राहगीरी : खेलों के बीच फिर छा गया हरियाणवीं नृत्य

Rewari News - रेवाड़ी | रेजांगला पार्क के पास लोहड़ी पर्व पर आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में हरियाणवी डांस करती छात्राएं। खेल हो या...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:41 AM IST
Rewari News - haryana news pargari hariyanvi dance again between games
रेवाड़ी | रेजांगला पार्क के पास लोहड़ी पर्व पर आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में हरियाणवी डांस करती छात्राएं। खेल हो या सांस्कृतिक कार्यक्रम सभी में युवाओं ने जमकर अपनी प्रतिभा का खुशनुमा माहौल में प्रदर्शन किया। अफसरों ने भी अपनी प्रशासनिक व्यस्तताओं को परे रख राहगीरी में उनका साथ दिया।(संबंधित खबर पेज-6)

जीआरपी की सीआईए विंग सालभर बाद खत्म, क्राइम रोकने में नहीं रही कारगर

रेवाड़ी सीआईए की साथ में गुड़गांव, फरीदाबाद व पलवल के रूटों पर भी थी ड्यूटी

भास्कर न्यूज | रेवाड़ी

रेवाड़ी और हिसार राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) में सालभर पहले सीआईए विंग बनाई गई थी। अब इसमें रेवाड़ी सीआईए विंग को खत्म कर दिया गया है।

यह व्यवस्था सालभर ही चल पाई। इससे पहले भी सीआईए विंग गठित कर खत्म की जा चुकी थी। बताया जा रहा है कि अपराध रोकने के जिस मकसद से सीआईए विंग का गठन किया गया था, यह स्टाफ उसमें कारगर नहीं रहा। हालांकि अधिकारियों द्वारा जीआरपी में स्टाफ की कमी का भी हवाला दिया जा रहा है। रेवाड़ी और हिसार से पहले केवल अंबाला में ही सीआईए स्टाफ था, जहां जीआरपी का मुख्यालय भी है। अधिकारियों के अनुसार हिसार विंग अभी कार्यरत है।

जीआरपी के तत्कालीन एसपी ने आपराधिक घटनाओं की समीक्षा के बाद इन दो नई सीआईए विंग बनाने की रूपरेखा तैयार की थी। एक एसआई इंचार्ज समेत छह-छह सदस्यों का स्टाफ दिया गया। इन पुलिसकर्मियों की ड्यूटी सिर्फ तय रूटों पर स्पेशल चेकिंग व गश्त के लिए लगाई गई। इनके काम की भी निगरानी भी लगातार की गई तथा रिपोर्ट मुख्यालय मांग गई। बताया जा रहा है कि इस दौरान टीम द्वारा कोई बड़ा खुलासा सामने नहीं आया। डीएसपी फरीदाबाद महेंद्र सिंह के अनुसार अब रेवाड़ी सीआईए विंग खत्म कर दी गई है। इसकी वजह तो उच्च अधिकारी ही बता सकते हैं।

गिरोह पर शिकंजा कसना था, कोई बड़ा खुलासा नहीं

ट्रेनों में क्राइम का ग्राफ पिछले कुछ समय में बढ़ा है। विशेषकर मोबाइल व पर्स स्नेचिंग, बैग से पैसे चोरी करने का गिरोह पूरी तरह सक्रिय रहा है। रेवाड़ी जीआरपी के पास भी लगातार शिकायतें आई। लाख दावों के बावजूद भी आपराधिक वारदातें रुक नहीं रही थीं। इसी कारण जीआरपी की दो नई सीआईए विंग बनाई गई। वर्ष 2017 के अंत में इनका गठन किया गया। दिल्ली के आसपास एनसीआर क्षेत्र के चार जिलों रेवाड़ी, गुड़गांव, फरीदाबाद व पलवल की जिम्मेदारी रेवाड़ी सीआईए को दी गई। जबकि हिसार, जींद, सिरसा व रोहतक बेल्ट में विभिन्न रूटों पर चलने वाली ट्रेनों में अपराधियों पर हिसार सीआईए नजर रखनी थी।

X
Rewari News - haryana news pargari hariyanvi dance again between games
COMMENT