Hindi News »Haryana »Radaur» दलित बस्तियों पर हमले में अरेस्ट 18 युवक 3 राज्यों से, आरोपी बोले- महाराणा जयंती के प्रचार को आए थे

दलित बस्तियों पर हमले में अरेस्ट 18 युवक 3 राज्यों से, आरोपी बोले- महाराणा जयंती के प्रचार को आए थे

रादौर | गांव एमटी करहेडा में विवाद के चलते एक जगह बैठी दलित समाज की महिलाए व पुरुष। अब गांव में समझौते की...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 02:55 AM IST

  • दलित बस्तियों पर हमले में अरेस्ट 18 युवक 3 राज्यों से, आरोपी बोले- महाराणा जयंती के प्रचार को आए थे
    +1और स्लाइड देखें
    रादौर | गांव एमटी करहेडा में विवाद के चलते एक जगह बैठी दलित समाज की महिलाए व पुरुष।

    अब गांव में समझौते की पंचायतों के चल रहा दौर

    गांव में दलित युवक द्वारा स्वर्ण जाति की युवती को ले जाने के बाद यह पूरा विवाद हुआ था। दलितों के घरों में तोड़फोड़ हुई और मारपीट की गई। अब गांव में दोनों पक्ष समझौते की तरफ बढ़ रहे हैं। पहले जहां दलित पक्ष को पंचायत में बुलाकर युवती वापस लाने का दबाव बनाया जा रहा था, वहीं अब समझौते के प्रयास किए जा रहे हैं। सोमवार को भी दो बार दलित और सवर्णों के बीच मीटिंग हुई। हालांकि इसमें समझौते की बात सिरे नहीं चढ़ी। गांव के सरपंच भूषण राणा का कहना है कि गांव में आपसी भाईचारे के लिए दोनों पक्षों के बीच बातचीत की जा रही है। इसको लेकर पीस कमेटी भी बनाई गई है। दलित पक्ष की ओर से कमेटी में सुभाष, लाल सिंह, हंसराज, शीशपाल व रमेश को शामिल किया गया है।

    गिरफ्तार युवकों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा

    जठलाना थाना एसएचओ दीदार सिंह ने बताया कि एमटी करहेडा गांव में तोड़फोड़ किए जाने के मामले को एमटी करहेड़ा निवासी शुभम उर्फ शिवा, मोहित कुमार, नीरज कुमार, सौरभ, पुष्पेंद्र, अंकुर, विशाल, कुुरुक्षेत्र के गांव तनगौर निवासी अमित ठाकुर, अम्बाला के गांव बीबीपुर निवासी सौरभ, शुभम, जठलाना निवासी कुलदीप सिंह, कुरुक्षेत्र के गांव बीड मथाना निवासी राहुल, मुकुरपुर निवासी चंद्रमोहन, मेरठ के गांव मुलहेड़ा निवासी कपिल, दिल्ली निवासी संदीप, अम्बाला के शहजादपुर निवासी गौरव, दिल्ली निवासी नवनीत राणा, मेरठ के सरदाना निवासी अमित को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इनमेें चंद्रमोहन उर्फ मोहित और संदीप दलित हैं। पुलिस का दावा है कि ये दोनों भी हमले में शामिल थे। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं।

    पुलिस ने नहीं सुनी, हमें फंसाया : आरोपी

    आरोपी अमित ठाकुर ने बताया कि उन्होंने न तो किसी पर हमला किया और न ही किसी को जाति सूचक शब्द कहे। पुलिस ने बिना बताए के उन्हें गिरफ्तार किया है। जिस दिन एमटी करहेड़ा में यह पूरा विवाद हुआ हैं, हम उस दिन अपनी बिरादरी के गांवों में महाराणा प्रताप जयंती के कार्यक्रम का प्रचार करने आए हुए थे। सफीदाें में 20 मई को राष्ट्रीय स्तर का यह कार्यक्रम होगा। वे उस रात जठलाना मेें प्रचार कर रहे थे, पुलिस ने उन्हें वहां से पकड़ लिया। न तो कोई जांच हुई और न ही उनकी बात सुनी गई। उन्हें झूठे केस में फंसा दिया।

  • दलित बस्तियों पर हमले में अरेस्ट 18 युवक 3 राज्यों से, आरोपी बोले- महाराणा जयंती के प्रचार को आए थे
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Radaur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×