• Home
  • Haryana News
  • Ratia
  • रतिया में पंजाब का ऐसा क्षेत्र, जहां हरियाणा पुलिस करती है गश्त, नहर टूटने पर सिंचाई विभाग संभालता है, बीएंडआर को बनानी पड़ रहीं सड़कें
--Advertisement--

रतिया में पंजाब का ऐसा क्षेत्र, जहां हरियाणा पुलिस करती है गश्त, नहर टूटने पर सिंचाई विभाग संभालता है, बीएंडआर को बनानी पड़ रहीं सड़कें

जहां एक तरफ पंजाब, हरियाणा को एसवाईएल के पानी की एक बूंद भी देने को तैयार नहीं है, वहीं रतिया में पंजाब का ऐसा काफी...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:45 AM IST
जहां एक तरफ पंजाब, हरियाणा को एसवाईएल के पानी की एक बूंद भी देने को तैयार नहीं है, वहीं रतिया में पंजाब का ऐसा काफी क्षेत्र है, जहां पर प्रदेश सरकार व विभिन्न विभागों को पंजाब क्षेत्र में सुविधाएं देनी पड़ रही हैं। इनका ज्यादातर फायदा पंजाब क्षेत्र के लोगों को होता है, जबकि खर्च हरियाणा के सिंचाई विभाग, बीएंडआर, मार्केट कमेटी व पुलिस को उठाना पड़ता है। यहां तक कि पंजाब सरकार, प्रशासन व अधिकारी अपने क्षेत्र की करीब 800 एकड़ को संभालते तक नहीं है। आपातकाल के दौरान सुविधाएं और बचाव भी हरियाणा सरकार व विभिन्न विभागों को करना पड़ता है। पंजाब के अधिकारी बड़े विवादित मामले में ही कभी कभार ही उक्त क्षेत्र में आते हैं।

देनी पड़ रही है सड़कों की सुविधाएं

गांव रोझांवाली से भुंदड़वास तक भाखड़ा नहर के साथ बीएंडआर विभाग ने करीब एक करोड़ रुपये की लागत से सड़क बनाई है। बीच में करीब तीन किलोमीटर पंजाब के रियोंद का क्षेत्र पड़ता है। दोनों ओर हरियाणा का क्षेत्र है, सड़क हरियाणा बीएंडआर को बनानी पड़ रही है। ऐसे ही गांव बाह्मणवाला से लठेरा तक बीएंडआर विभाग को सड़क निकालनी पड़ी, जबकि बीच में काफी हिस्सा पंजाब का है। वहां पर सिर्फ पंजाब का पेट्रोल पंप और शराब का ठेका है। टैक्स पंजाब सरकार लेती है और खर्च हरियाणा सरकार को करना पड़ता है। ऐसे ही गांव महमड़ा, बबनपुर, रोझांवाली, भुंदड़वास के पास मार्केट कमेटी व बीएंडआर विभाग को हरियाणा क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए सड़कें निकालनी पड़ी, लेकिन रोड पंजाब क्षेत्र के बीच से निकाले गए।

पंजाब सरकार, प्रशासन व अधिकारी अपने क्षेत्र का करीब 800 एकड़ एरिया संभालते तक नहीं, टैक्स पंजाब सरकार लेती है और खर्च हरियाणा सरकार उठाती है

बीएंडआर विभाग की तरफ से पंजाब क्षेत्र में बनावाई जा रही सड़क।

भाखड़ा किनारे हरियाणा पुलिस रखती है नजर

महमड़ा चौकी से लेकर भुंदड़वास पुल तक महमड़ा चौकी व रोझांवाली से लठेरा तक का क्षेत्र बाह्मणवाला पुलिस चौकी के अधीन है, लेकिन बीच में पंजाब के बीरेवाला, रियोंद कलां का क्षेत्र आता है। हालांकि यह क्षेत्र पंजाब में हैं, लेकिन तस्करी और अपराधियों पर नजर रखने के लिए भाखड़ा नहर के किनारे हरियाणा पुलिस को ही नजर रखनी पड़ती है। पंजाब पुलिस हत्या, बड़ा विवाद या सीमा विवाद जैसे मामलों में ही यहां पहुंचती है।

नहर को भी हरियाणा सिंचाई विभाग पाटता है

रोझांवाली, भुंदड़वास, महमड़ा, बबनपुर और लठेरा के पास से गुजरने वाली रतनगढ़ माइनर व बादलगढ़ माइनर का काफी हिस्से पंजाब से होकर गुजरते हैं। इन नहरों की साफ-सफाई व रखरखाव हरियाणा सिंचाई विभाग को ही करना पड़ता है। पंजाब क्षेत्र में नहर टूटने पर पाटने का काम हरियाणा सिंचाई विभाग को करना पड़ता है, समय-समय पर साफ-सफाई भी करवानी पड़ती है। जबकि जिम्मेवारी पंजाब सिंचाई विभाग की है। वहां के अधिकारी कभी संभालने नहीं आते, क्योंकि नहर टूटने पर हरियाणा क्षेत्र के लोगों को ही नुकसान झेलना पड़ता है।

ये बोले-अधिकारी