--Advertisement--

गुड़गांवः 8 साल पहले पैरोल पर से फरार गैंगस्टर राजीव को पुलिस ने किया अरेस्ट, 2 लाख था इनाम

2010 में 42 दिन के पैरोल पर जेल से बाहर आया था राजीव उर्फ बॉबी।

Dainik Bhaskar

Jun 20, 2018, 07:40 PM IST
police caught gangster rajeev alias body who run 8 year ago on Parole

गुड़गांव। 8 साल पहले पैरोल पर आए 2 लाख का इनामी बदमाश राजीव उर्फ बॉबी को बुधवार को एसटीएफ ने राजेंद्रा पार्क थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए यहां से गाड़ी लूटने की फिराक में थे। बता दें कि उसे रोहतक में अमन जैन का अपहरण कर उससे 1 करोड़ रुपये की फिरोती मांगने पर उम्रकैद की सजा हुई थी। करीब 8 साल पहले पैरोल पर आने के बाद से आरोपी फरार चल रहा था। बॉबी का साथी सुमित ने फिरोती के लिए युवती का अपहरण किया था। फिरोती न मिलने पर युवती के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी थी। इस मामले में उसे आजीवन कारावास है और वह हाईकोर्ट से जमानत पर चल रहा था।

- बुधवार को एसआईटी के डीआईजी सतीश बालन ने पत्रकारवार्ता की। उन्होंने बताया कि बहादुरगढ़ निवासी राजीव उर्फ बॉबी 1994 में 12वीं कक्षा के दौरान से ही अपराध की दुनिया में आ गया था।
- इससे अवैध हथियार बरामद हुए थे जिसके बाद यह लगातार वारदातों को अंजाम देने लगा। इसके बाद उसने बहादुरगढ़ में पनवाड़ी की हत्या, बहादुरगढ़ टीकरी बॉर्डर पर पेट्रोल पम्प के सेल्समैन से रुपये छीनने की वारदात को अपने सहयोगी राकेश टांडाहेड़ी व संदीप के साथ वारदात को अंजाम दिया था।
- वर्ष 2002 में रोहतक निवासी अमन जैन का अपरण कर 1 करोड़ रुपये की फिरोती मांगी थी। वर्ष 2006 में आरोपी को इस मामले में अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी।
- वर्ष 2010 में बॉबी 42 दिन के पैरोल पर जेल से बाहर आया था, और तब से फरार चल रहा था। पैरोल पर आने के बाद आरोपी ने बहादुरगढ़ में राकेश पर दो बार जानलेवा हमला किया। आरोपी पर झज्जर पुलिस ने 2 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।
- सुमित का साथी कंझावला दिल्ली निवासी सुमित ने वर्ष 2004 में झज्जर से एक युवती को फिरोती के लिए अगवा किया था। रुपये न मिलने पर आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी थी। इस मामले में आरोपी को अदालत से उम्रकैद हुई थी। आरोपी ने हाईकोर्ट से जमानत लेने के बाद से फरार है।

दो पिस्तोल हुई बरामद
- डीआईजी सतीश बालन ने बताया कि आरोपियों से दो इटली व यूएसए की पिस्तोल बरामद हुई हैं। यह पिस्तोल उन्हें ईश्वर पंडित ने उपलब्ध कराई थी। ईश्वर पंडित तिहाड़ जेल में बंद है और वह मनोज मारगेड़ी गैंग का सदस्य है। मनोज मारगेड़ी गैंग और संदीप गाडोली गैंग दोनों ही आपस में मिले हुए थे।

X
police caught gangster rajeev alias body who run 8 year ago on Parole
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..