Hindi News »Haryana »Pundri» फल्गु मेले की तैयारी, डीसी का दौरा-सरपंच-बीडीपीओ को फटकार

फल्गु मेले की तैयारी, डीसी का दौरा-सरपंच-बीडीपीओ को फटकार

गांव फरल में सितंबर में लगने वाले प्रसिद्ध फल्गु तीर्थ मेले की तैयारियों को लेकर डीसी सुनीता वर्मा ने मंगलवार को...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 04, 2018, 03:30 AM IST

फल्गु मेले की तैयारी, डीसी का दौरा-सरपंच-बीडीपीओ को फटकार
गांव फरल में सितंबर में लगने वाले प्रसिद्ध फल्गु तीर्थ मेले की तैयारियों को लेकर डीसी सुनीता वर्मा ने मंगलवार को प्रशासनिक अधिकारियों के साथ तीर्थ का दौरा किया। मेले के लिए डीसी ने ग्रामीणों से भी सुझाव लिये। भास्कर द्वारा फल्गु तीर्थ मेले में होने वाली दिक्कतों को प्रमुखता से प्रकाशित करने के बाद प्रशासन जागा है। ग्रामीणों ने सुझाव दिए कि तीर्थ के प्लेटफार्म व घाटों पर लगे पत्थर बदले जाएं।

गांव को अन्य स्थानों से जोड़ने वाली 6 मुख्य सड़कों की रिपेयर व मुख्य मार्ग ढांड-पूंडरी का निर्माण मेले से पहले कराया जाए। विस्तारक तीर्थ का कार्य पूरा कराया जाए। विस्तारक तीर्थ के पास से कौल जाने वाली सड़क तक नया बाईपास बनाया जाए। गांव सरपंच अमरेंद्र सिंह, गुणी प्रकाश, कश्मीर सिंह, राजकुमार व सतपाल ने बताया कि मेले के दौरान टूटी सड़कें व पानी निकासी मुख्य समस्या है। मौके पर एडीसी पार्थ गुप्ता, एसडीएम कमलप्रीत कौर, जगदीप सिंह, डीएसपी सतीश गौतम, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कंवर दमन सिंह, बीडीपीओ सुमित चौधरी, सिविल सर्जन डॉ. एसके नैन व कार्यकारी अभियंता आरके गोयल मौजूद रहे। सुनीता वर्मा ने कहा कि 25 सितंबर से 8 अक्टूबर तक लगने वाले मेले के लिए उनके पास लगभग 3 महीने हैं। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि मेले से पहले सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएंगी। ग्रामीणों ने बताया कि 1981 के मेले के दौरान तत्कालीन डीसी केसी शर्मा ने तीर्थ का जीर्णोद्धार कराया था। उन्होंने तीर्थ को पक्का करवा घाट बनवाए थे और पूरे तीर्थ पर राजस्थानी लाल पत्थर लगवाया था। ग्रामीणों ने उन्हें याद करते हुए कहा कि उनके द्वारा कराए कार्यों को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने डीसी से मांग की कि तीर्थ का जीर्णोद्धार कराएं।

यहां पांडवों ने किया था पिंडदान :फल्गु तीर्थ का इतिहास महाभारत काल से जुड़ा है। कहा जाता है कि पांडवों ने युद्ध के बाद अपने सगे-संबंधियों की आत्मिक शांति के लिए यहां पिंडदान व तर्पण करवाया था। तीर्थ का उल्लेख महाभारत के वन पुराण, वामन, मत्स्य पुराण, अग्नि पुराण व नारद पुराण में भी आता है।

फल्गु मेले की तैयारियों का जायजा लेतीं डीसी सुनीता वर्मा व अन्य प्रशासनिक अधिकारी।

मेले से पहले बनाएं सड़कें

तीर्थ का मुआयना करते हुए डीसी ने वहां पास ही गंदगी के ढेर को देख सरपंच और बीडीपीओ को फटकार लगाते हुए कहा कि उनके आगामी दौरे से पहले गांव से गंदगी साफ हो जानी चाहिए और पॉलीथिन तक नजर नहीं आने चाहिए। उन्होंने पीडब्ल्यूडी के एक्सईन को मेले से पहले सड़कें बनाने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Pundri

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×