--Advertisement--

​फरीदाबाद में बीजेपी की मंथन बैठक शुरू, अमित शाह के दिए 19 सूत्रीय एजेंडे पर होगा फोकस

भाजपा कोर कमेटी व पार्टी के जिला अध्यक्ष हैं बैठक में शामिल।

Danik Bhaskar | Jul 07, 2018, 04:11 PM IST

फरीदाबाद। मानसून सीजन में हरियाणा के नेताओं को बड़ा होम वर्क मिला है। यह वर्क राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हरियाणा भाजपा को दिया है। भाजपा नेताओं को 19 सूत्रीय एजेंडा देकर मिशन-2019 पूरा करने के आदेश जारी हुए हैं। फरीदाबाद में भाजपा की दो दिवसीय बैठक शुरू हो गई है। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश प्रभारी डॉ.अनिल जैन कर रहे हैं। आज भाजपा कोर कमेटी व पार्टी के जिला अध्यक्षों की बैठक का आयोजन किया जाएगा। जबकि आठ जुलाई को भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक होगी। इसमें भाजपा के सभी एमपी व एमएलए शिरकत करेंगे।

- फरीदाबाद की बैठक के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हरियाणा भाजपा की एक और बैठक लेंगे। पिछले दिनों कुछ कमियों व कुछ सुधार को लेकर अमित शाह ने हरियाणा भाजपा नेताओं को आदेश जारी किए थे।
- बूथ लेवल तक पार्टी को मजबूत करने के अलावा सोशल मीडिया के जरिए जनता तक और पहुंच बढ़ाने को कहा गया था। इस पर पार्टी के पदाधिकारी व नेता जी जान से जुटे हैं ओर दो दिन की बैठक में पूरी रिपोर्ट रखी जाएगी।
- सीएम पिछले दो दिनों से करीब आधे हरियाणा के दौरे पर हैं। वे कार्यकर्ताओं के साथ बंद कमरे में बातचीत कर रहे हैं। सबसे खास बात यह है कि सीएम खुद हर महत्वपूर्ण बात को अपनी डायरी में नोट कर रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि कार्यकर्ताओं की राय भी वे बैठक में रखेंगे।

ये होगा दो दिन की बैठक में
- फरीदाबाद में होने वाली पार्टी की बैठक में प्रमुख रुप से चुनावों की मैनेजमेंट पर चर्चा होगी। पार्टी की ओर से चलाए गए सदस्यता अभियान के सत्यापन को लेकर भी एक सत्र होगा। इसमें पार्टी से जुड़े नए सदस्यों की संपूर्ण जानकारी देखी जाएगी।
- बूथ समितियों के अध्यक्षों का डाटा और मंडल व मोर्चों के गठन की रिपोर्ट पेश होगी। वहीं केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों पर भी ब्यौरा रिपोर्ट पेश की जाएगी। बैठक में अनिल जैन के क्लस्टर प्रवास का खाका भी तैयार किया जाएगा।
- प्रदेश में मीडिया टीम बनेगी, आईटी व लीगल सैल को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। इस टीम को जल्द ही हरियाणा की सभी विधानसभा व लोकसभा सीटों के लिए भेजा जाएगा।
- संसदीय क्षेत्र अनुसार संगठन में न केवल नए पदाधिकारी बनाए जाएंगे बल्कि संसदीय क्षेत्र प्रभारी भी नियुक्त होंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष की सहमति के बाद पार्टी इन नियुक्तियों की सूची जारी कर सकती है।