--Advertisement--

एक माह से चल रहे गायत्री महायज्ञ का समापन

सनातन धर्म शिव मंदिर मेें सर्व कामना सिद्धि उपद्रव शांति के लिए चल रहे श्रीगायत्री महायज्ञ का पूर्णाहुति के साथ...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:10 PM IST
सनातन धर्म शिव मंदिर मेें सर्व कामना सिद्धि उपद्रव शांति के लिए चल रहे श्रीगायत्री महायज्ञ का पूर्णाहुति के साथ समापन हो गया। 108 कन्याओं का पूजन किया गया। यज्ञ के समापन पर मुख्य यजमान के रूप में डॉ. मोटी ने प|ी सहित हिस्सा लिया। पूर्णाहुति से पहले श्रद्धालुओं को प्रवचन करते हुए यज्ञ आचार्य पंडित सुरेश भारद्वाज ने कहा कि माघ मास में स्नान व यज्ञ का बहुत महत्व है। भारद्वाज ने यज्ञ व गायत्री महिमा का वर्णन करते हुए कहा कि संसार स्थूल व सूक्ष्म दो भागों में बंटा हुआ है। स्थूल पदार्थ वे जो आंखों से देखे जा सकते हैं। सूक्ष्म वो जो आंखों से नहीं दिखते हैं लेकिन फिर भी उनका अस्तित्व मौजूद रहता है। सर्दी, गर्मी, वायु, ईश्वर व रेडियो तरंगें अदृश्य होते हुए भी दृश्य के समान मौजूद हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..