• Hindi News
  • Haryana
  • Pipli
  • लाडवा मास्टर प्लान को सीएम की मंजूरी, नगर निकाय का ऑब्जेक्शन
--Advertisement--

लाडवा मास्टर प्लान को सीएम की मंजूरी, नगर निकाय का ऑब्जेक्शन

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-लाडवा लाडवा का जिला नगर योजनाकार विभाग ने पहली बार मास्टर प्लान तैयार किया था। स्टेट...

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2018, 03:00 AM IST
लाडवा मास्टर प्लान को सीएम की मंजूरी, नगर निकाय का ऑब्जेक्शन
भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-लाडवा

लाडवा का जिला नगर योजनाकार विभाग ने पहली बार मास्टर प्लान तैयार किया था। स्टेट लेवल कमेटी में पास होने के बाद तीन माह पहले सीएम भी इसे मंजूरी दे चुके हैं, लेकिन फाइनल होने से पहले ही कई आब्जेक्शन लग गए। ऐसे में नगर योजनाकार विभाग उक्त प्लान को दोबारा से रिवाइज करेगा। इसका काम भी शुरू हो चुका है। डीटीपी विभाग के सूत्रों के मुताबिक रिवाइज करने के साथ ही अगले एक माह तक फाइनल हो जाएगा।

अभी लाडवा शहरी एरिया की जनसंख्या करीब 29 हजार है। पहला मास्टर प्लान करीब साढ़े 63 हजार की आबादी के हिसाब से डीटीपी ने तैयार किया है। डीटीपी का मानना है कि सन् 2031 तक करीब 48 प्रतिशत प्रति दशक की वृद्धि होगी। लाडवा अर्बन में अभी जनसंख्या घनत्व 138 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर है। प्लान में इसे 81 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर के तहत डेवलप करना प्रस्तावित है। मास्टर प्लान में जहां रेजिडेंशियल सेक्टर रखे हैं। वहीं कमर्शियल और इंडस्ट्री के लिए भी अलग से सेक्टर होंगे।

दिसंबर में हुआ था तैयार, अप्रैल में मंजूर : बता दें कि लाडवा मास्टर प्लान को पिछले साल दिसंबर में हुई जिला स्तरीय कमेटी में अप्रूवल मिली थी। इसके बाद इसे स्टेट लेवल कमेटी में भेजा। विधायक डॉ. पवन सैनी ने प्रयास करा इसे सीएम मनोहरलाल से गत चार अप्रैल को मंजूरी भी दिला दी। इस आपत्ति के बाद एक बारगी तो डीटीपी ने किसी तरह के बदलाव की गुंजाइश से इंकार कर दिया, लेकिन अब डीटीपी इसमें बदलाव कर रहा है। मास्टर प्लान नपा की सीमाओं के आसपास तक तैयार होगा। इसके चलते अभी प्रस्तावित सेक्टरों में भी बदलाव करना पड़ेगा।

63 हजार की आबादी के हिसाब से बनाया था प्लान, नपा चाहती है खुद की सीमाओं तक हो मास्टर प्लान, एक माह में फाइनल पब्लिकेशन

इंडस्ट्रीयल सेक्टर आबादी के निकट होने पर आपत्ति

मास्टर प्लान का ड्राफ्ट पब्लिकेशन हो चुका था। इसके एक माह बाद तक आपत्ति व दावे आदि मांगे जाते हैं। इस पर अर्बन लोकल बॉडी ने आपत्ति लगा दी। अर्बन लोकल बॉडी चाहता है कि मास्टर प्लान लाडवा में नपा एरिया तक के हिसाब से बनाया जाए। जबकि डीटीपी ने अर्बन कंट्रोल एरिया के हिसाब से इसे तैयार किया था। लाडवा नपा की सीमा पिपली मार्ग पर निवारसी कॉलोनी के निकट, शाहाबाद रोड पर धनौरा के पास, यमुनानगर मार्ग पर बंसल अस्पताल तक, करनाल मार्ग पर पेट्रोल पंप के पास तक है। जबकि डीटीपी द्वारा चारों तरफ 500 मीटर से एक किमी आगे तक प्लान तैयार किया था। इसके अलावा इंडस्ट्रीयल सेक्टर आबादी के निकट होने को लेकर भी आपत्ति है।

अभी आठ सेक्टर हैं प्रस्तावित

बता दें कि लाडवा डेवलपमेंट प्लान में कंट्रोल एरिया के तहत आसपास के 17 गांवों की कुल 3988 हेक्टेयर जमीन शामिल है, लेकिन अर्बन एरिया में 384 हेक्टेयर जमीन में करीब आठ सेक्टर डिवेलप होने हैं। इसमें से 181 हेक्टेयर भूमि पर सेक्टर वन, वन-ए, तीन व पांच समेत चार रिहायशी सेक्टर होंगे। इनमें एक इंडस्ट्रीयल, एक कमर्शियल, एक इंस्टीट्यूशनल, एक सेमी इंस्टीट्यूशनल सेक्टर अभी प्रस्तावित है। नई एनआईएलपी योजना और पंडित दीन दयाल जन योजना भी इसमें शामिल हैं : 22 हेक्टेयर जमीन पर कमर्शियल सेक्टर नंबर दो, 44 हेक्टेयर भूमि पर इंस्ट्रीयल सेक्टर होगा। लाडवा में सहारनपुर-यमुनानगर-पिपली-पिहोवा स्टेट हाइवे नंबर छह और करनाल इंद्री व लाडवा-शाहबाद रोड पर आइटी सेक्टर, 42 हेक्टेयर में पब्लिक व सेमी

पब्लिक यूटिलिटी सेक्टर के लिए प्रस्तावित हैं

181 हेक्टेयर में रेजिडेंशियल, 22 हेक्टेयर में कमर्शियल, 44 में इंस्ट्रीयल, 42 हेक्टेयर में ट्रांसपोर्ट, 23 हेक्टेयर में पब्लिक यूटिलिटी सेक्टर के लिए चिन्हित है।

फाइनल होने में लगेगा एक माह

डीटीपी सतीश पूनिया ने माना कि कुछ आपत्तियां लगी हैं। पूनिया के मुताबिक इन आपत्तियों को दूर किया जा रहा है। इसके लिए पहले से प्रस्तावित मास्टर प्लान में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं। इस प्रक्रिया में करीब एक महीना लग जाएगा। इसके बाद एसएलसी और फिर इसे फाइनल पब्लिकेशन के लिए भेजा जाएगा।

X
लाडवा मास्टर प्लान को सीएम की मंजूरी, नगर निकाय का ऑब्जेक्शन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..