Hindi News »Haryana »Pundri» गेहूं की 1.50 करोड़ रुपए की आदयगी न होने से आढ़तियों में रोष, धरने की चेतावनी

गेहूं की 1.50 करोड़ रुपए की आदयगी न होने से आढ़तियों में रोष, धरने की चेतावनी

डीएफएससी द्वारा गेहूं की लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की अभी तक अदायगी न किए जाने से अनाज मंडी आढ़तियों में विभाग के प्रति...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 12, 2018, 03:25 AM IST

गेहूं की 1.50 करोड़ रुपए की आदयगी न होने से आढ़तियों में रोष, धरने की चेतावनी
डीएफएससी द्वारा गेहूं की लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की अभी तक अदायगी न किए जाने से अनाज मंडी आढ़तियों में विभाग के प्रति काफी रोष है। आढ़तियों ने शीघ्र अदायगी न किए जाने के विरोध में कार्यालय के सामने धरना देने की चेतावनी दी। अनाज मंडी फूडग्रेन डीलर एसोसिएशन प्रधान बाबूराम मुंदड़ी ने कहा कि मंडी में इस बार 3 एजेंसियां हैफेड, वेयरहाउस व डीएफएससी ने गेहूं की खरीद की थी। हैफेड व वेयरहाउस ने गेहूं की सारी पेमेंट सीजन के दौरान ही कर दी थी, लेकिन डीएफएससी विभाग द्वारा सीजन के ढाई महीने बीत जाने के बाद भी अभी तक पेमेंट नहीं की है। मंडी आढ़ती बकाया पेमेंट लगभग डेढ़ करोड़ रुपए को लेकर कई बार विभाग के अधिकारियों से मिल भी चुके लेकिन विभागीय अधिकारी हर बार बजट न होने का बहाना बनाकर टाल देते हैं। बुधवार को भी उन्होंने विभागीय अधिकारियों से मोबाइल पर संपर्क करना चाहा, लेकिन विभाग के किसी भी अधिकारी ने उनका फोन नहीं उठाया। आढ़तियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर विभाग ने एक हफ्ते के अंदर मंडी की बकाया राशि नहीं दी तो वे विभाग के कार्यालय के सामने आढ़तियों के साथ धरना देंगे जिसकी जिम्मेवारी विभाग की होगी।

अनाज मंडी एसोसिएशन दूसरे गुट के प्रधान कमलदीप हाबड़ी ने कहा कि एक ओर जहां सरकार 72 घंटे में गेहूं के भुगतान का दावा करती रही है, वहीं पूंडरी अनाज मंडी के लगभग डेढ़ करोड़ की राशि का बकाया रहना सरकार के दावों की पोल खोल रहा है। पैसे की तंगी के चलते और विभाग द्वारा पेमेंट न करने के कारण आढ़तियों को काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है।

कैथल | जानकारी देते एक गुट के मंडी प्रधान बाबूराम मुंदड़ी।

गेहूं सीजन में काटते हंै कटौती, तो लेट पेमेंट का दें ब्याज

मंडी के आढ़तियों ने रोष स्वरूप कहा कि सीजन के दौरान सरकार का दावा होता है कि 24 घंटे के अंदर खरीद किए गए गेहूं का उठान और 72 घंटे में होगी पेमेंट की अदायगी। सीजन के दौरान देरी से उठान होने पर आढ़तियों से ही घटती काटी जाती है, लेकिन अब आढ़तियों ने किसानों की पेमेंट अपनी जेब से की हुई है, तो पेमेंट लेट होने पर विभाग ब्याज समेत अदा करें पेमेंट।

उच्चाधिकारियों के संपर्क में हैं और शीघ्र ही मंडी की बकाया पेमेंट करवा दी जाएगी। पेमेंट देरी पर उन्होंने कहा कि बजट की कमी के चलते अभी तक पेमेंट नहीं हो पाई थी और आज शाम तक विभाग के पास बजट आने की उम्मीद है। विजेंद्र सिंह, विभाग के इंस्पेक्टर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pundri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×