• Hindi News
  • Haryana
  • Rewari
  • Rewari News haryana news grp has sought permission to write the letter to the drm to include rewari railway ss and ti in the investigation of suicide

रेवाड़ी रेलवे एसएस व टीआई को आत्महत्या की जांच में शामिल करने के लिए जीआरपी ने डीआरएम को पत्र लिख मांगी अनुमति

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:31 AM IST

Rewari News - रेवाड़ी रेलवे स्टेशन अधीक्षक(एसएस) व ट्रैफिक इंचार्ज(टीआई) पर छुट्टी नहीं देने व प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर...

Rewari News - haryana news grp has sought permission to write the letter to the drm to include rewari railway ss and ti in the investigation of suicide
रेवाड़ी रेलवे स्टेशन अधीक्षक(एसएस) व ट्रैफिक इंचार्ज(टीआई) पर छुट्टी नहीं देने व प्रताड़ित करने का आरोप लगाकर मालगाड़ी गार्ड द्वारा आत्महत्या के मामले में जीआरपी ने जयपुर मंडल रेलवे के डीआरएम को पत्र लिखकर दोनों आरोपियों को जांच में शामिल करने की अनुमति मांगी है।

14/15 मई की रात को रेवाड़ी-फुलेरा रेलवे मार्ग पर पाली के पास रेलवे में बतौर गार्ड नियुक्त चीताडुंगरा निवासी ताराचंद का शव मिला था। पुलिस का कहना है कि ताराचंद की मौत ट्रेन के आगे कूदने से हुई है। ताराचंद के पास मिले सुसाइड नोट में भी इसका उल्लेख है। नोट में कहा गया था कि रेवाड़ी रेलवे के एसएस व टीआई छुट्टी नहीं देते व डयूटी पर होने के बावजूद गैर हाजिरी लगा देते हैं। ताराचंद का कहना था कि बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद उसे प्रताड़ित किया जा रहा था। इससे तंग आकर ही आत्महत्या कर रहा हूं। जीआरपी ने सुसाइड नोट के आधार पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। अब शुक्रवार को आरोपियों को जांच में शामिल करने को डीआरएम को पत्र लिख अनुमति मांगी है।

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एंप्लाइज यूनियन जयपुर मंडल की रेवाड़ी शाखा की ओर से लगातार दूसरे दिन ताराचंद की मौत के विरोध में प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया। एनडब्ल्यूआरईयू रेवाड़ी शाखा के चेयरमैन वीरेंद्र यादव के नेतृत्व में शुक्रवार को कर्मियों ने वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी के नाम रेलवे के चिकित्सा अधीक्षक को ज्ञापन दिया गया है। गुरुवार को भी कर्मचारियों ने मौन रख जिम्मेदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। शुक्रवार को सौंपे गए ज्ञापन में यूनियन के सचिव देवेंद्र यादव ने कहा कि रेवाड़ी जंक्शन पर कैडर के अनुसार स्टाफ की कमी है। इसके चलते कर्मचारियों को शोषण का शिकार होना पड़ रहा है। ताराचंद की मौत इसका उदाहरण है। यूनियन पदाधिकारियों ने कहा कि यदि समय रहते रिक्त पदों को नहीं भरा गया तो कर्मचारी आंदोलन के लिए मजबूर हो जाएंगे। इसी के साथ दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई।

रेवाड़ी में रेलवे गार्ड की मौत के बाद व्यवस्था को लेकर डीआरएम के नाम रेलवे अस्पताल एमएस को ज्ञापन देते रेलवे यूनियन कर्मचारी।

X
Rewari News - haryana news grp has sought permission to write the letter to the drm to include rewari railway ss and ti in the investigation of suicide
COMMENT