Hindi News »Haryana »Pipli» धनखड़ बोले-स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के लिए दी थी गिरफ्तारी, सत्ता में आने पर रिपोर्ट की लागू

धनखड़ बोले-स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के लिए दी थी गिरफ्तारी, सत्ता में आने पर रिपोर्ट की लागू

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-पिपली कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार ने 14 फसलों का न्यूनतम मूल्य...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 06, 2018, 02:35 AM IST

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-पिपली

कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि केंद्र सरकार ने 14 फसलों का न्यूनतम मूल्य निर्धारित किया है। इससे किसानों को आर्थिक आजादी मिली है। धनखड़ गुरुवार शाम को पिपली अनाज मंडी में लाडवा विधायक डॉ. पवन सैनी द्वारा आयोजित सभा में बोल रहे थे। यहां पहुंचने पर आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान बनारसी दास की अगुवाई में व्यापारियों ने दोनों का स्वागत किया। बताया कि किसानों को उनकी फसल का उचित भाव देने के लिए 1965-66 में मूल्य आयोग बना था।

इस आयोग की सिफारिश पर ही सरकार मूल्य तय करती थी, लेकिन मूल्य तय करने का कोई पैमाना नहीं था। इस आयोग में कही भी उत्पादन करने वाले किसानों के मुनाफे का जिक्र नहीं था। पहली बार प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किसानों के ऋण का ब्याज 18 से कम करके 9 प्रतिशत किया। किसान क्रेडिट कार्ड दिए, लेकिन इसके बाद कांग्रेस सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को ठंडे बस्ते में डाल दिया।

इसके पश्चात रिपोर्ट को लागू करवाने के लिए भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हर राज्य में पदयात्रा निकाली और गिरफ्तारियां भी दी। रिपोर्ट लागू करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा को कमेटी का चेयरमैन बनाया गया। इस कमेटी ने दिसंबर 2010 में अपनी रिपोर्ट भी जमा करवा दी, लेकिन कांग्रेस ने रिपोर्ट को लागू नहीं किया, लेकिन भाजपा सरकार ने स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करने का काम किया। किसानों की लागत से ज्यादा 50 प्रतिशत निर्धारित मूल्य दिया। इससे कपास की खेती पर 18 हजार प्रति एकड़, मक्का की खेती पर 16 हजार प्रति एकड़, सूरजमुखी पर 10 हजार रुपए प्रति एकड़, बाजरा की खेती पर 7880 रुपए प्रति एकड़ रुपए का फायदा होगा।

ये रहे मौजूद

इस मौके पर प्रदेश प्रभारी डॉ. संजय शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, जिप चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, जिप वाइस चेयरमैन परमजीत कौर कश्यप, भाजपा नेता धुम्मन सिंह किरमिच, राजकुमार सैनी, किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष मंदीप सिंह, ओबीसी मोर्चा कार्यकारिणी सदस्य हरमेश, बनारसी दास, रामप्रकाश, राम नारायण, कृषि उपनिदेशक डॉ. कर्मचंद, मार्किट कमेटी के सचिव हरदीप सिंह सैनी, तेजपाल मथाना, रामनारायण मदान, सुरेश कश्यप, ओमवीर लालड़ मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pipli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×