• Hindi News
  • Haryana News
  • Pundri
  • गुरु के त्याग और तप को समर्पित है गुरु पूर्णिमा-स्वामी रविगिरी
--Advertisement--

गुरु के त्याग और तप को समर्पित है गुरु पूर्णिमा-स्वामी रविगिरी

पूंडरी | स्वामी रविगिरी महाराज ने कहा कि सनातन संस्कृति में गुरु पूर्णिमा का बहुत महत्व है। गुरु के त्याग और तप को...

Dainik Bhaskar

Jul 27, 2018, 03:35 AM IST
पूंडरी | स्वामी रविगिरी महाराज ने कहा कि सनातन संस्कृति में गुरु पूर्णिमा का बहुत महत्व है। गुरु के त्याग और तप को समर्पित होती है गुरु पूर्णिमा। गुरु पूर्णिमा 26 जुलाई की रात 11.16 बजे से 27 जुलाई की रात 1.50 बजे तक है। इस दिन चंद्र ग्रहण होने की वजह से ग्रहण के सूतक दोपहर 2.54 बजे से पहले ही गुरु की पूजा करनी सर्वोवतर है। गुरु पूर्णिमा के दिन गुरु की पूजा का महत्व होता है। गुरु के बिना ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती है। इस मौसम को अध्ययन के लिए उपयुक्त माना गया है। गुरु पूर्णिमा के दिन ही महाभारत के रचयिता वेद व्यास जिन्होंने चारों वेदों की भी रचना की थी, भक्तिकाल के संत घीसादास का जन्म इसी दिन हुआ था

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..