• Hindi News
  • Haryana
  • Pundri
  • बिजली कटौती व अतिरिक्त शुल्क लगाने से उद्योग संचालकों में रोष, जमकर नारेबाजी

बिजली कटौती व अतिरिक्त शुल्क लगाने से उद्योग संचालकों में रोष, जमकर नारेबाजी / बिजली कटौती व अतिरिक्त शुल्क लगाने से उद्योग संचालकों में रोष, जमकर नारेबाजी

Pundri News - बिजली कटौती व बिलों में अतिरिक्त शुल्क लगाए जाने के विरोध में लघु उद्योग संगठन कार्यकर्ताओं ने बिजली निगम के...

Bhaskar News Network

May 26, 2018, 02:55 AM IST
बिजली कटौती व अतिरिक्त शुल्क लगाने से उद्योग संचालकों में रोष, जमकर नारेबाजी
बिजली कटौती व बिलों में अतिरिक्त शुल्क लगाए जाने के विरोध में लघु उद्योग संगठन कार्यकर्ताओं ने बिजली निगम के खिलाफ नारेबाजी की। संगठन कार्यकर्ताओं की बैठक हरियाणा व्यापार मंडल जिला उपाध्यक्ष हरीशलाल के प्रतिष्ठान पर हुई।

जिसमें लघु उद्योग संचालकों ने बिजली कटौती और इस बार एसपी कनेक्शनों पर बिजली के बिलों के साथ लगाए गए अतिरिक्त शुल्क जो 6 हजार से 9 हजार रुपए तक लगाया गया है, उसका विरोध किया गया। हरीशलाल ने बताया कि उनका एक शिष्टमंडल इस समस्या को लेकर संबंधित एसडीओ को मिला था और समस्या से अवगत करवाया था, लेकिन उन्होंने उनकी समस्या का कोई भी हल करने की बजाए कुछ भी करने में असमर्थता जताई। लघु उद्योग पहले ही आर्थिक मंदी की मार झेल रहा है। बिजली कटौती के चलते काम भी ठीक से नहीं हो रहा है, उधर बिजली बिलों में अतिरिक्त शुल्क लगाकर भेज दिया। उन्होंने सरकार से लगाए गए अतिरिक्त शुल्क को खत्म करने की मांग की। इस मामले को लेकर लघु उद्योग संचालक शनिवार को कार्यकारी अभियंता को भी मिलकर अपनी मांगों के समर्थन में ज्ञापन सौंपेंगे। उनकी समस्या का हल नहीं किया गया तो वे प्रदेश स्तर पर व्यापार संगठनों से बात कर सरकार के खिलाफ कोई रूपरेखा तैयार करेंगे।

पूंडरी | बिजली निगम के खिलाफ नारेबाजी करते लघु उद्योग संचालक।

उद्योग करना होगा बंद : कश्यप

संगठन अध्यक्ष धर्मपाल कश्यप ने कहा कि अगर सरकार ने लघु उद्योग संचालकों के साथ कठोर रवैया अपनाया तो वे अपना उद्योग बंद करने पर मजबूर होंगे। मौके पर सचिव रजनीश गर्ग, अनुराग मित्तल , संजय सिंगला, विजय शर्मा, गौरव गर्ग, सन्नी वालिया, इंद्रजीत वालिया, बलवंत वालिया, सुरेश बिहान, सतीश कुमार, धर्मपाल, राजेंद्र कुमार, शमशेर व ओमप्रकाश भी मौजूद रहे।

X
बिजली कटौती व अतिरिक्त शुल्क लगाने से उद्योग संचालकों में रोष, जमकर नारेबाजी
COMMENT