--Advertisement--

अब टोपराकलां में विधायक का विरोध

किसानों पर मुकदमे दर्ज होने के बाद से लेकर विधायक श्याम सिंह राणा को क्षेत्र के गांवों में पहुंचने पर किसानों के...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:45 AM IST
किसानों पर मुकदमे दर्ज होने के बाद से लेकर विधायक श्याम सिंह राणा को क्षेत्र के गांवों में पहुंचने पर किसानों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। रविवार को जब विधायक राणा सुबह पांच बजे गांव टोपराकलां में पहुंचे तो यहां भी विधायक को किसानों के गुस्से का शिकार होना पड़ा। किसानों ने विधायक पर लाठीचार्ज करवाने व किसानों पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाने के आरोप लगाए। वहीं विधायक ने आरोपों को सिरे से नकारते हुए किसानों की आवाज को विधानसभा में बुलंद करने की बात कही। लेकिन किसान विरोध करते रहे।

इस अवसर पर किसान नेता संदीप टोपरा, रमेश कुमार, ईश्वर, बिल्लू, रामकुमार, प्रवेश, सुरेश, प्रदीप ने कहा कि उनकी सरकार ने 22 फरवरी को निहत्थे किसानों पर रादौर में लाठीचार्ज करवाया और उन पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाए। आज तक किसी भी सरकार ने किसानों के ट्रैक्टर ट्रालियों को थानों में बंद नहीं किया था। भाजपा पहली ऐसी सरकार है, जिसने किसानों के 40 से ज्यादा ट्रैक्टर ट्राॅली थानों में बंद किए। किसानों ने इसके लिए अनिश्चितकालीन आंदोलन चलाया। लेकिन विधायक एक सप्ताह तक उनसे मिलने तक नहीं आए। विधायक ने किसानों की अनदेखी की है। इसके लिए किसान विधायक को कभी माफ नहीं करेंगे। उनकी मांग है कि विधायक किसानों पर बनाए गए झूठे मामलों को सरकार से वापस करवाए। जब तक ऐसा नहीं होगा तो किसान उनका गांव में आने पर विरोध करना जारी रखेंगे। विधायक किसानों के समक्ष उनकी आवाज को सरकार तक पहुंचाने का दावा करते रहे। लेकिन किसानों ने उनकी एक नहीं सुनी और विरोध जारी रखा।

केस वापस लेने को लेकर किसानों ने अब तक विधायक श्यामसिंह राणा का गांव धानुपुरा, मंसुरपुर, अमलोहा, सिलीकलां, चमरोडी, बुबका व टोपराकलां में पहुंचने पर किसानों ने विरोध किया है। किसान नेता संजू गुंदयाना ने कहा कि जब तक मुकदमे वापस नहीं होंगे तब तक किसान विधायक का रादौर क्षेत्र के गांवों में पहुंचने पर इसी प्रकार विरोध करते रहेंगे।