• Hindi News
  • Haryana News
  • Pundri
  • गांव में 24 घंटे बिजली मिले, रिटा. चीफ इंजीनियर कर रहे जागरूक
--Advertisement--

गांव में 24 घंटे बिजली मिले, रिटा. चीफ इंजीनियर कर रहे जागरूक

बिजली निगम के रिटायर्ड चीफ इंजीनियर हरिकेश शर्मा जगमग जागरूकता रथ को गांव-गांव घुमा रहे। अब तक उनका ये रथ 400 से...

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 02:45 AM IST
बिजली निगम के रिटायर्ड चीफ इंजीनियर हरिकेश शर्मा जगमग जागरूकता रथ को गांव-गांव घुमा रहे। अब तक उनका ये रथ 400 से ज्यादा गांवों को कवर कर चुका। इनके साथ नाटक मंडली रहती है जो ग्रामीणों को बिजली चोरी रोकने और बिल भरने के लिए जागरूक करती है। हरिकेश शर्मा बिजली निगम से सितंबर 2017 में चीफ इंजीनियर के पद से रिटायर हो चुके लेकिन रिटायमेंट के समय समाज के लिए लगाना चाहते थे। इसलिए रिटायरमेंट के 10 दिन बाद भी निगम अधिकारियों से मिलकर जागरूकता अभियान शुरू करने की अनुमति मांगी और अभियान शुरू कर दिया। गांव में शहरों जैसी सुविधा है बिजली नहीं : हरिकेश शर्मा ने बताया कि गांव में शहरों की तरह अच्छी सड़कें, गलियां, पीने का पानी, शुद्ध वातावरण, स्कूल व खेल मैदान हैं लेकिन शहरों की तरह 24 घंटे बिजली नहीं आती। इस कार्य के लिए 26 जनवरी को कुरुक्षेत्र में स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज द्वारा प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित भी किया था।

2333 गांव व 5 जिले बन चुके जगमग गांव: जगमग योजना का लाभ उठाते हुए प्रदेश के 2333 गांव ऐसे हैं जिनमें 24 घंटे बिजली रहती है। 5 जिले पंचकूला, सिरसा, अम्बाला, फरीदाबाद व गड़गांव पूर्ण जगमग योजना में शामिल हो चुके हैं। समझाते हैं कि बिजली से सस्ती कोई चीज नहीं है। जरनेटर भी चलाते हैं तो 1 यूनिट का खर्च 20 से 25 रुपए पड़ता है। घर में लगाया इनवर्टर व इनवर्टर पहले ढाई यूनिट बिजली खाता है, फिर एक यूनिट बिजली देता है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..