Hindi News »Haryana »Pundri» फूडग्रेन डीलर एसो. का आरोप: अफसरों और ठेकेदार की मिलीभगत से हो रहा धीमा उठान

फूडग्रेन डीलर एसो. का आरोप: अफसरों और ठेकेदार की मिलीभगत से हो रहा धीमा उठान

अनाज मंडी में उठान धीमी गति से होने के कारण आढ़तियों में काफी रोष है। मंडी फूड ग्रेन डीलर एसोसिएशन ने अधिकारियों...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 04, 2018, 02:50 AM IST

फूडग्रेन डीलर एसो. का आरोप: अफसरों और ठेकेदार की मिलीभगत से हो रहा धीमा उठान
अनाज मंडी में उठान धीमी गति से होने के कारण आढ़तियों में काफी रोष है। मंडी फूड ग्रेन डीलर एसोसिएशन ने अधिकारियों पर ठेकेदार से मिलीभगत होने के आरोप जड़ते हुए कहा कि जानबूझकर धीमी गति से उठान किया जा रहा है, ताकि बाद में घटती आने पर आढ़तियों से वसूली जाए।

एसोसिएशन के प्रधान बाबूराम उर्फ रूप चंद ने इस मामले से प्रशासनिक अधिकारियों डीसी, एडीसी व एसडीएम को अवगत करवाया। उन्होंने डीसी को शिकायत करते हुए बताया कि बारिश होने से पहले मंडी से बाहर 50 फुटा रोड पर कच्चे में एजेंसियों के कट्टे पड़े हुए है। जो बारिश होने पर गेहूं खराब हो सकता है। इसके बावजूद भी संबंधित एजेंसी हैफेड द्वारा मंडी से बाहर पड़े गेहूं की लोडिंग नहीं की गई। मंडी में गेहूं की आवक नाममात्र है। उसके बावजूद भी मंडी में तीनों खरीद एजेंसियों के लगभग 1.45 लाख कट्टा गेहूं पड़ा हुआ है।

हैफेड अधिकारी उल्टा मार्केट कमेटी सचिव को आढ़तियों द्वारा किसान का गेहूं सुरक्षित ना रखने का आरोप लगाते हुए आढ़तियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात करते है और उच्चाधिकारियों को मंडी से बाहर एजेंसी के कट्टे ना होने की बात कर रहे है।

हैफेड मैनेजर कर रहा अधिकारियों को गुमराह : बाबू राम

प्रधान बाबू राम ने बताया कि उनके द्वारा उच्चाधिकारियों को जब मंडी से बाहर 50 फूटा रोड पर गेहूं पड़ा होने की शिकायत की जाती है तो उसके जवाब में हैफेड मैनेजर अधिकारियों को गुमराह करता है कि 50 फूटा रोड़ पर एक भी कट्टा नहीं है। यही बात मंडी नोडल अधिकारी डीआरओ द्वारा कही जाती है। उन्हें फोन कर बताया जाता है कि वे झूठ बोल रहे है वहां कोई कट्टा नहीं है। जिसके बाद वे मार्केट कमेटी सचिव चरणदास व अन्य आढ़तियों को लेकर पहुंचते है तो उनके पहुंचने से पहले ही मैनेजर वहां से चले जाते है, जबकि वहां पर मंडी की फर्म सतनाम ट्रेडिंग कंपनी द्वारा एजेंसी को दिए गए 5500 कट्टे पड़े हुए थे। अधिकारी ठेकेदार से मिलीभगत कर एजेंसी के करोड़ों रुपए के गेहूं को बर्बाद करने लगे हुए है। प्रधान ने कहा कि सरकार के आदेशानुसार 72 घंटे में गेहूं का उठान करना होता है। मंडी में पड़े गेहूं को सप्ताह भर हो गया है, ऐसे में आढ़ती एक किलोग्राम की भी घटती नहीं देंगे।

पूंडरी |मंडी प्रधान बाबू राम जानकारी देते हुए।

मंडी में बारिश के दौरान एक किसान की भी गेहूं कि ढेरी नहीं भीगा। किसान का गेहूं या तो तिरपाल से ढका हुआ था या फिर शेड के नीचे था। हैफेड एजेंसी के लगभग 5500 कट्टे 50 फूटे रोड़ पर पड़े हुए थे। जिसके लिए उन्होंने बार-बार मैनेजर को भी उठान करने के लिए कहा। -चरणदास, सचिव, मार्केट कमेटी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pundri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×