• Home
  • Haryana News
  • Pipli
  • मीरीपीरी के मालिक की याद में निकला महान नगर कीर्तन: सेवा करने उमड़ी संगत
--Advertisement--

मीरीपीरी के मालिक की याद में निकला महान नगर कीर्तन: सेवा करने उमड़ी संगत

कुरुक्षेत्र | शहर मेें निकाले गए नगर कीर्तन की अगुवाई करते पंज प्यारे। पीछे नाम जपते चला हजारों का काफिला, वाहनों...

Danik Bhaskar | Jun 29, 2018, 02:35 AM IST
कुरुक्षेत्र | शहर मेें निकाले गए नगर कीर्तन की अगुवाई करते पंज प्यारे।

पीछे नाम जपते चला हजारों का काफिला, वाहनों की लंबी लाइन, सात दिवसीय समागम का आज समापन

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र

मीरी-पीरी के मालिक गुरु हरगोबिंद साहिब महाराज के प्रकाश उत्सव पर गुरुवार को महान नगर कीर्तन सजाया गया। ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब छठी पातशाही से बोले सो निहाल सत् श्री अकाल की गूंज के साथ नगर कीर्तन रवाना हुआ। प्रदेशभर से हजारों की संख्या में सिख संगत शीश नवाने को पहुंची। संगत में नगर कीर्तन के दौरान सेवा करने को भी होड़ रही। गुरुद्वारा साहिब के हेड ग्रंथी भाई गुरदास सिंह ने गुरु चरणों में अरदास की। गुरुग्रंथ साहिब महाराज की छत्रछाया और पंज प्यारों की अगुवाई में महान नगर कीर्तन आरंभ हुआ।

नगर कीर्तन रेलवे रोड, कुटिया वाली गली, गुलजारी लाल नंदा मार्ग, किला तेज प्रताप सिंह, छोटा बाजार, पुरानी सब्जी मंडी, शास्त्री मार्किट, बिडला मंदिर से होकर गुरुद्वारा साहिब में संपन्न हुआ। नगर कीर्तन दोपहर बाद गुरुद्वारा छठी पातशाही से रवाना हुआ। आसपास से सैकड़ों की संख्या में लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली और अन्य वाहन लेकर पहुंचे थे। करीब एक किमी लंबी लाइन के चलते ट्रैफिक भी प्रभावित रहा। दिनभर पिपली थर्ड गेट मार्ग पर जाम के हालात रहे। कहने को सुभाष मंडी चौकी पुलिस तैनात रही, लेकिन भीड़ के आगे प्रबंध नाकाफी रहे। गुरुद्वारा में चल रहे समागम में गुरुग्रंथ साहिब के समक्ष हाजिरी भरने को दिनभर संगत पहुंची। एसजीपीसी मेंबर जत्थेदार हरभजन सिंह मसाना, बीबी करतार कौर, बीबी रंविदर कौर अजराना, तजिंदरपाल सिंह ढिल्लो, गुरिंदर सिंह, परमजीत सिंह दुनिया माजरा, सुखबीर सिंह मसाना, बेअंत सिंह, जगदीश सिंह व सुखविंदर सिंह, अमरिंदर सिंह, कंवलजीत सिंह अजराना, साहिब सिंह, जगदीप सिंह असंध, अंबाला से सुखदेव सिंह, जरनैल सिंह बोढी, लेखाकार प्रताप सिंह, गुरमुख सिंह, जज सिंह, हरकेश सिंह मोहड़ी, अमनिंदर सिंह बुट्टर, राजेंद्र सिंह सोढी, बलबीर सिंह, बाबा दर्शन सिंह, भूपिंदर सिंह, जगतार सिंह, बलजीत सिंह सहित अन्य मौजूद रहे। नगर कीर्तन में उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान से संगत पहुंची।

कुरुक्षेत्र | नगर कीर्तन में झाड़ू लगातीं महिला श्रद्धालु।

आतिशबाजी कर जताई खुशी

हालांकि पर्यावरण संरक्षण के चलते आतिशबाजी पर रोक लगी है, लेकिन प्रकाशोत्सव की खुशी में संगत ने आतिशबाजी की। मैनेजर अमरिंदर सिंह ने बताया कि श्री अखंड पाठ साहिब की तीसरी व अंतिम लड़ी का समापन 29 जून को होगा। इसी दिन दोपहर को विशाल दीवान सजाया जाएगा। जिसमें पंथ के प्रसिद्ध रागी व ढाडी और कवि शरी जत्था गुरबाणी तथा गुरु इतिहास से संगत को जोड़ेंगे। अमृत संचार कार्यक्रम सैंकड़ों प्राणी अमृतपान कर गुरसिख सजेंगे। महान नगर कीर्तन से पहले गुरुद्वारा साहिब पातशाही छठी में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी श्री अमृतसर के गतका कोच के नेतृत्व में टीम ने हैरतअंगेज करतबों से लोगों को अचंभित किया। कोच इंदरपाल सिंह ने स्वयं भी सिख मार्शल आर्ट के करतब दिखाए। छोटे बच्चे भी इस टीम में शामिल रहे।