Hindi News »Haryana »Rohtak» Home Board Grading System Close

10वीं में होम बोर्ड ग्रेडिंग सिस्टम बंद, प्रैक्टिकल पर संशय

10वीं कक्षा तक के स्कूलों में तीन माह पूर्व ही हाेम बोर्ड खत्म करने के बाद अब ग्रेडिंग व्यवस्था भी खत्म कर चुका है।

Bhaskar news | Last Modified - Dec 18, 2017, 07:32 AM IST

10वीं में होम बोर्ड ग्रेडिंग सिस्टम बंद, प्रैक्टिकल पर संशय

रोहतक। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) मान्यता प्राप्त 10वीं कक्षा तक के स्कूलों में तीन माह पूर्व ही हाेम बोर्ड खत्म करने के बाद अब ग्रेडिंग व्यवस्था भी खत्म कर चुका है। बोर्ड से संबद्ध स्कूलों में पहले की तरह 20-20 नंबरों के सेशनल मार्क्स यानी सत्रांक एवं 80-80 नंबरों के बोर्ड परीक्षा के पेपर होंगे।


बोर्ड परीक्षाओं का समय नजदीक आता जा रहा है, लेकिन अभी तक बोर्ड से प्रैक्टिकल कराने के लिए स्पष्ट गाइडलाइन आने से स्कूल संचालक संशय में पड़ गए हैं। प्रिंसिपल ने प्रैक्टिकल कराने के लिए बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। प्रबंधन ने संकेत दिए हैं कि संभवत: 12-12 नंबर के होने वाले प्रैक्टिकल 80-80 नंबरों में से ही होंगे।

अंकों के विषयों में नहीं चल पाता था पता
2011से सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में मेरिट सिस्टम को खत्म कर ग्रेडिंग सिस्टम लागू किया था। ग्रेडिंग सिस्टम में रिजल्ट जारी होने के बाद ए, बी सी ग्रेड पाने वाले विद्यार्थी को कितने अंक मिले, यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा था। बोर्ड परीक्षा भी स्कूल प्रबंधन अपने स्कूलों में करवाते थे। इस सिस्टम की पारदर्शिता पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए। इसे गंभीरता से लेते हुए केंद्र सरकार ने करीब तीन माह पहले तो सीबीएसई स्कूलों में होम बोर्ड की प्रक्रिया बंद की यानी इस सत्र में किसी भी सीबीएसई स्कूल में उसके बच्चों का 10वीं का परीक्षा सेंटर नहीं होगा। अब सीधे बोर्ड की ओर से करवाई जाने वाली परीक्षा ही देनी होगी। यह निर्णय लेने साथ-साथ सीबीएसई ने सभी स्कूलों के प्रबंधन को आदेश भी जारी कर दिए थे। फिर हाल ही में सीबीएसई ने ग्रेडिंग सिस्टम भी इस सत्र से बंद कर करने के आदेश जारी कर दिए हैं।


10वीं की परीक्षा के पैटर्न में भी बदलाव हुआ है। अब वार्षिक परीक्षा में 100 फीसदी सेलेबस में से प्रश्न पूछे जाएंगे। पहले अर्द्धवार्षिक परीक्षा में जितने पाठ्यक्रम में से प्रश्न आते थे, वह वार्षिक परीक्षा में नहीं पूछे जाते थे।


-विषयवार जाएंगे सत्रांक : अबनए सिस्टम के अनुसार सभी स्कूलों से 10वीं के विषयवार सत्रांक के 20-20 अंक बोर्ड को भेजे जाएंगे। एसआरएस सीनियर सेकेंडरी स्कूल के एकेडमिक डायरेक्टर राहुल शर्मा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की तर्ज पर सीबीएसई बोर्ड द्वारा 10वीं में अंक प्रदान किए जाएंगे। इसके आधार पर बच्चे को अपना परिणाम प्रतिशत में मिल सकेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×