--Advertisement--

फसली अवशेषों में लगाई आग, 30 के चालान

गेहूं के अवशेषों से सड़क किनारों पर खड़े वन विभाग के पेड़ों में लगने वाली आग से हर वर्ष लाखों रुपए के पेड़ जल जाते...

Dainik Bhaskar

May 27, 2018, 02:45 AM IST
फसली अवशेषों में लगाई आग, 30 के चालान
गेहूं के अवशेषों से सड़क किनारों पर खड़े वन विभाग के पेड़ों में लगने वाली आग से हर वर्ष लाखों रुपए के पेड़ जल जाते हैं। सरकार के सख्त निर्देशों के बावजूद किसान गेहूूं के अवशेषों में आग लगा रहे और अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे। आग सड़क किनारे खड़े-पौधों में लग जाती है। जिससे वन विभाग की हर वर्ष लाखों रुपए की लकड़ी जल जाती है व लगाई गए छोटे पौधे झुलस जाते है। पूंडरी सर्कल वन विभाग द्वारा जबकि खेतों में आग लगाने वाले ऐसे लगभग 30 लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए चालान काटे गए है। जिनका केस पर्यावरण कोर्ट कुरुक्षेत्र में चलेगा। पर्यावरण में बढ़ते प्रदूषण व सड़कों आग की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए जबकि सरकार ने हर क्षेत्र के तहसीलदार, बीडीपीओ, पटवारी व ग्राम सचिवों को निर्देश दिए है।

वन विभाग के रेंजर ऋषिराज बिश्नोई ने बताया कि उनके विभाग द्वारा अभी तक क्षेत्र के ऐसे लगभग 30 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है जिन्होंने खेतों में आग लगाई थी और उनकी वजह से वन विभाग को नुकसान हुआ है।

तहसीलदार सुदेश मेहरा ने बताया कि उनके पास जो भी आग लगाने की सूचना आई। उन्होंने तुरंत उसकी रिपोर्ट डीआरओ व एसडीएम कैथल को की। अन्य कर्मचारियों पटवारियों, ग्राम सचिव व सरपंचों की भी ड्यूटियां लगी है कि किसानों को गेहूं के बचे अवशेषों में आग लगाने से रोकना है, लेकिन वो नियमित रूप से इसकी सही जानकारी उपलब्ध नहीं करवाते है। जिससे किसान खेतों में पड़े अवशेषों में आग लगाए जा रहे है।

पंूउरी | जानकारी देते वन विभाग के रेंजर ऋषिराज बिश्नोई।

X
फसली अवशेषों में लगाई आग, 30 के चालान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..