Hindi News »Haryana »Pundri» पत्नी के शक करने से

पत्नी के शक करने से

पूंडरी के एयरफोर्स सार्जेंट ने ड्यूटी के दौरान इलाहाबाद में लगाया फंदा;प|ी के नाम सुसाइड नोट में लिखा-मेरे किसी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 12, 2018, 02:45 AM IST

पत्नी के शक करने से
पूंडरी के एयरफोर्स सार्जेंट ने ड्यूटी के दौरान इलाहाबाद में लगाया फंदा;प|ी के नाम सुसाइड नोट में लिखा-मेरे किसी दूसरी लड़की से संबंध नहीं, अब अच्छी तरह जी ले जिंदगी


प|ी के शक करने से परेशान एयरफोर्स में सार्जेंट गांव सिरसल निवासी राम निवास ने तीन सुसाइड नोट लिखकर ड्यूटी के दौरान यूपी के इलाहाबाद में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक ने प|ी-पिता और ट्रेनी के नाम से अलग-अलग तीन सुसाइड नोटों में अपने मन की बात कह मर्जी से सुसाइड करने की बात कही है। विभागीय व पुलिस कार्रवाई के बाद 34 वर्षीय राम निवास का शव परिजनों को मिल गया। अंतिम संस्कार के लिए पैतृक गांव सिरसल में ले आए। मंगलवार को अंतिम संस्कार किया जाएगा।

पिता पुरुषोत्तम दास ने बताया कि उसके तीन बेटे और एक बेटी है। दूसरे नंबर के बेटे रामनिवास ने 20 वर्ष की आयु में 14 वर्ष पहले एयरफोर्स ज्वाइन की थी। तब से अलग-अलग जगह ड्यूटी लग रही थी। दो साल से इलाहाबाद में तैनात था। 15 दिन पहले घर पर रहने के बाद ड्यूटी पर लौटा था। घर पर बताकर गया था कि 20 दिन बाद उसकी बदली दूसरी जगह हो जाएगी। बदली में पांच दिन बचे थे। घर पर रामनिवास ने उनको किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं बताई। उन्होंने बताया कि रविवार को घर पर डॉक्टर का फोन आया और बताया कि काफी प्रयास किया पर रामनिवास को नहीं बचा सके।

सिरसल निवासी रामनिवास। फाइल फोटो

15 दिन पहले अपने गांव सिरसल से छुट्टी काट कर गया था रामनिवास

बच्चों का ख्याल रखना :दो पेज के सुसाइड नोट में प|ी को लिखा, ‘मेरा किसी भी दूसरी लड़की से संबंध नहीं है। बेवजह शक करने से परेशान था। मामले में कोई सफाई भी नहीं दे सकता हूं। जंजीर खरीदने के लिए एक ज्वेलर्स के यहां पैसा जमा कर चुका हूं। अपनी जिंदगी अच्छी तरह जी सकती हो लेकिन बच्चों का ख्याल रखना।

पिता को लिखा-मैंने अपनी मर्जी से की आत्महत्या, प|ी को परेशान न करना

माता-पिता के नाम लिखे सुसाइड नोट में कहा कि मैं आप लोगों से बहुत प्यार करता हूं लेकिन खुश नहीं रख सकता। मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं। मेरी प|ी को परेशान न करना। तीसरा नोट ट्रेनी के नाम लिखा गया। इसमें कहा कि मैं जा रहा हूं। आप लोग अपने कार्य को बेहतर ढंग से करते रहना।

बड़ी बेटी छह और छोटी तीसरी कक्षा में :रामनिवास इलाहाबाद में अपनी प|ी और दो बेटियों के साथ रहता था। बड़ी बेटी 10 वर्षीय मन्नत छठी कक्षा व सात वर्षीय सेजल तीसरी कक्षा की छात्रा है। दोनों का पिता की मौत के बाद घर में रो-रोकर बुरा हाल है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pundri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×