Hindi News »Haryana »Panipat» शहरवालों ने संभाली सफाई की कमान तो डीसी ने खुद साथ खड़े होकर बाजारों से उठवाया कूड़ा

शहरवालों ने संभाली सफाई की कमान तो डीसी ने खुद साथ खड़े होकर बाजारों से उठवाया कूड़ा

स्वच्छता अभियान के नाम पर फोटो खिंचवाकर ब्रांड एंबेसेडर बने शहरवासी भास्कर की खबर के बाद जाग गए और सफाई की कमान...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 03:30 AM IST

शहरवालों ने संभाली सफाई की कमान तो डीसी ने खुद साथ खड़े होकर बाजारों से उठवाया कूड़ा
स्वच्छता अभियान के नाम पर फोटो खिंचवाकर ब्रांड एंबेसेडर बने शहरवासी भास्कर की खबर के बाद जाग गए और सफाई की कमान संभाल ली। इसके बाद डीसी सुमेधा कटारिया ने खुद खड़ी होकर रात को बाजारों से कूड़ा उठवाया। हड़ताली कर्मचारियों के डर से 9 दिन से जेबीएम कंपनी के वे 70 कर्मचारी कूड़ा नहीं उठा रहे थे, जो हड़ताल से अलग हैं। इसलिए शहर की गली-गली में 2500 टन से अधिक कूड़ा जमा हो गया है। डीसी ने अपील की है कि पांच दिन तक शहर वासी घरों से बाहर कूड़ा न फेंके। रात 11 बजे जैन मोहल्ले में सर्व संगठन सेवा संस्थान के पदाधिकारियों के साथ डीसी आगे-आगे चल रही थी और पीछे-पीछे ट्रैक्टर ट्रॉली से कूड़ा उठाया जा रहा था। सुबह 6 बजे तक बाजारों से कूड़ा उठाया गया। इससे पहले दिन में सर्व संगठन सेवा संस्थान के पदाधिकारियों ने बैठक कर कंपनी के कर्मचारियों को सपोर्ट करने का ऐलान किया। गुरुवार को सनौली रोड कमल फर्नीचर, भीम गोडा मंदिर, अमर भवन चाैक, जैन बाजार, पचरंगा बाजार, पालिका बाजार, इंसार बाजार, सलारजंग गेट, परमहंस कुटिया, किला एरिया, मेन बाजार और कुटानी रोड से रात भर कूड़ा उठाया गया।

शहर में महामारी फैलने का खतरा मंडराया; डीसी ने की लोगों से अपील- घर से बाहर न फेंकें कचरा, छत पर टांगकर रखें, कोना-कोना जांचने के लिए रात 11 : 30 बजे बाजारों में शहर वासियों के साथ घूमती रहीं

पानीपत. बेशक कूड़ा उठाने के लिए प्रयास शुरू हुए हैं मगर कुछ लोग कचरे में आग लगा रहे हैं। इस कारण प्रदूषण और बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ गया है।

500 कर्मचारी 7 लाख पब्लिक को बंधक नहीं बना सकते

डीसी ने कहा कि इम्तिहान की घड़ी है। शहरवासी सहयोग करें। 500 कर्मचारी 7 लाख पब्लिक को बंधक नहीं बना सकते। उन्होंने कहा कि कूड़ा तो हमारे घर से ही निकल रहा है। इसलिए पांच दिन सहयोग दें। घर में ही रखें। उन्होंने कहा कि मैं तो पहले से कह रही हूं कि जिस दिन शहर वासी जाग जाएंगे, अपने आप स्थिति ठीक हो जाएगी।

दो टीमें बनाई, एक मॉडल टाउन की तरफ, दूसरी सनौली रोड की ओर

डीसी ने कहा कि दो टीमें बनाई है। एक टीम मॉडल टाउन की ओर और दूसरी सनौली रोड की ओर। दोनों में 5-6 ट्रैक्टर ट्रॉली औ एक जेसीबी लगाई है। जो दिन-रात कूड़ा उठाएगी। लोगों की सहायता के लिए एक-एक पुलिस पीसीआर भी लगी रही। इससे पहले उन्होंने स्काईलार्क में निगम कमिश्नर सहित अन्य प्रशासनिक अफसरों के साथ बैठक की।

सबसे पहले कूड़ा उठाने के लिए पहुंचे पूर्व मेयर भूपेंद्र सिंह

इससे पहले गुरुवार सुबह सबसे पहले पूर्व मेयर सरदार भूपेंद्र सिंह कूड़ा उठाने इंदिरा बाजार पहुंच गए। सहयोगी हिमांशु शर्मा, निशांत सोनी, महिंद्र हुड़िया, अनिल मदान, संजय सोनी और अन्य के साथ बोरों में कूड़ा भरा। फिर कंपनी की ट्रैक्टर ट्रॉली मंगाकर कूड़ा उठवाया। पूर्व मेयर ने दुकानदारों से कहा कि जब तक हड़ताल खत्म नहीं होती, सड़क पर कूड़ा न फेंकें।

17 मई को प्रकाशित खबर

सामाजिक संगठन एकजुट हुए तो मिली ताकत

शाम को सेक्टर-25 में सर्व संगठन सेवा संस्थान के पदाधिकारियों विकास गोयल, मेहुल जैन, विवेक कत्याल, सुरेश काबरा, प्रवीन जैन, ललित गोयल, सविता आर्या, नेमीचंद जैन, सुरेंद्र गर्ग, हरिओम तायल, पुरुषोत्तम शर्मा, अमरनाथ गुप्ता, गिरीश कुमार, राजकुमार शर्मा, संदीप जिंदल, कुलवीर सिंह खर्ब आदि ने बैठक कर खुद कूड़ा उठाने की बात कही। तो बैठक में शामिल नगर निगम कमिश्नर शिव प्रसाद शर्मा ने कहा कि सिर्फ सहयोग चाहिए, कूड़ा उठाने के संसाधन तो उनके पास है। रात को अभियान में भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष डॉ. अर्चना गुप्ता भी शामिल रहीं।

2500 टन तक कूड़ा जमा हुआ शहर के कई हिस्सों में 05 दिन कम से कम लगेंगे उठाने में

बीमारियों से बचने को चलेगा अभियान

सिविल सर्जन डाॅ. संतलाल वर्मा ने जिले की हर सीएचसी व पीएचसी में डाक्टरों को निर्देश दिए हैं कि सभी अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक करें। साथ-साथ मलेरिया विभाग गांव-गांव दवाई का छिड़काव भी कर रहा है। इससे मलेरिया डेंगू की बीमारी न फैले। कूड़े के ढेर में आग न लगाएं क्योंकि इससे वायु प्रदूषण तो बढ़ेगा ही साथ ही दमा व सांस के रोगियों को इससे परेशानी होगी।

फतेहपुरी चाैक की ओर ध्यान देने की मांग

वार्ड-3 से भाजपा पार्षद हरीश शर्मा ने कहा कि सफाई की जरूरत पूरे शहर में है। बाजारों की सफाई के साथ ही मुख्य चौक-चौराहों से कूड़े उठाने का प्रयास भी करना चाहिए। शर्मा ने कहा कि फतेहपुरी चौक के आसपास भी बाजार जहां पर सफाई की जरूरत है।

700 में 70 काम कर रहे, इसलिए सिर्फ कूड़ा उठेगा

सफाई और कूड़ा उठाने के लिए शहर में 700 कर्मचारी काम कर रहे हैं। जिसमें से कंपनी के अधीन 350 कर्मचारी हैं, लेकिन सिर्फ 70 कर्मचारी ही काम कर रहे हैं। शेष हड़ताल पर हैं। इसलिए हड़ताल तक सिर्फ कूड़ों के ढेर ही उठेंगे, सफाई नहीं होगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×