• Hindi News
  • Haryana
  • Rewari
  • Rewari - examination center is 300 km removed not far from the feet in trains passengers also with reservation due to the rush missed the train
--Advertisement--

परीक्षा सेंटर 300 किमी. दूर, ट्रेनों में पांव रखने तक की जगह नहीं, भीड़ के चलते रिजर्वेशन वाले यात्रियों की भी ट्रेन छूटी

राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जा रही ग्रुप डी की परीक्षा के सेंटर दूर-दराज देना अभ्यर्थियों के साथ ही आम लोगों के...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 03:41 AM IST
Rewari - examination center is 300 km removed not far from the feet in trains passengers also with reservation due to the rush missed the train
राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जा रही ग्रुप डी की परीक्षा के सेंटर दूर-दराज देना अभ्यर्थियों के साथ ही आम लोगों के लिए परेशानी बन गया। ये सेंटर 200 से 300 किलोमीटर तक दूर दिए हुए हैं। ऐसे में परीक्षा में पहुंचने के लिए अभ्यर्थियों को एक रात पहले ही घर से निकलना पड़ रहा है। रात के समय बस की सुविधा नहीं है। इसलिए ट्रेन ही विकल्प बचा, मगर ट्रेनों के हालात ये रहे कि उनकी खिड़की तक में पैर रखने की जगह नहीं बची। दरअसल शनिवार के बाद रविवार को भी यह परीक्षा आयोजित की गई।

सेंटर भी अंबाला, करनाल और यमुनानगर जैसे शहरों में दिए गए हैं। रेवाड़ी से इन शहरों की दूरी 210 से 300 किलोमीटर तक है। जबकि महेंद्रगढ़ जिला के अभ्यर्थियों के सेंटर भी वहां थे। वहां से यह दूरी 55 किलोमीटर और बढ़ जाती है। भीड़ भाड़ के चलते बहुत से अभ्यर्थी तो ट्रेन में चढ़ ही नहीं पाए। ज्यादातर सेंटर के लिए रात 8.15 बजे जाने वाली पूजा एक्सप्रेस और रात 8.30 बजे चलने वाली जयपुर-चंडीगढ़ इंटरसिटी ही सही समय पर थी। मगर इन ट्रेनों में खचाखच भीड़ भरी हुई थी। पहले से रिजर्वेशन कराने वाले लोग तक ट्रेन में नहीं चढ़ पाए। रेलवे द्वारा अतिरिक्त कोच नहीं लगाना और अतिरिक्त ट्रेन नहीं चलाया जाना भी लोगों को खूब अखरा।



भविष्य के लिए जान-जोखिम वाला सफर : रेवाड़ी से सिविल सर्विसेज ग्रुप-डी की परीक्षा देने जाने के लिए रेलवे जंक्शन पर रात्रि 8:16 पर पूजा एक्सप्रेस में लटकते व ट्रैक पर खड़े युवक।

रिजर्वेशन कराया था, चढ़ ही नहीं पाए


कई दिन तैयारी की, परीक्षा ही छूट गई


जान जोखिम में... खिड़कियों तक से घुसे लोग

लोगों की भीड़ के चलते जान जोखिम में रही। लोग खिड़की से ट्रेन में चढ़ते नजर आए। चलती ट्रेन में चढ़ते समय कई लोग तो गिरे भी, गनीमत रही कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। स्टेशन पर भारी भीड़ रही। इस भीड़भाड़ में महिलाओं के साथ अभद्रता भी हुई। इस दौरान महिलाओं और युवतियों से लेकर बुजुर्गों के साथ भी धक्का मुक्की हुई। भारी भीड़ में पुलिस को शिकायत देने की ना तो परिस्थिति थी और ना ही लोगों के पास ट्रेन छोड़कर शिकायत लिखवाने का विकल्प।

पुलिस के लिए चुनौती रहा भीड़ को काबू करना

हजारों की संख्या में लोग स्टेशन पर मौजूद थे। जैसे ही ट्रेन पहुंचती अभ्यर्थी और अन्य यात्री ट्रेन में चढ़ने के लिए दौड़ पड़ते। यहां तक कि दो प्लेटफॉर्म के बीच में रेलवे लाइनों पर भी लोग खड़े रहे, ताकि दूसरी तरफ से ट्रेन में चढ़कर जल्दी सीट हासिल की जा सके। व्यवस्था बनाने के लिए राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) व रेलवे पुलिस फोर्स (आरपीएफ) के जवानों को खासी मशक्कत करनी पड़ी। शहर थाना से भी पुलिस के जवानों को व्यवस्था संभालने के लिए बुलाना पड़ा।

रेलवे जंक्शन पर रात्रि 8:30 पर जयपुर चंडीगढ़ एक्सप्रेस में चढ़ने की कोशिश करते युवक।

Rewari - examination center is 300 km removed not far from the feet in trains passengers also with reservation due to the rush missed the train
X
Rewari - examination center is 300 km removed not far from the feet in trains passengers also with reservation due to the rush missed the train
Rewari - examination center is 300 km removed not far from the feet in trains passengers also with reservation due to the rush missed the train
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..