--Advertisement--

बैंक के लॉकरों में थे लोगों रु. और सोने, 3 दिन से लुटेरे कर रहे थे ऐसी कोशिश

बताया जा रहा है बैंक के 70 लॉकरों में जमा हैं शहर के लोगों का सोना और रुपया रखा हुआ है।

Dainik Bhaskar

Dec 27, 2017, 12:11 AM IST
बदमाशों ने यूको बैंक की दीवार तोड़ दी लेकिन स्ट्रांग रूम में नहीं पहुंचपाए। बदमाशों ने यूको बैंक की दीवार तोड़ दी लेकिन स्ट्रांग रूम में नहीं पहुंचपाए।

बहादुरगढ़. साखौंल के पास देर रात बदमाशों ने यूको बैंक के स्ट्रांग रूम की दीवार तोड़ने का प्रयास किया, लेकिन वे सफल नहीं हो सके। बदमाश स्ट्रांग रूम की दीवार तोड़ने के लिए तीन दिन से प्रयास कर रहे थे। सोमवार रात पड़ोसियों ने बैंक के अंदर ठकठक की आवाज सुनी तो उन्हें शक हो गया। बैंक के अंदर कोई कुछ तोड़ने का प्रयास कर रहा है। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। तब तक बदमाश मौके से फरार हो गए। लोगों की सूचना पर पहुंचे बैंक ने मैनेजर ने बताया कि बैंक में रखे करोड़ो रुपए सुरक्षित हैं।

इस तरह किया डकैती की कोशिश

- बैंक मैनेजर भानु प्रताप ने बताया कि वह 22 दिसंबर की शाम बैंक बंद करके गए थे। 23 से 25 तक बैंक बंद रहे। इस कारण बैंक की दीवार तोड़कर बदमाश अंदर पहुंच गए।

- पहले उन्होंने सीढ़ियों की तरफ से दीवार तोड़ी। उन्होंने ट्वॉयलेट की तरफ से स्ट्रांग रूप में इंटर करने की कोशिश की ।

- इसके लिए उन्होंने नौ इंच की दीवार को तोड़ दिया। दीवार के आगे सीसी की दीवार आने से वे उसे नहीं तोड़ पाए। इसके बाद उन्होंने स्ट्रांग रूप के कोने से दीवार को तोड़ना शुरू किया। वहां भी सफल नहीं हो पाए। फिर स्ट्रांग रूम के साथ दीवार को तोड़ना शुरू कर दिया। इस दीवार में लगे सरिए के जाल को तोड़ने में वे कई सरिए तोड़ने में सफल हो गए। माना जा रहा है यह काम दो दिन में हो गया था।

- तीसरे दिन रात को जब इन सरिए को तोड़ने का प्रयास शुरू हुआ तो पड़ोसी सतीश राठी के परिजनों को दीवार तोड़ने की आवाज सुनाई दी। इसकी सूचना पुलिस को दे दी गई।

3 दिन से दीवार तोड़ने की सुन रहे थे आवाज
- पड़ोस में रहने वाले सतीश राठी और अन्य लोगों ने बताया कि तीन दिन से बैंक की तरफ से ठकठक और कंस्ट्रक्शन चलने की आवाज आ रही थी। तब परिवार के लोग समझे के पड़ोस में बन रही बहुमंजिला इमारत तैयार की जा रही है, जिसमें दिन-रात काम चल रहा है। जब रात को तेज आवाज आने लगी तो शक हो गया।

- इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची तो बैंक अंदर से बंद था। पुलिस ने बैंक के पास कई वर्ष बंद एक होटल के अंदर से जाकर देखा तो वहां दीवार का हिस्सा टूटा मिला। यह देख पुलिस को मामला समझ में आ गया।

रात में भौंकता था कुत्ता पर समझ नहीं सके
- बैंक के पास रहने वाले जितेंद्र राठी ने बताया कि घर में कुत्ता रातभर भौंकता रहता था। बाहर आकर देखा तो सड़क पर एक कैंटर का टायर बदला जा रहा था।

- हमने समझा कि कैंटर में सवार लोगों को देखकर कुत्ता भौंक रहा है। वह समझ ही नहीं पाए कि पास के भवन में बदमाश बैंक के लॉकरों को लूटने का प्रयास कर रहे हैं।

दो साल पहले पीएनबी में भी हो चुकी सेंधमारी
- यूको बैंक के मैनेजर भानु प्रताप ने बताया कि बैंक में सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं हैं। इसका लाभ बदमाशों ने उठाया है।

- दो साल पहले पंजाब नेशनल बैंक की दीवार में भी सेंधमारी की गई थी। इस तरह से स्टेट बैंक और मेन मार्केट के ग्रामीण बैंक में भी सेंधमारी का प्रयास हो चुका है। तब भी पुलिस अधिकारियों ने बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक कर बैंकों में रात के समय चौकीदार रखने के लिए कहा था। - तब बैंक मैनेजरों ने साफ शब्दों में कह दिया था कि बैंक के आला अधिकारियों ने इस बारे में कोई अनुमति नहीं दे रखी है।

- पुलिस के अनुसार बैंक मैनेजर भानु प्रताप की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है। मंगलवार सुबह घटना की जानकारी होने पर लोग बैंक पहुंच गए। जिन लोगों के बैंक में लॉकर थे वे भी बैंक पहुंच गए, जिन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

- बैंक अधिकारियों ने सभी को समझा बुझाकर शांत किया। बताया कि बदमाश स्ट्रांग रूम नहीं तोड़ पाए हैं। सभी का सामान सुरक्षित है।

- बदमाशों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे पहले सीसीटीवी कैमरे की तारों को काट दिया था। इंटरनेट के तारों के साथ बिजली की तारों को भी तोड़ दिया।

दीवार के आगे सीसी की दीवार आने से वे उसे नहीं तोड़ पाए। दीवार के आगे सीसी की दीवार आने से वे उसे नहीं तोड़ पाए।
दीवार में लगे सरिए के जाल को तोड़ने में वे कई सरिए तोड़ने में सफल हो गए। दीवार में लगे सरिए के जाल को तोड़ने में वे कई सरिए तोड़ने में सफल हो गए।
बैंक के पास कई वर्ष बंद एक होटल के अंदर से जाकर देखा तो वहां दीवार का हिस्सा टूटा मिला। बैंक के पास कई वर्ष बंद एक होटल के अंदर से जाकर देखा तो वहां दीवार का हिस्सा टूटा मिला।
बैंक में सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं हैं। बैंक में सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं हैं।
बदमाशों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे पहले सीसीटीवी कैमरे की तारों को काट दिया था। इंटरनेट के तारों के साथ बिजली की तारों को भी तोड़ दिया। बदमाशों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे पहले सीसीटीवी कैमरे की तारों को काट दिया था। इंटरनेट के तारों के साथ बिजली की तारों को भी तोड़ दिया।
पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया लेकिन उनको पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई। पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया लेकिन उनको पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई।
X
बदमाशों ने यूको बैंक की दीवार तोड़ दी लेकिन स्ट्रांग रूम में नहीं पहुंचपाए।बदमाशों ने यूको बैंक की दीवार तोड़ दी लेकिन स्ट्रांग रूम में नहीं पहुंचपाए।
दीवार के आगे सीसी की दीवार आने से वे उसे नहीं तोड़ पाए।दीवार के आगे सीसी की दीवार आने से वे उसे नहीं तोड़ पाए।
दीवार में लगे सरिए के जाल को तोड़ने में वे कई सरिए तोड़ने में सफल हो गए।दीवार में लगे सरिए के जाल को तोड़ने में वे कई सरिए तोड़ने में सफल हो गए।
बैंक के पास कई वर्ष बंद एक होटल के अंदर से जाकर देखा तो वहां दीवार का हिस्सा टूटा मिला।बैंक के पास कई वर्ष बंद एक होटल के अंदर से जाकर देखा तो वहां दीवार का हिस्सा टूटा मिला।
बैंक में सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं हैं।बैंक में सुरक्षा के लिए कोई चौकीदार नहीं हैं।
बदमाशों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे पहले सीसीटीवी कैमरे की तारों को काट दिया था। इंटरनेट के तारों के साथ बिजली की तारों को भी तोड़ दिया।बदमाशों ने अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे पहले सीसीटीवी कैमरे की तारों को काट दिया था। इंटरनेट के तारों के साथ बिजली की तारों को भी तोड़ दिया।
पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया लेकिन उनको पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई।पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया लेकिन उनको पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाई।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..