पिहोवा

  • Home
  • Haryana News
  • Pehowa
  • मुख्यमंत्री का जिले में 5 जगह कार्यक्रम, दो राज्य मंत्रियों व दो विधायकों के साथ मिले कार्यकर्ताओं से
--Advertisement--

मुख्यमंत्री का जिले में 5 जगह कार्यक्रम, दो राज्य मंत्रियों व दो विधायकों के साथ मिले कार्यकर्ताओं से

भास्कर न्यूज | शाहाबाद-इस्माइलाबाद मौजूदा सरकार में सीएम मनोहरलाल जिले में पहली बार कार्यकर्ताओं से चाय पीने...

Danik Bhaskar

Jul 06, 2018, 02:35 AM IST
भास्कर न्यूज | शाहाबाद-इस्माइलाबाद

मौजूदा सरकार में सीएम मनोहरलाल जिले में पहली बार कार्यकर्ताओं से चाय पीने के बहाने मिलने पहुंचे। पांच जगह कार्यक्रम था। चाय पीने के साथ लगे हाथों जनसभाएं कर लोगों को सरकार की उपलब्धियां भी गिनाई। बंद कमरों में चाय पर चर्चा के दौरान कार्यकर्ताओं से फीडबैक भी ली। साथ में राज्यमंत्री कर्णदेव कंबोज और कृष्ण बेदी एवं विधायक सुभाष सुधा व डॉ.पवन सैनी रहे।

कलसानी में सरपंच सर्वजीत सिंह के घर चाय पर चर्चा हुई। इस दौरान पूर्व सरपंच गुरबख्श सिंह भी अंदर पहुंचे। बोले कि सीएम साहब आपने विकास के लिए पैसा तो खूब भेजा। क्या कभी यह भी देखा कि वह पैसा किस तरह से लग रहा है। शिकायत भरे लहजे में कहा कि शाहाबाद की प्रताप मंडी और इंद्र मंडी में टाइलों से नवनिर्मित सड़क का न लेवल सही, न पाइपों व अन्य सामान की गुणवत्ता। बाहर आकर गुरबख्श ने बताया कि उनके सवाल पर मुख्यमंत्री तो खामोश रहे, लेकिन राज्यमंत्री कृष्ण बेदी ने अपनी बेबसी जाहिर करते हुए कहा कि ठेकेदार किसी की भी नहीं सुनते। वहीं इसके बाद सीएम ने ठोल अनाज मंडी में व्यापारी रमन बंसल के प्रतिष्ठान पर चाय पी। सरपंच सर्वजीत सिंह, महामंत्री रविन्द्र सांगवान, जगदीश सांगवान, रमन बंसल ने उनका स्वागत किया।

रास्ते से हूं पूरी तरह परिचित : सीएम मनोहर लाल ने कहा कि वह इस पूरे क्षेत्र के हर रास्ते से वाकिफ हैं। पंचकूला से सिरसा तक जन संपर्क अभियान का पूरा रूट खुद बनाया है। इसके लिए किसी अधिकारी या नेता की ड्यूटी नहीं लगाई।

मंत्री के लिए छोड़ी अध्यक्ष ने सीट : कलसानी में जैसे ही सीएम का काफिला ठोल जाने लगा तो विधायक सुभाष सुधा सीएम की गाड़ी में अगली सीट पर और जिला अध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर व विधायक पवन सैनी मुख्यमंत्री के साथ गाड़ी में बैठक गए। जब बेदी नहीं दिखे तो सीएम ने आवाज लगाई। बेदी को बिठाने के लिए धर्मवीर मिर्जापुर को गाड़ी से उतरना पड़ा।

कलसानी के पूर्व सरपंच बोले-सीएम साहब विकास के लिए पैसा तो दिया लेकिन यह नहीं देखा कि सही लगा या नहीं

पिहोवा | डेरा जुरासी में आशीर्वाद लेने पहुंचे सीएम मनोहर लाल।

रास्ते में इस्माइलाबाद जाने का बना प्रोग्राम : ट्रैफिक रोका

ठोले के बाद सीएम को गांव जलबेहड़ा जाना था, लेकिन अचानक रास्ते में इस्माइलाबाद में एक कार्यकर्ता के घर चाय का प्रोग्राम बन गया। पुलिस प्रशासन द्वारा यहां कोई तैयारी नहीं थी। सीएम का काफिला रोशनपुर रोड पर खड़ा होने के कारण ट्रैफिक रोक दिया। यातायात दूसरे रास्तों पर डायवर्ट किया। इसी बीच स्कूल की छुट्टी के बाद बच्चों की बसें भी पहुंची, लेकिन पुलिस ने बसों को भी काफिला से दूर ही रोक दिया। ऐसे में जाम की स्थिति बन गई। पहले तो बच्चे गर्मी में तंग हुए। बाद में कई बच्चे पैदल ही घरों को निकले। एक स्कूल बस चालक ने कहा कि यदि पहले ही बता देते तो वह हाइवे से दूसरे रास्ते से निकल जाता।

हवेली देख याद आए लाला महंत राम

इस्माइलाबाद में एक पुरानी हवेली को देख ठिठक गए। संजीव गर्ग से हवेली में रहने वाले लाला महंत राम कंसल के बारे में पूछा। सीएम ने बताया कि करीब 38 साल पहले इस्माइलाबाद आए थे। तब यहां लाला महंत राम कंसल रहा करते थे। संजीव गर्ग ने बताया कि लाला महंत राम के पोते मांगेराम व सुशील कंसल कस्बे में ही दूसरी जगहों पर रहते हैं।

अवरोधक हटाने की मांग

दुकानदारों ने गुरु नानक कॉलोनी के सामने अम्बाला हिसार हाईवे पर रखे अवरोधक हटाने के लिए भी दुकानदारों ने सीएम से कहा। अवरोधक से यहां जाम लगा रहता है। सीएम ने मौके पर मौजूद अधिकारियों को तुरंत समस्या का संज्ञान लेने को कहा।

डेरा प्रेम

भास्कर न्यूज | पिहोवा

चुनावों की आहट होने लगी है। मिशन-2019 की तैयारियों में सभी राजनीतिक दल जुट चुके हैं। इनेलो, कांग्रेस व भाजपा ने वोट बैंक जुटाने के लिए कमर कसनी शुरू कर दी है। धार्मिक डेरों में भी सरगर्मियां बढ़ने लगी हैं। गुरुवार को सीएम मनोहर लाल ने कार्यकर्ताओं के यहां चाय पर चर्चा कार्यक्रम आयोजित कर शिरकत की। सीएम गांव जुरासी में स्थित डेरा सचखंड संत आश्रम में पहुंचे। संत बाबा मान सिंह से आशीर्वाद लिया। इससे पूर्व 25 जून के आसपास कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस डेरे में पहुंचकर बाबा मानसिंह से आशीर्वाद लिया था।

डेरा हर किसी का: यह गुरु का घर : उधर, डेरा संचालकों का कहना है कि डेरा किसी एक राजनीतिक दल से नहीं जुड़ा है। डेरे में सचिव बाबा मनमीत सिंह कहते हैं कि यह गुरु का घर है। यहां कोई भी आकर माथा टेक सकता है। गुरुवार को सीएम मनोहरलाल ने माथा टेका। बाबा मान सिंह से चर्चा की। डेरे की तरफ से जुरासी व मोरथली मार्ग को फोरलेन करने की मांग की। इस पर सीएम ने कहा कि जल्द ही उक्त सड़क को वन वे बनवाया जाएगा। वहीं डेरे की मांग पर कॉलेज में खेल स्टेडियम का निर्माण कराने का आश्वासन दिया। सरकार की छवि जानने के लिए सीएम बस स्टैंड के सामने रुक गए। गाड़ी से उतरकर सीएम सीधा ढाबे पर पहुंचे और पूछा कि बताइए क्या सरकार सही काम कर रही है। ढाबा संचालक ने सीएम से कहा कि बाकी तो सब ठीक है, लेकिन यहां सफाई व्यवस्था दुरुस्त नहीं है। बस स्टैंड के नजदीक गंदगी पड़ी रहती है।

जुरासी में सीएम ने लिया आशीर्वाद

सुरजेवाला ने भी डेरा में पहुंच टेका था माथा

बताया जाता है कि जुरासी डेरे की ओर से डेंटल कॉलेज खोला जाना था, लेकिन कांग्रेस सरकार में इसे एनओसी नहीं मिल पाई। हालांकि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा यहां माथा टेकने आ चुके थे। इसे लेकर डेरे में कांग्रेस के प्रति रोष भी था, लेकिन कभी इस रोष को सार्वजनिक नहीं किया गया। अब गत 25 जून को कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला बाबा के दरबार में हाजिरी भरने पहुंचे थे। (फाइल फोटो)

सिख वोट बैंक पर नजर, बंद कमरे में की चर्चा

बंद कमरे में सीएम मनोहर लाल ने डेरा प्रमुख संत बाबा मान सिंह से राजनीतिक समीकरणों पर चर्चा की। बता दें कि पिहोवा सिख बहुल क्षेत्र है। यहां से सिख ही ज्यादातर विधानसभा पहुंचे हैं। मौजूदा समय में इनेलो के जसविंद्र सिंह संधू विधायक हैं। पहले एचएस चठ़्ठा विधायक थे। यहां डेरा जुरासी और डेरा मांडी का सिखों में खासा प्रभाव है। इसीलिए यहां पूर्व सीएम बंसी लाल, भजनलाल, ओमप्रकाश चौटाला भी कई बार पहुंच चुके हैं।

Click to listen..