Hindi News »Haryana »Panipat» Police Caught ISI Informer Sharing Confidential Information Related Army Recruitment

आईएसआई के हनीट्रैप में फौजी का बेटा, महिला एजेंट्स को फेसबुक पर लाइव दिखाता था सेना की भर्ती

तीन महीने में तीन बड़ी सेना भर्ती को आईएसआई एजेंटों को वीडियो कॉलिंग से लाइव दिखा चुका था गौरव।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 17, 2018, 11:50 AM IST

  • आईएसआई के हनीट्रैप में फौजी का बेटा, महिला एजेंट्स को फेसबुक पर लाइव दिखाता था सेना की भर्ती
    +1और स्लाइड देखें
    पुलिस गिरफ्त में आरोपी युवक गौरव।

    रोहतक.पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के हनीट्रैप में फंसे हरियाणा के एक नौजवान ने सेना की कई अहम जानकारियां विदेश भेजीं। जासूसी के आरोप में गिरफ्तारी के बाद हरियाणा पुलिस और सेना की इंटेलिजेंस विंग के अफसर उससे पूछताछ कर रहे हैं। आरोपी गौरव शर्मा (20) ने खुलासा किया है कि फेसबुक पर उसे दो लड़कियों की फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली थी। तब उसने खुद को सेना का अफसर बताया। इसके बाद लड़कियों ने उससे सेना की जानकारियां लेनी शुरू कर दीं। बता दें कि गौरव के पिता भी सेना में हैं।

    एक साल से कर रहा था आईएसआई एजेंटों से चैटिंग

    - पुलिस पूछताछ में सोनीपत निवासी गौरव ने बताया कि सालभर पहले अमिता आहलुवालिया और सोनू कौर नाम की लड़कियों से उसकी फेसबुक पर दोस्ती हुई। खुद को आर्मी अफसर बताने पर वे चैटिंग में ज्यादा रुचि लेने लगीं। कई बार लाइव चैट पर नैतिकता की हदें पार भी हुईं। फिर आईएसआई की एजेंटों ने उस पर सेना की जानकारियां जुटाने के लिए दवाब बनाना शुरू कर दिया।

    सेना भर्तियों की कई जानकारियां दे चुका है आरोपी

    - अारोपी ने नवंबर 2017 से लड़कियों के कहने पर सेना से जुड़ी कई जानकारी फोटो समेत शेयर कीं। गौरव ने कबूल किया है कि लेडी एजेंट के जाल में फंस वो उनके कहे मुताबिक ही काम करने लगा था। नवंबर से मार्च के अंत तक वो नासिक, भोपाल और सिकंदराबाद में हुई सेना भर्तियों में पहुंचा था। वहां उसने वीडियो कॉलिंग कर अमिता और सोनू को भर्ति का पूरा प्रोसेस लाइव दिखाया था। गुपचुप खिंची गई तस्वीरें भी उसने उनके साथ शेयर कीं।

    - इसके अलावा उसने हिसार सैनिक छावनी और रोहतक समेत कई जिलों के बड़े संस्थानों के बारे में भी अहम इनपुट दिए। मंगलवार को गौरव चेन्नई में होने वाली सेना भर्ती में शामिल होना चाहता था। वहां से उसने कई जानकारी जुटा अपनी आईएसआई एजेंटों को भेजनी थी।

    महिला एजेंट ने उसे दुबई आने का ऑफर दिया था

    - गौरव के आर्मी अफसर होने का पता चलने पर ही आईएसआई की महिला एजेंट अमिता ने उसे जल्द पासपोर्ट बनवाने की कहते हुए ऑफर किया था कि अगर उसे पासपोर्ट बनवाने में दिक्कत हो तो वो उसका पासपोर्ट बनवा कर भेज देगी, लेकिन पासपोर्ट न होने की बात कहते हुए गौरव ने कुछ दिन रुकने को कहा था। लड़की की लोकेशन दुबई की ही मिली है।

    अार्मी ऑफिसर के ग्रुप फोटो शेयर किए

    - गौरव पिछले तीन साल में सेना की 18 भर्तियों में हिस्सा ले चुका है। लेकिन फिजिकल टेस्ट से आगे वो नहीं बढ़ पाया। आईएसआई की महिला एजेंटों पर रौब डालने के लिए उसने खुद को आर्मी अफसर बताया।

    - सबूत देने के लिए आर्मी अफसरों के कुछ ग्रुप फोटो उसने अलग-अलग सोशल मीडिया अकाउंट से उठाए और उनमें तकनीकी मदद से खुद के चेहरे को पीछे की कतार में खड़े अफसर से चेंज किया। फिर उन्हें अमिता और सोनू कौर के साथ साझा कर बताया कि पीछे की लाइन में वो खड़ा है।

    अमृतसर से गिरफ्तार रवि ने खोला था गौरव का भेद

    - आरोपी गौरव का भेद करीब 15 दिन पहले ही खुल गया था। 29 मार्च को पंजाब पुलिस ने आईबी की एक सूचना पर अमृतसर में एक आईएएस एजेंट रवि को गिरफ्तार किया था। वो भी आईएसआई की महिला एजेंटों के हनीट्रैप में फंसा था। उसने ही गौरव के बारे में इंटेलिजेंस एजेंसी को इनपुट दिया था। इसके बाद से एजेंसी गौरव पर नजर रख रही थी।

  • आईएसआई के हनीट्रैप में फौजी का बेटा, महिला एजेंट्स को फेसबुक पर लाइव दिखाता था सेना की भर्ती
    +1और स्लाइड देखें
    29 मार्च को पंजाब पुलिस ने आईबी की एक सूचना पर अमृतसर में एक आईएएस एजेंट रवि को गिरफ्तार किया था।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Panipat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×