--Advertisement--

दो सगे भाइयों ने बनाया 8 फीट लंबा हवाई जहाज, वेस्ट मेटेरियल से किया तैयार

9 महीने पहले वेस्ट मेटेरियल से हवाई जहाज का मॉडल बनाकर उड़ाया।

Dainik Bhaskar

Mar 15, 2018, 07:51 AM IST
केन्द्रीय विद्यालय के दो स्टूडेंट ने 8 फीट का हवाई जहाज बनाया। केन्द्रीय विद्यालय के दो स्टूडेंट ने 8 फीट का हवाई जहाज बनाया।

रेवाड़ी (हरियाणा). केंद्रीय विद्यालय कोनसीवास में पढ़ाई कर रहे दो सगे भाईयों ने 9 महीने पहले वेस्ट मेटेरियल से हवाई जहाज का मॉडल बनाकर उड़ाया। उनके इस मॉडल को बैंगलोर में नेशनल साइंस एग्जीबिशन में देशभर में तीसरा स्थान मिला था। मूलरूप से राजस्थान के छोटे से गांव कांकर की ढाणी के रहने वाले दोनों भाई फिलहाल शाहजहांपुर में माता-पिता के साथ रह रहे हैं। वेस्ट मटेरियल से बनाया हवाई जहाज...

- दोनों भाइयों ने घर पर ही प्रयोगशाला बनाकर वेस्ट मेटेरियल से यह हवाई जहाज बनाया था। इस कार्य में स्कूल की प्राचार्या व अन्य शिक्षकों के साथ ही माता ललिता यादव और पिता नरेश कुमार ने भी सहयोग दिया था।

- दोनों भाइयों ने वेस्ट मेटेरियल से एक-एक पुर्जा जोड़कर उसे एयरो प्लेन का रूप दिया था। दोनों ने इसे रोहतक स्टेट प्रदर्शनी में भी दिखाया था, लेकिन वहां उड़ तो गया, मगर उतारने में खामी आ गई थी। फिर भी प्रयास नहीं छोड़े थे।

- नई तकनीक के साथ दूसरा मॉडल बनाया और उसे मई 2017 में नेशनल प्रदर्शनी में रखा था। वहां न केवल हवाई जहाज उड़ाया गया, अपितु उसे वापस धरती पर उतारा भी था। उनके इस मॉडल को वहां तीसरा स्थान मिला था।

सपना… एयरोनॉटिकल विभाग में जाने का लक्ष्य

- योगेश व विवेक बताते हैं कि उनका सपना एयरोनॉटिकल विभाग में इंजीनियर बनना है। उनका कहना है कि अगर उनको मदद मिले तो वे प्लेन के छोटे-छोटे मॉडल बनाकर स्कूल में रखवाएंगे, ताकि बच्चे इस दिशा में आगे आएं।

स्टूडेंट का बनाया हवाई जहाज उड़ता भी है। स्टूडेंट का बनाया हवाई जहाज उड़ता भी है।
योगेश और विवेक बताते हैं कि उनका सपना एयरोनॉटिकल विभाग में इंजीनियर बनना है। योगेश और विवेक बताते हैं कि उनका सपना एयरोनॉटिकल विभाग में इंजीनियर बनना है।
X
केन्द्रीय विद्यालय के दो स्टूडेंट ने 8 फीट का हवाई जहाज बनाया।केन्द्रीय विद्यालय के दो स्टूडेंट ने 8 फीट का हवाई जहाज बनाया।
स्टूडेंट का बनाया हवाई जहाज उड़ता भी है।स्टूडेंट का बनाया हवाई जहाज उड़ता भी है।
योगेश और विवेक बताते हैं कि उनका सपना एयरोनॉटिकल विभाग में इंजीनियर बनना है।योगेश और विवेक बताते हैं कि उनका सपना एयरोनॉटिकल विभाग में इंजीनियर बनना है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..