पूंडरी

--Advertisement--

सात दिवसीय महारुद्र यज्ञ में दी आहुति

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गांव करोड़ा में आयोजित 7 दिवसीय महारुद्र यज्ञ के अंतिम दिन पूर्णाहुति अर्पित की गई,...

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2018, 02:55 AM IST
गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गांव करोड़ा में आयोजित 7 दिवसीय महारुद्र यज्ञ के अंतिम दिन पूर्णाहुति अर्पित की गई, जिसमें क्षेत्र के अनेक श्रद्धालुओं ने परिवार सहित भाग लिया और आहुति डाली। इस अवसर पर महंत बाबा खुशीनाथ करोड़ा ने कहा कि भगवत प्राप्ति और जीवन की चरम परिणति मोक्ष, गुरु कृपा से ही संभव है। शिष्य को जिज्ञासु होना चाहिए, व्यर्थ के तर्कों में न स्वयं उलझेें न ही गुरु को उलझाएं। दूसरा आस्थावान होना चाहिए। बिना श्रद्धा के न तो ज्ञान मिल सकता है और न ही गुरु की कृपा। तीसरा चरित्रवान बनना होगा। शुद्ध चरित्रवान व्यक्ति या शिष्य ही गुरु कृपा का मोक्ष का अधिकारी बन सकता है। इस अवसर पर एक विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें सैकडों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

X
Click to listen..