Hindi News »Haryana News »Rohtak News» Officers Of 22 Districts Reached In Jhajjar For Review Of Development Works

7 घंटे कमरे से बाहर नहीं निकले अफसर, जब आए भी तो की सिरदर्द की शिकायत

Bhaskar News | Last Modified - Feb 02, 2018, 05:07 AM IST

विकास कार्यों की समीक्षा के लिए सभी जिलों के एडीसी और डीडीपीओ को चंडीगढ़ की बजाय झज्जर के गांव निमाणा में जुटे।
7 घंटे कमरे से बाहर नहीं निकले अफसर, जब आए भी तो की सिरदर्द की शिकायत

झज्जर .प्रदेश में पहली बार गांवों के विकास कार्यों की समीक्षा के लिए सभी जिलों के एडीसी और डीडीपीओ को चंडीगढ़ की बजाय झज्जर के गांव निमाणा में जुटे। यहां सभी जिलों के अधिकारियों ने बारी-बारी से पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से अपने गांवों के 34 विकास कार्यों को दिखाया।


योजनाओं की घोषणा के लगभग तीन वर्ष बाद भी उनके पूरा नहीं होने पर बैठक की अध्यक्षता कर रहे कृषि व पंचायत मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने सख्त तेवर दिखाए। उन्होंने तीन वर्ष से लटकी योजनाओं को दो माह में पूरा करने को कहा। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को योजनाएं बनाते समय गांव की अनुभूति रहे, इसीलिए यह बैठक गांव में आयोजित की गई। हालांकि अधिकारी लगभग साढ़े 7 घंटे तक हॉल में ही प्रजेंटेशन देखते रहे। गांव की खुली हवा में सांस लेेने की बजाय उन्होंने बाहर आकर सिरदर्द की शिकायत की।

बैठक में विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव अनुराग रस्तोगी, केंद्र में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्रालय के संयुक्त सचिव संजीब पटजोशी व राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के निदेशक रमेश कृष्ण के अलावा 22 जिलों के एडीसी, डीडीपीओ और पंचायती राज विभाग के कार्यकारी अभियंता मौजूद रहे।

6204 में से केवल 13 ही ग्राम गौरव पट्ट बने
मीटिंग में ग्राम गौरव पट्ट पर करीब एक घंटा लंबी चर्चा हुई। मंत्री ने कहा कि उन्हें अपने गांव के एक तो विकटोरिया क्राॅस और दो कारगिल के शहीदों के बारे में जानकारी थी, जबकि अन्य 16 शहीदों की जानकारी गौरव पट्ट से ही मिली। ये पट्ट युवाओं के लिए प्रेरणादायक रहेंगे। 6204 गांवों में से केवल 13 में ही ये पट्ट लगे हैं। 1845 में प्रक्रिया चल रही है, जबकि 1509 में फाउंडेशन का ही काम हुआ है। 4346 गांवों में अभी इन पर कोई काम शुरू नहीं हो पाया है। मंत्री ने 1845 गांवों में यह काम 23 मार्च तक पूरा कराकर इनके उद्घाटन के अतिथियों के नाम विभाग को भेजने के निर्देश दिए।

732 में से केवल 7 ही व्यायामशाला बनी
बैठक में पार्क सम व्यायामशाला की चर्चा शुरू हुई, तो विभाग के पास इस दिशा में पूरे हुए कार्यों की कोई भी एक फोटाे या वीडियो नहीं था। 732 गांवों में व्यायामशाला बननी हैं, लेकिन केवल 7 में ही पूरी बन सकी है। 30 मार्च से पहले पूरा किए जाने के निर्देश दिए।

658 में से 285 कम्युनिटी सेंटर बने
प्रदेश के 658 गांवों में कम्युनिटी सेंटर बनने हैं। इनमें से 285 ही बने हैं, जबकि 261 का कार्य प्रगति पर होने का दावा किया है। 112 में बिल्कुल भी काम शुरू नहीं हुआ। इस पर मंत्री ने 1 नवंबर को इनका उद्घाटन करने के निर्देश दिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Rohtak News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 7 Ghante kmre se baahar nahi nikle afsr, jb aaye bhi to ki sirdard ki shikayt
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Rohtak

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×