--Advertisement--

मोंटी मर्डर में पिता की नहीं, बहन की भूमिका पर अटक रही जांच

समरगोपालपुर में नाबालिग भाई की हत्या मामले में बहन चंचल की अहम भूमिका मानी जा रही है।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 06:06 AM IST

रोहतक. समरगोपालपुर में नाबालिग भाई की हत्या मामले में बहन चंचल की अहम भूमिका मानी जा रही है। इस मामले में 24 घंटे तक पुलिस को बयान बदल-बदलकर घुमाने वाली बहन चंचल रविवार को भी दिनभर बयान बदलती रही। इस मामले में उसके साथ गांव के ही एक युवक को भी पकड़ा गया है। पुलिस हिरासत में लेकर दोनों से पूछताछ कर रही है। लेकिन लगातार चंचल कभी किसी लड़के का तो कभी किसी अन्य का नाम लेकर पुलिस को गुमराह कर रही है।

ऐसे में पुलिस को मामले का खुलासा करने में सोचना पड़ रहा है। हालांकि इस हत्याकांड में पुलिस बहन के शुरुआती बयानों पर पिता तेजपाल पर हत्या का मामला दर्ज कर चुकी है, लेकिन अब शक की सूई बहन पर आ टिकी है। चूंकि बताया जाता है कि करीब 13 साल से पिता मकान के बैठक वाले कमरे में ही रहा करता था और पत्नी से विवाद होने के चलते मकान के अंदर भी नहीं जाता था। पुलिस का भी मानना है कि इस हत्या में बहन की अहम भूमिका है।

हथौड़ी और चाकू से की गई हत्या
बताया जाता है कि इस मामले में पुलिस ने शनिवार देर रात को मोंटी के घर पर दोबारा से दबिश दी है। पुलिस ने घर से हथौड़ा व चाकू बरामद किया है।


बेटे का संस्कार करवा पिता पहुंचा थाने
मोंटी हत्याकांड को लेकर रविवार की सुबह करीब 11 बजे समर गोपालपुर के ग्रामीण सदर थाना पहुंचे। उन्होंने पुलिस को इस हत्याकांड में मोंटी के पिता का कोई हाथ न होने की बात कही। इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को आश्वासन दिया कि वे अपने मोंटी के दाह संस्कार के बाद फिर से पुलिस के हवाले कर देंगे। संस्कार के बाद शाम करीब पांच बजे ग्रामीण तेजपाल को थाना सदर पुलिस के हवाले कर गए।


मां बोली- करूंगी बेटे का मायके में ही संस्कार लेकिन ग्रामीण नहीं माने
बताया जाता है कि मोंटी के संस्कार को लेकर उसकी मां ने ग्रामीणों से अपने मायके बेटे का शव लेकर जाने की बात कही। लेकिन ग्रामीण नहीं माने । इसके बाद मोंटी का गांव में संस्कार किया गया।