Hindi News »Haryana »Rania» ‘खाटाे पीवणाें, मस्त रेवणाें अर मेहनत करणी ही जवानी गो राज’

‘खाटाे पीवणाें, मस्त रेवणाें अर मेहनत करणी ही जवानी गो राज’

खाटाे पीवणाें, मस्त रेवणाें अर जी ताेड़ मेहनत करणी ही जवानी गो राज है। दिनगै बेगो उठनो अर खेत म्ंय जार काम करण हूं...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 13, 2018, 05:15 AM IST

खाटाे पीवणाें, मस्त रेवणाें अर जी ताेड़ मेहनत करणी ही जवानी गो राज है। दिनगै बेगो उठनो अर खेत म्ंय जार काम करण हूं ही लंबी उम्र तार्इ स्वस्थ रै सको। अा बात आज ग टाबरां नै पतो होणी चाइय। ऐसा कहना है गांव सकताखेड़ा निवासी पूर्व विधायक सहीराम बिश्नोई का। वे आज अपने जीवन के 98वें साल में प्रवेश कर चुके हैं।

शुक्रवार को वयोवृद्ध पूर्व विधायक एवं एडवोकेट सहीराम बिश्नोई के आवास पर समर्थकों व परिवारजनों ने 98वां जन्म दिवस मनाया। उन्होंने अपने जीवन के इस 98वां साल स्वास्थ्य एवं इमान जागरूकता के तौर पर मनाने का आह्वान किया है। जिसके तहत तीन राज्यों में युवा पंचायत जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन होगा। भास्कर से विशेष बातचीत में सहीराम बिश्नाेर्इ ने बताया कि वे सुबह जल्दी उठते हैं और खेतों में काम करने चले जाते हैं। वे चाय भी नहीं पीते, दाेपहर में मात्र दाे रोटी खाते हैं। गाय का दूध व छाछ ।खाटाे। पीते हैं, सर्दियों एलाेविरा व खाेया की पिन्नी खाते हैं जबकि हमेशा से बिना खाद व कीटनाशक की सब्जियां खुद लगा रहे हैं। वहीं पकाई जाती हैं। आज मौसम आने से पहले ही उनकी क्यारी में कद्दू की बेल तैयार है। उन्होंने बताया कि सुबह जल्दी उठना और रात को जल्दी सोने के साथ साथ खाद कीटनाशक रहित सब्जियों व खाद्य पदार्थों का सेवन सेहत का राज है। इसके अलावा कड़ी मेहतन करनी चाहिए रोजाना पसीना आना जरूरी है। आज वे 98वें साल में हैं लेकिन पसीना अाने तक अपनी बाड़ी में मेहनत करते हैं। जमाने के अनुसार अपडेट रहने के लिए रोजाना सुबह व शाम दो घंटे रेडियो सुनते हैं, सुबह दैनिक भास्कर अखबार पढ़ना अाैर दाेपहर काे उर्दू व हिंदी की मैगजीन पढ़ना, अपनी डायरी व हिसाब किताब लिखना हाेता है।

आज वे 98वें साल में हैं लेकिन पसीना अाने तक अपनी बाड़ी में मेहनत करते हैं। जमाने के अनुसार अपडेट रहने के लिए रोजाना सुबह व शाम दो घंटे रेडियो सुनते हैं, सुबह दैनिक भास्कर अखबार पढ़ना अाैर दाेपहर काे उर्दू व हिंदी की मैगजीन पढ़ना, अपनी डायरी व हिसाब किताब लिखना हाेता है। सर्दियों में मेवे खाना वहीं तली चीजें व फास्ट फूड नहीं खाना चाहिए। अाज 98वें साल में उनके दांत सही हैं अाैर नजरें खूब हैं। उन्होंने बताया कि पढ़ना और रूचि से हर काम करना ही मनोरंजन है।

इस साल को वे युवाओं के बीच जाकर पंचायत करेंगे और उन्हें सेहत का राज बताने के साथ साथ ईमानदारी का कायम रखने की अपील करेंगे। इसके लिए वे अपनी सदस्यता वाली शहीद भगत सिंह लाइब्रेरी को निर्देश दे चुके हैं। आगामी माह से तीन राज्यों हरियाणा, पंजाब व राजस्थान में युवा जागरूकता पंचायतें करेंगे।

उल्लेखनीय है कि गांव सकताखेड़ा निवासी संयुक्त पंजाब के पूर्व विधायक सहीराम बिश्नोई हिंदी आंदोलन 1957 में सत्याग्रही रहे और तत्कालीन संयुक्त पंजाब के वक्त 1957 में हिसार सिरसा फाजिल्का एरिया की अबोहर सीट से जनसंघ के विधायक बने थे। इस दौरान पंजाब विधानसभा में बिश्नोई समाज के सदस्य के तौर पर पहले विधायक बनकर पहुंचे थे। इस माैके पर उनके बेटे रघुबीर धारनियां, अोमप्रकाश, पाैत्र उमेद, रिया, महक, प्रांजल, हरदीप सिंह, डाॅ. विवेक करीर, सरपंच यादवीर सिंह जादू, परमजीत सिंह धुन्ना, कुलविंद्र सिंह, परमिंद्र सिंह, सुखचरण सिंह, रवी खीचड़, सुधीर, गजेंद्र आदि थे।

पूर्व विधायक सहीराम बिश्नोई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rania

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×