पिहोवा

  • Home
  • Haryana News
  • Pehowa
  • पीएम आवास योजना की लिस्ट को लेकर ब्लॉक समिति चेयरपर्सन पति व इनेलो विधायक पुत्र आमने-सामने
--Advertisement--

पीएम आवास योजना की लिस्ट को लेकर ब्लॉक समिति चेयरपर्सन पति व इनेलो विधायक पुत्र आमने-सामने

पीएम आवास योजना की लिस्ट को लेकर पंचायत समिति की चेयरपर्सन के पति व विधायक जसविंद्र संधू के बेटे गुमथलागढू के...

Danik Bhaskar

Jul 10, 2018, 03:40 AM IST
पीएम आवास योजना की लिस्ट को लेकर पंचायत समिति की चेयरपर्सन के पति व विधायक जसविंद्र संधू के बेटे गुमथलागढू के सरपंच गगनजोत संधू आमने-सामने हो गए हैं। इसका एक ऑडियो भी वायरल हुआ है। चेयरपर्सन के पति का आरोप है कि गगनजोत ने उसे लिस्ट वापस लेने के लिए धमकाया। वहीं गगनजोत ने उल्टे आरोप जड़े हैं। इनेलो इनेलो कार्यकर्ताओं ने ब्लॉक समिति चेयरमैन का पांच प्रतिशत कमीशन मांगने का ऑडियो दोबारा से वायरल कर दिया। वहीं एक ऑडियो में गगनजोत संधू पंचायत समिति की चेयरपर्सन सुनीता देवी के पति को उनके गांव में दखल न देने की चेतावनी दे रहे हैं। इसके के बाद सुनीता के पति धर्मपाल ने सरकार से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है।

मुझे फोन पर धमकाया गया : धर्मपाल : धर्मपाल ने बताया कि सुनीता ने चेयरपर्सन होने के नाते प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गांवों में होने वाले सर्वे के लाभ पात्रों की सूची तैयार करके बीडीपीओ को दी थी। इसमें विधायक के गांव गुमथलागढू के लाभार्थियों के नाम भी शामिल थे, लेकिन विधायक के सरपंच पुत्र को यह बात नागवार गुजरी और उन्होंने फोन पर उसे कुर्सी छीन लेने की धमकी भी दे डाली। उन्होंने कहा कि जो लिस्ट दी है उसे वापस उठा लो नहीं तो दफ्तर पर ताला लगवा देंगे। उन्होंने कहा कि इस धमकी के बाद से उनका परिवार परेशान है। यदि सरकार ने सुरक्षा नहीं दी तो सुनीता पद से इस्तीफा दे देगी।

चेयरपर्सन प|ी, पावर का कर रही गलत इस्तेमाल

वहीं सरपंच गगनजोत संधू ने कहा कि सुनीता के पति चेयरपर्सन प|ी की पावर का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। चेयरपर्सन की जगह धर्मपाल काम कर रहे हैं। वे भाजपा कार्यकर्ताओं को लाभ पहुंचाने के लिए अपात्र लोगों की सूची बनाकर सरकार को गुमराह कर रहे हैं। सरकार की गाइडलाइन है कि सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों के लिए ग्राम सभा की बैठक में प्रस्ताव पास किया जाएगा। उसी के अनुसार जो व्यक्ति पात्र होंगे उनका सर्वे किया जाएगा, लेकिन चेयरपर्सन के पति धक्केशाही करते हुए सभी गांवों में राजनीति कर रहे हैं। अपने कार्यकर्ताओं की लिस्ट सरपंचों व ग्रामीणों की मर्जी के बिना थोपना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सुनीता पर पहले भी विकास कार्यों में पांच प्रतिशत कमीशन मांगकर भ्रष्टाचार फैलाने का आरोप लग चुका है, लेकिन सरकार का हाथ होने के कारण इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई। उधर, सरपंच संधू के समर्थन में ब्लॉक समिति के सदस्य भी उतर आए हैं। ब्लॉक समिति के सदस्य अजमेर सिंह ने कहा कि चेयरमैन का पति मनमर्जी करता है। गुमथलागढू में आवास योजना के पात्रों की जो लिस्ट धर्मपाल ने तैयार की है उसके बारे में ब्लॉक समिति के सदस्यों को भी भनक नहीं लगने दी। पंचायत समिति के सभी कार्यों की जांच होनी चाहिए।

संधू बोले-बिना ग्राम सभा में पास हुए किस अधिकार से जारी कर दी सूची

Click to listen..