Hindi News »Haryana »Rohtak» Nine Month Baby Died In Violence

मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था

हरियाणा के करतारपुरा में हुए खूनी संघर्ष में मामा के घर आए मासूम जतिन की जान चली गई।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 06, 2018, 08:47 AM IST

  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    बुधवार को हुई फायरिंग में 9 महीने के जतिन की मौत हो गई थी।

    रोहतक.हरियाणा के करतारपुरा में हुए खूनी संघर्ष में मामा के घर आए मासूम जतिन की जान चली गई। बेटे की मौत के बाद बच्चे की मां रोती बिलखती सिर्फ एक बात कह रही थी कि मेरे लाल का क्या कसूर था। जिसकी इन दरिंदों ने जान ले ली। अब वह अपनी ससुराल में क्या मुंह लेकर जाएगी। अपने ससुरालियों को कैसे विश्वास दिला पाएगी की। उसी की गोद से छीनकर उसके बेटे को मौत की गोद सूला दिया है।

    बच्चे की मौत के बाद छाया मातम

    - एक साल पहले ही ज्योति अपनी ससुराल हिसार के कनौह गांव से आकर इंदिरा काॅलोनी में रहने लगी थी।

    - ज्योति का पति राजबीर शहर में ऑटो चलाकर अपने परिवार का पालन- पोषण कर रहा है। बच्चे की मौत के बाद करतारपुरा में मातम छाया हुआ था। हर किसी जुबान पर बस की बात थी कि इस छोटे से मासूम का क्या कसूर था।

    -बृहस्पतिवार की सुबह पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के हवाले कर दिया है। इसके बाद घरवाले जतिन के शव को संस्कार के लिए उसके पैतृक गांव कनौह में ले गए।

    तीन डॉक्टरों के बोर्ड ने किया शव का पोस्टमार्टम, मौत के कारण स्पष्ट नहीं
    - 9 महीने के जतिन के शव का पोस्टमार्टम सिविल हॉस्पिटल के डॉक्टरों के बोर्ड ने किया। डॉक्टरों का कहना है कि मौत के कारण स्पष्ट नहीं हो पाए है।

    - इसके चलते विसरा समेत कई सैंपल रिपोर्ट के लिए मधुबन लैब भेज दिया है। इसके बाद ही जतिन की मौत के असली कारणों का पता चल पाएगा।


    पुलिस ने केस तो दर्ज कर लिया, मगर अब खुले घूम रहे हत्या आरोपी
    - मृतक जतिन के मामा का कहना है कि पुलिस ने उनकी शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस तो दर्ज कर लिया, मगर अब तक एक भी आरोपी को गिरफ्तार करने में सफल नहीं हो पाई है।

    सड़क पर इक्कठे हुए लोग तो लगाई फोर्स
    - बच्चे की मौत के बाद जहां करता पुरा में मातम छाया हुआ था। वहीं करीब सौ की संख्या में महिला व पुरुष अपने मकानों के दरवाजे खुले छोड़ करतारपुरा की मैन सड़क पर बैठ गए।

    - इससे पुलिस को फिर से माहौल खराब होने की शंका हुई तो भारी पुलिस बल तैनात कर दिया।

    किसी मकान पर ताला, तो कोई सूना, आरोपी फरार
    - जतिन की हत्या के मामले में पुलिस ने पीड़ित पक्ष के बयान पर 17 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

    - अब आरोपी पक्ष के सभी लोग अपने मकानों को सूने छोड़ फरार हो गए। किसी के घर पर ताला लटका हुआ है तो किसी का घर बिल्कुल सुना पड़ा है।

    एफएसएल टीम ने खाली खोल और सुबूत जुटाएं
    घटना के बाद बृहस्पतिवार की सुबह एफएसएल एक्सपर्ट डॉ.सरोज दहिया मलिक की टीम ने घटनास्थल का दौरा किया। इस दौरान टीम ने घटनास्थल से दो पिस्तौल के खाली खोल व अन्य सबूत इक्कठा किए है।

    दिनभर इलाके में बना रहा तनाव
    करतारपुरा में दिनभर तनाव पूर्व शांति रही। पीटीसी सुनारियां से 100 जवानों को बुलाया गया। करतारपुरा में चारों तरफ पुलिस का पहरा था।

  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    ज्योति अपनी ससुराल हिसार के कनौह गांव से आकर इंदिरा काॅलोनी में रहने लगी थी।
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    हिंसा के बाद पुलिस अब गली- गली में आरोपियोें की तलाश कर रही है।
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    खूनी फसाद के बच्चों के खेल से शुरू हुआ।
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    पुलिस की मौजूदगी में ही दोनों पक्षों में एक बार फिर से पथराव के दौरान गोलियां चली थी। इसमें सुनील को मुंह और पैर में गोली लगी।
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    सुनील गुट के परिवारवाले कृष्ण गुट के लोगो दवारा तोडी गई बाईक को दिखाते हुए।
  • मामा के घर आए मासूम की ऐसे हुई मौत, मां बोली- मेरे लाडले का क्या कसूर था
    +7और स्लाइड देखें
    छेड़छाड़ के आरोप के मामले में दो गुटो में आपसी टकराव के दौरान हंगामें को खदेहडती हुई पुलिस।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Rohtak News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Nine Month Baby Died In Violence
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×