Hindi News »Haryana »Rohtak» 62 Marital Muhurt New Year

नए साल में 62 वैवाहिक मुहूर्त, अगस्त से नवंबर तक एक भी नहीं

वर्ष 2018 में वैवाहिक आयोजनों के मात्र 62 शुभ मुहूर्त का योग बन रहा है। 7

Bhaskar news | Last Modified - Dec 14, 2017, 07:35 AM IST

नए साल में 62 वैवाहिक मुहूर्त, अगस्त से नवंबर तक एक भी नहीं

रोहतक.वर्ष 2018 में वैवाहिक आयोजनों के मात्र 62 शुभ मुहूर्त का योग बन रहा है। 7 फरवरी से शुरू होकर 16 जुलाई तक विवाह के लिए मुहूर्त का सिलसिला चलता रहेगा। हालांकि वर्ष के पहले महीने जनवरी में एक भी मुहूर्त नहीं है। इसी क्रम में अगस्त से नवंबर तक भी मुहूर्त नहीं होने से शहनाई की आवाज कम ही गूंजेंगी। 8 दिसंबर से मांगलिक मुहूर्त प्रारंभ होंगे। सर्वाधिक विवाह समारोह 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया पर होंगे, जबकि 21 जुलाई को भड़ली नवमी पर मुहूर्त नहीं रहेगा, लेकिन इस दिन का शास्त्रीय महत्व होने से विवाह समारोह किए जा सकेंगे।

13 जनवरी तक खरमास विवाह का मुहूर्त नहीं
ज्योतिषाचार्य पं. देव प्रसाद विष्णु के मुताबिक बीते रविवार को वर्ष 2017 में विवाह का आखिरी मुहूर्त था। फिलहाल विवाह का कारक ग्रह, शुक्र सोमवार को पूर्व दिशा में अस्त हो चुका है। 16 दिसंबर 2017 से खरमास प्रारंभ होगा। यह 13 जनवरी 2018 तक रहेगा। इस अवधि में विवाह नहीं होंगे। वर्ष 2018 में शुक्र ग्रह 6 फरवरी की शाम को उदित होने से अगले दिन 7 फरवरी से मंगल मुहूर्त शुरू होंगे।

मौसम पर भी असर डालते हैं ग्रह और राशियां
भारतीय ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों का उदय-अस्त, मार्गी, वक्री एवं राशि परिवर्तन आदि का मौसम पर भी कूल-प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इसी क्रम में मित्र ग्रहों (बुध-शुक्र) का उदय-अस्त, वक्री, मार्गी एवं राशि परिवर्तन मौसम को प्रभावित करता है।

इन दिनों में शुभ मुहूर्त

-फरवरी : 7 से 13,18 से 20 (10 दिन)
-मार्च : 1 से 8, 10, 12, 13 (11 दिन)
-अप्रैल : 18 से 20, 24 से 30 (10 दिन)
-मई : 1 से 6, 11 से 13 (9 दिन)
-जून : 14,18, 20, 21, 23, 26, 27 से 30 (10 दिन)
-जुलाई : 4 से 6, 9 से 11, 15, 16 (8 दिन)
-दिसंबर : 8, 10, 11 15 ( 4 दिन)

19 नवंबर को रहेगी देवउठनी ग्यारस
23 फरवरी से एक मार्च तक होलाष्टक के चलते विवाह नहीं किए जाएंगे। होली के दिन शाम से मुहूर्त प्रारंभ होंगे, जो 16 जुलाई तक रहेंगे। अगस्त से नवंबर तक कई बार गुरु व शुक्र ग्रह के अस्त रहने, सूर्य के कर्क, तुला, वृश्चिक आदि राशियों में विचरण करने पर भी विवाह नहीं होंगे। देवउठनी ग्यारस 19 नवंबर को रहेगी। इस दिन विवाह मुहूर्त नहीं रहेगा, पर इस दिन कुछ लोग अबूझ साया होने पर वैवाहिक आयोजन करते हैं। दिसंबर में मात्र 4 दिन मुहूर्त रहेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×