षा अधिकारी के आदेश का रियलिटी चेक किया तो धड़ल्ले से नियमों की धज्जियां उड़ती मिली।

    शिक्षकों को जिम्मेदारी सौंप करेंगे कार्रवाई

    सेक्टर- 12 स्थित डीएवी सेंटेनरी पब्लिक स्कूल: के गेट के बाहर विद्यार्थियों व शिक्षकों के करीब 15-20 दो पहिया वाहन खड़े थे। साथ ही स्कूल से सौ मीटर दूर पार्क के गेट पर भी विद्यार्थियों के करीब दर्जन भर से अधिक वाहन खड़े मिले। इन वाहनों के इंजन की क्षमता सौ सीसी से अधिक थी। जबकि नाबालिग का ड्राइविंग लाइसेंस 50 सीसी से ज्यादा का नहीं बन सकता है। इस संबंध में जब स्कूल प्रिंसिपल हरेश पाल से बात की तो उन्होंने बताया कि अभिभावकों को मैसेज भेज सूचित किया जा रहा है कि वह बच्चों को बिना हेलमेट स्कूल न भेजें। शिक्षकों को जिम्मेदारी सौंपेंगे। ताकि सुबह शिक्षक स्कूल के गेट पर उन सभी विद्यार्थियों को वापस घर भेज दें जो बिना लाइसेंस और हेलमेट के स्कूल आते हैं।

    नहीं माने तो काट देंगे स्कूल से नाम

    आर्य बाल भारती पब्लिक स्कूल: परिसर के अंदर ही विद्यार्थी बिना हेलमेट के वाहन लेकर पहुंचते हैं और अपने वाहन को पार्किंग में खड़ाकर क्लास में जाते हैं। यहां भी इन्हें देखने वाला कोई नहीं है। इस संबंध में निदेशक आचार्य अभय आर्या का कहना है कि बच्चों को स्कूल में दो पहिया लाने पर बैन है। समय-समय पर अभिभावकों को सूचित करते रहते हैं। बच्चों को जागरूक करने के लिए आयोजन करते रहते हैं। बावजूद इसके वह नहीं मान रहे हैं। ऐसे विद्यार्थियों को चिह्नित किया जाएगा। ताकि उनके नाम स्कूल से काटे जा सकें।

    सड़क के किनारे बना दी पार्किंग

    सेक्टर-12 स्थित एसडी विद्या मंदिर सीनियर विंग: सौ मीटर की दूरी पर छात्र-छात्राओं ने सड़क किनारे पार्किंग बना रखी है। ताकि स्कूल में आसानी से प्रवेश पा सकें। हैरान करने वाली बात है कि एक भी छात्र- छात्रा हेलमेट पहन कर स्कूल नहीं अाते। इतना ही नहीं वह ट्रिपलिंग भी करते हैं। विद्यार्थियों को स्कूल से लेने आने वाले परिजन भी बिना हेलमेट के ही पहुंचते हैं। लेकिन, स्कूल प्रशासन पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

  • बिना हेलमेट और लाइसेंस के स्कूल में एंटी बंद करने के आदेश के दिए तो स्टूडेंट्स 100 मीटर दूर टू व्हीलर खड़ा रहे
    +2और स्लाइड देखें
  • बिना हेलमेट और लाइसेंस के स्कूल में एंटी बंद करने के आदेश के दिए तो स्टूडेंट्स 100 मीटर दूर टू व्हीलर खड़ा रहे
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×