• Hindi News
  • Haryana
  • Pundri
  • पर्स घर भूले, पानी के लिए नहीं था पैसा, तब से बसों में यात्रियों को पानी पिला रहे कांस्टेबल सुनील
--Advertisement--

पर्स घर भूले, पानी के लिए नहीं था पैसा, तब से बसों में यात्रियों को पानी पिला रहे कांस्टेबल सुनील

गांव बरटा निवासी पुलिस कांस्टेबल के पद पर कार्यरत सुनील संधू अनाज मंडी में गुरु ब्रह्मानंद सेवा समिति द्वारा...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 02:50 AM IST
पर्स घर भूले, पानी के लिए नहीं था पैसा, तब से बसों में यात्रियों को पानी पिला रहे कांस्टेबल सुनील
गांव बरटा निवासी पुलिस कांस्टेबल के पद पर कार्यरत सुनील संधू अनाज मंडी में गुरु ब्रह्मानंद सेवा समिति द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में रक्तदान करने पहुंचे। मौके पर उन्होंने सभी लोगों को तिरंगा भेंट किया। संधू ने बताया कि उनकाे यह प्रेरणा उस एक घटना से मिली जब एक बार वे घर से ड्यूटी के लिए निकले तो पर्स भूल गए। जेब में मात्र 14 रुपए थे। रास्ते में प्यास लगी पानी खरीदने के लिए 20 रुपए चाहिए थे जो कि नहीं थे। इसके बाद उन्होंने ठान लिया कि जब भी घर से निकलेंगे घर से पानी का कैंपर साथ लेकर जाऐंगे और रास्ते में लोगों को पानी की सेवा करेंगे ताकि गरीब लोगों को पैसा न खर्च करना पड़े। जब वे बस में सफर करते है सबसे पहले लोगों को पानी पिलाते हैं। उस दिन से शुरू हुआ सिलसिला आज तक जारी है। यही नहीं वे अपने पैसे से तिरंगा खरीद लोगों में वितरित करते हैं।

X
पर्स घर भूले, पानी के लिए नहीं था पैसा, तब से बसों में यात्रियों को पानी पिला रहे कांस्टेबल सुनील
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..