--Advertisement--

खुशखबरी / रेलकर्मी परिवार संग फ्री पास से गतिमान व हमसफर में करेंगे सफर



symbolic image symbolic image
पे-ग्रेड: 4200- 5400 को मिली सुविधा
Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:48 AM IST

फरीदाबाद/पलवल.  रेलवे बोर्ड ने रिटायर्ड कर्मचारियों के लिए भी देश की सबसे तेज चलने वाली गतिमान एक्सप्रेस और हमसफर ट्रेनों में कांप्लीमेंट्री पास से फ्री में सफर करने की सुविधा शुरू कर दी है।  इसका फायदा उन्हीं रेलकर्मियों और उनके परिवारों को मिलेगा जिनका पे ग्रेड 4200 से 5400 तक है।

 

रेलवे द्वारा शुरू की गई इस सुविधा का फरीदाबाद, पलवल, गुड़गांव समेत दिल्ली एनसीआर के विभिन्न स्टेशनों पर कार्यरत आैर रिटायर्ड करीब 20 हजार कर्मचारियों को फायदा होगा। अभी तक उक्त ग्रेड के कर्मचारी शताब्दी, राजधानी और दुरंतो एक्सप्रेस में ही इस सुविधा का लाभ ले सकते थे।

 

नई व्यवस्था से रेलकर्मियों के लिए सभी ट्रेनों में सुविधा बहाल कर दी गई है। रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर एस्टेब्लिशमेंट वेलफेयर सुनील कुमार ने 12 जुलाई 2017 को सर्कुलर जारी कर गतिमान एक्सप्रेस, हमसफर एक्सप्रेस और सुविधा एक्सप्रेस ट्रेनों में रेलकर्मियों को फ्री पास के जरिए सफर करने की सुविधा शुरू की है। 

 

रेलवे में कार्यरत और रिटायर्ड स्टेशन अधीक्षक, स्टेशन मास्टर, सहायक स्टेशन मास्टर, हेड टीटीई, हेड बुकिंग क्लर्क, रिजर्वेशन सुपरवाइजर, एसएसई कंस्ट्रक्शन, बिजली निगम, पीडब्ल्यूआई, आईओडब्ल्यू, एसएसई सिगनल विभाग, डीजल शेड, क्लर्क, टेलीकॉम, रेलवे सुरक्षा बल में सीनियर हेड कांस्टेबल, सहायक सब इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर, सहायक कमांडेंट आदि 4200 से 5400 पे-ग्रेड में आते हैं। उक्त सुविधा का लाभ रिटायर्ड और वर्किंग कर्मचारी के वही परिजन ले सकते हैं जो सुविधा धारक पर निर्भर हैं।

 

16 हजार से अधिक कर्मियों को होगा फायदा : गतिमान, हमसफर व सुविधा ट्रेनों में फरीदाबाद, पलवल, गुड़गांव समेत पूरे दिल्ली एनसीआर में कार्यरत व रिटायर्ड करीब 16 हजार कर्मचारियों को फ्री पास का फायदा मिलेगा। नार्दर्न रेलवे मेंस यूनियन तुगलकाबाद शाखा सचिव आरके मिश्रा का कहना है कि दिल्ली एनसीआर में करीब 8 से 9 हजार कर्मचारी इस पे-ग्रेड के तहत रिटायर्ड हैं।

 

इतने ही वर्किंग में हैं। मिश्रा ने रेलकर्मियों की कमी पर भी चिंता जताई। उन्होंने कहा पूरे दिल्ली डिवीजन में 42 हजार पद विभिन्न विभागों में स्वीकृत हैं। लेकिन वर्तमान में 36 हजार कर्मचारी ही वर्किंग में हैं।

 

 

--Advertisement--